सहरसा-बनमा-ईटहरी प्रखंड के साहसी युवक ने पकड़ा अजगर

12

BRAJESH

ब्रजेश भारती

सिमरी बख्तियारपुर,सहरसा, ।

पकड़े गये सांप बना चर्चा का विषय,देखने उमड़ी लोगो की भीड़
अनुमंडल के बनमा-ईटहरी प्रखंड के घौड़दोर गांव में एक साहसी युवक ने एक अजगर सांप को पकड़ा है।लगभग 10 फीट लम्बा और करीब 20 किलो वजनी यह अजगर लोगो के बीच चर्चा का विषय बन गया है। जिसे देखो इस सांप को संबंध में बाते करते देखने को चल देते है। वही उस साहसी युवक गुफरान आलम की भी ताऱिफ करते है उसने अजगर जैसे सांप को पकड़ अपने घर में रखा है। इस सांप के पकड़े जाने के संबंध में बताया जाता है कि शुक्रवार दोपहर पुरैनी गांव में बड़ी नहर के निकट यह अजगर एक घर के दिवार पर दिखा।अजगर को देखने व मारने के लिए भीड़ जुट गई।कुछ ग्रामीण इस अजगर पर पत्थरबाजी,लाठी डंडा आदि चलाने लगे तभी बगल से गुजर रहे लक्ष्मीनियां निवासी मो इरफान आलम के पुत्र मो गुफरान आलम की नजर भी वहां लगी भीड़ पर पड़ने के बाद वह वहां देखने गया उसकी नजर अजगर पर पड़ी उसने लोगो से अजगर को बचाते हुए उसे सावधानी पूर्वक पकड़ लिया और सांप को लेकर धौड़दौर गांव स्थित अपने ननिहाल आ गया। पकड़े जाने के बाद अजगर फिलहाल उसी युवक के पास ही है उसने कहा जल्द ही इसे वन विभाग को सौंप दिया जायेगा। वही सांप के संबंध में जानकारी रखने वालो से पुछा गया तो इन लोगो का कहना था कि आमतौर पर इतने वजन और लंबाई वाले अजगर आसानी से नहीं मिलते है। इस अनुमंडल क्षेत्र में अजगर सांप का मिलना सोचनीय बात है और यह कोई पहला घटना नही है इससे पूर्व भी सिमरी बख्तियारपुर स्टेशन से समीप यह सांप मिला था उसके बाद भी कई अन्य जगहों से इस सांप को मिलने की खबर आ रही है। इस पर वन विभाग को पड़ताल करनी चाहिये। वही पुरैनी के आसपास के ग्रामीणों ने बताया कि बीते कुछ दिन से बतखें गायब हो रही थीं, पहले यही समझा जा रहा था कि बतख कही चले जाते है, लेकिन कुछ दिनपूर्व इस अजगर को बतख खाते देखा, तो पता लगा कि चोर कोई ओर नहीं, यह अजगर ही है.इधर, इस अजगर को पकड़ने वाले मो गुफरान ने बताया कि पशुओं को बचाना हर किसी की जिम्मेवारी है, मै इसे वन विभाग को सौंपना चाहता हूँ। इस संबंध में सहरसा वन विभाग के डिवीजनल फॉरेस्ट ऑफिसर ने बताया कि वन विभाग की टीम को सिमरी बख्तियारपुर अजगर लेने के लिए भेजा जा रहा है।

Comments are closed.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More