जमशेदपुर -संतोष ट्राफी मैच में झारखंड की हुई हार,बंगाल ने 1 गोल से पराजित

40

 

संवाददाता,जमशेदपुर,19जनवरी

संतोष ट्रॉफी के मैच में मेजबान झारखंड की टीम एक बार फिर औंधे मुंह चित हो गई. पहले मैच में बिहार से हारने के बाद सोमवार को हुए मैच में एक बार फिर से बंगाल से उसे मुंह की खानी पड़ी. इस मैच में बंगाल ने झारखंड को 2-1 से हरा दिया. ग्र्रुप ए में बंगाल 6 प्वाइंट के साथ पहले स्थान पर पहुंच गई है जबकि तीसरे स्थान पर झारखंड की टीम है, जिसका अब तक खाता भी नहीं खुल सका है.

 

32वें मिनट में बंगाल पहला गोल दाग बनायी बढ़त

मैच की शुरूआत से ही बंगाल ने आक्रामक रुख अख्तियार कर लिया था, क्योंकि दोनों ही टीम के लिए यह मैच करो या मरो वाली स्थिति का था. वहीं झारखंड के खिलाङीयों में आपसी तालमेल की कमी साफ झलक रही थी. खेल के15वें मिनट में बंगाल के सैकत साहा राय को रेफरी ने येलो कार्ड दिखाया. इसके बाद आगे बढ़े खेल के 32वें मिनट में बंगाल को पहली सफलता मिली. बंगाल के नीलकांता पारिया झारखंड के घनश्याम दास से फुटबाल छीनकर आगे बढ़े और बेहतरीन शॉट लगाकर गेंद को गोल प्वाइंट में भेज दिया.

 

सुसाईडल गोल से झारखंड को लगा झटका

इस गोल के बाद झारखंड की टीम बौखला गई, लेकिन बंगाल के आगे उनकी एक नहीं चली. इस बीच 33वें मिनट में रफ प्ले के लिए झारखंड के जोनाथन गिंथियानालाल व बंगाल के इमरान खान को रेफरी ने येलो कार्ड दिखाया. इसके बाद 37वें मिनट में रेफरी ने झारखंड के सौरभ दास को भी चेतावनी दी. हाफ टाइम तक बंगाल की टीम 1-0 से बढ़त बनाए हुए थी. इसके बाद के खेल में बंगाल की आक्रामकता से घबराई झारखंड की टीम गोल तो नहीं कर सकी, लेकिन इस हड़बड़ाहट में खेल के 69वें मिनट में कोंशाम सी सिंह ने सुसाइडल गोल कर झारखंड को दूसरा झटका दे दिया. कोंसाम ने शॉट बचाने के चक्कर में हेडर के सहारे फुटबाल झारखंड के गोलकीपर सनातन सरदार को देने का प्रयास किया, लेकिन गेंद स्पिन होकर गोल पोस्ट में चली गई और इसके साथ ही बंगाल को 2-0 से बढ़ मिल गई.

82 वें मिनट में मिली सफलता भी आयी विवादों में

इसके बाद खेल के 82वें मिनट में झारखंड को एक सफलता तो मिली, लेकिन वह भी विवादों में आ गई. बंगाल के खेमे में झारखंड के खिलाड़ी हेडर से गोल करने का प्रयास कर रहे थे, तभी हैंडबॉल हो गया. लेकिन इसके पहले ही बंगाल के खिलाड़ी कोहनी मारकर रोकने का प्रयास किया. बंगाल के खिलाड़ी द्वारा की गई हरकत को रेफरी पी वायरामुत्थु ने देख लिया, लेकिन दर्शकों के साथ ही किसी प्लेयर की भी इसपर नजर नहीं गई. इसके बाद बंगाल टीम के कोच से लेकर दर्शक हैंडबॉल को लेकर बवाल करने लगे. इसके बाद रेफरी 1 व रेफरी 2 भी हैंडबॉल की तरफ ही इशारा कर रहे थे, लेकिन मुख्य रेफरी अपने फैसले पर अडिग रहे. इसका नतीजा यह हुआ कि बॉक्स में बंगाल के खिलाड़ी द्वारा दिए गए फाउल के कारण उसे पेनाल्टी का सामना करना पड़ा. खेल के 82वें मिनट में झारखंड के इबन कुपर दोहलिंग ने पेनाल्टी से गोल कर झारखंड को 2-1 पर ला खड़ा किया. इसके बाद अंत तक कोई भी गोल नहीं दाग सका.

 

Comments are closed.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More