हेमंत सोरेन झामुमो विधायक दल के नेता चुने गये विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष का मिलेगा

37

दर्जा रांची,26दिसंबर। झारखंड मुक्ति मोर्चा के नवनिर्वाचित विधायको  ने एक बार फिर से हेमंत सोरेन को पार्टी विधायक दल का नेता चुन लिया है। झामुमो  प्रमुख शिबू सोरेन के आवास पर आज पार्टी के नवनिर्वाचित विधायको  की हुई बैठक में सर्वसम्मति से हेमंत सोरेन को नेता चुन लिया गया।विधानसभा चुनाव में झामुमो¨ के 19 विधायक चुन कर आये है और भाजपा के बाद दूसरी सबसे बड़ी पार्टी के रुप में उभर कर सामने आने के कारण झामुमो  विधायक दल के नेता  को ही नेता प्रतिपक्ष का दर्जा मिलेगा। नेता प्रतिपक्ष को कैबिनेट मंत्रीयो की तरह सुविधा मिलती है औऱ सूचना आयुक्त समेत अन्य महत्वपूर्ण नियुक्तियो  में भी नेता प्रतिपक्ष की भूमिका अहम होती है। पार्टी विधायक दल का नेता चुने जाने के बाद हेमंत सोरेन ने पत्रकारो से बातचीत में कहा कि पार्टी मजबूत विपक्ष की भूमिका निभाएगी। भाजपा द्वारा मुख्यमंत्री  के चयन के मसले पर पूछे गये एक प्रश्न के उत्तर में हेमंत सोरे न ने कहा कि यह भाजपा का अंदरुनी मामला है और  इस पर वे को ई टिप्पणी नहीं करेंगे। वहीं गैर आदिवासी को  पहली बार मुख्यमंत्री  पद की जिम्मेवारी मिलने के संबंध में पूछे गये एक अन्य प्रश्न के उत्तर में  उन्होने  कहा कि मुख्यमंत्री  पद को  लेकर निश्चित रुप से जनभावनाएं जुड़ी  है ती है, इससे इंकार नहीं किया जा सकता। उन्हो ने कहा कि अभी भाजपा अौर कितनी भावनाएं से खिलवाड़ करेगी, यह तो आने वाला समय ही बताएगा।

Local AD

Comments are closed.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More