मधेपूरा- विधालय का निरीक्षण करना पड़ा महंगा , विरोध स्वरुप धर मे आग लगाई

 

SANJAY KUMAR SUMAN

संजय कुमार सुमन 

मधेपूरा।
मुख्यमंत्री के अतिमहत्वपूर्ण कार्यक्रमों में एक जीविका दीदियों द्वारा विद्यालय निरिक्षण का खामियाजा मधेपुरा जिले के बिहारीगंज प्रखंड की जीविका दीदी को भुगतना पड़ा। जीविका दीदी द्वारा श्री महावीर शिवानंदन मध्य विद्यालय,बेलाही,पड़रिया के निरीक्षण के बाद डी एम मधेपुरा ने सम्बंधित विद्यालय के प्रधान को निलंबित कर दिया। जिसके आक्रोश में विद्यालय के प्रधान और उसके गुर्गों ने ना केवल जीविका दीदी एवं उनके परिजनों को विद्यालय बुलाकर उनके साथ मारपीट की बल्कि जीविका दीदी मंजुल के घर को आग के हवाले भी कर दिया। जब जीविका दीदी मामले को लेकर बिहारीगंज थाना गयीं तो थाना प्रभारी ने एफ़आईआर लेने से भी इंकार कर दिया। इस घटना के बाद स्थानीय जीविका दीदी में डर एवं दहशत का माहौल व्याप्त हो गया । घटना के बाद विद्यालय के सारे शिक्षक विद्यालय बंद कर फरार हैं। जीविका के प्रखंड कार्यालय द्वारा मामले की जानकारी मधेपुरा के डीएम मो.सौहेल एवं एसपी विकास कुमार को दे गयी।घटना के विरोध में तीन सूत्री मांगों को लेकर आक्रोश प्रदर्शन किया गया। जीविका ग्रामीण विकास विभाग बिहार सरकार बैनर तले जीविका दीदी आक्रोश प्रदर्शन रैली निकाली। आक्रोश रैली बिहारीगंज बाजार का भ्रमण करते हुऐ बेलाही पहुँच कर सभा में परिणित हो गई । इस आक्रोश प्रदर्शन में करीब पाँच हजार की संख्या में जीविका समूह से जुडी दीदियों ने भाग लिया। रैली में जीविका ने “उन्हें कमजोर ना समझे,सबको दिलाएगा उचित न्याय। जो हमसे टकराएगा वो चूर चूर हो जायेगा। नारी को कमजोर ना समझे धमकी देने वाले हो जायं सावधान।”आदि नारे लगा कर विरोध प्रदर्शन किया।

प्राप्त जानकारी अनुसार महादेव जीविका ग्राम संगठन केजीबी का दीदियों के द्वारा श्री महावीर शिवनंदन मध्य विद्यालय में निरीक्षण किया गया था जिस में अनियमितता और गड़बड़ी पाने पर जीविका ग्राम संगठन की जांच प्रतिवेदन आगे कार्यवाही के लिए प्रेषित की गई थी। जिसके कार्यवाही में विद्यालय के प्रधानाचार्य निरंजन कुमार राय को निलंबित कर दिया गया था।प्रधानाध्यापक के निलंबित होने के बाद जीविका ग्राम संगठन की कोषाध्यक्ष मंजुला देवी के अनुसार विद्यालय के प्रधान शिक्षक एवं सहायक शिक्षकों सहित अन्य स्थानीय कुछ लोगों के द्वारा उन्हें धमकियां दी जा रही थी। जीविका संगठन की कोषाध्यक्ष दीदी मंजुला देवी के घर पर उनके पति बौकू मंडल और पुत्र रिंकू मंडल के साथ ग्रामीण एवं विद्यालय के शिक्षकों के द्वारा मारपीट कार आगजनी तक का मामला प्रकाश में आया था। जीविका की दीदी मंजुला देवी के द्वारा बिहारीगंज थाना में विद्यालय के प्रधान शिक्षक एवं सहायक शिक्षक सहित अन्य 4 को नामजद कर उनके खिलाफ मुकदमा दर्ज कराई है। इधर मामले की छानबीन के लिए उदाकिशुनगंज एसडीपीओ अरुण कुमार दुबे, बिहारीगंज थाना अध्यक्ष एवं अपने दल बल के साथ घटनास्थल पर पहुंचकर मामले की तफसीस की। बताया जाता है कि घटना के दिन से ही विद्यालय में ताला लगाया हुआ है और सभी शिक्षक फरार बताए जा रहे हैं। आज जब आलोक प्रसंग की टीम मौके पर पहुंची तो विद्यालय में 2 शिक्षक सहित एक शिक्षिका बरामदे पर बैठी हुई थी और विद्यालय की सभी कक्षाओं में ताला लटक रहा था शिक्षक राकेश कुमार चौधरी से पूछे जाने पर कि ताला लगा हुआ है तो आप लोग क्या कर रहे हैं तो उन्होंने बताया की विद्यालय बंद है हम लोग चाहते हैं कि किसी तरह ताला खुलवाया जाएं और पठन-पाठन को सुचारु करवाया जाए। घटना के संबंध में पूछने पर उन्होंने बताया कि हम लोग अपने अपने क्लास में थे और मध्यान भोजन का समय था । सभी बच्चे मध्यान्ह भोजन कर चुके थे। तभी अचानक स्थानीय धीरेंद्र झा भागते हुए विद्यालय में आए और चिल्लाने लगे हमें बचा लीजिए, हमें बचा लीजिए, हम लोगों ने मानवता के आधार पर उन्हें कुछ देर विद्यालय में रखा और फिर उन्हें आनन-फानन में अस्पताल पहुंचाया गया।
विद्यालय शिक्षा समिति के अध्यक्ष मोहम्मद गयास ने बताया की विद्यालय के प्रधान शिक्षक निरंजन कुमार राय ने उन्हें कभी अध्यक्ष के रूप में स्वीकार नहीं किया। मैं पिछले 5 वर्ष से और पूर्व में भी मैं ही विद्यालय का अध्यक्ष बना रहा लेकिन विद्यालय के प्रधान शिक्षक निरंजन राय हमेशा यही कहते रहे कि हम नहीं मानते हैं किसी अध्यक्ष वध्यक्ष को। विद्यालय में जो भी काम हुए हैं जिसमें की अध्यक्ष की हस्ताक्षर की जरूरत होती है आज तक मुझे नहीं करने दिया और ना ही कभी मुझे रजिस्टर देखने दिया गया।
जीविका के जिला कार्यक्रम प्रबंध पदाधिकारी मधेपुरा अमर शेखर पाठक ने बताया कि विद्यालय के शिक्षकों को ऐसा लगता है की जीविका की अनपढ़ दीदी घास काटने वाली महिला अब हमारी जांच करेगी । यही बात उन लोगों को खटकती है जिस कारण से उन लोगों ने इस घटना को अंजाम दिया है। हम लोगों ने इस घटना की जानकारी थानाध्यक्ष को दी और मुकदमा दर्ज कराया। जिला पदाधिकारी, पुलिस अधीक्षक एव थानाध्यक्ष से बात हुई है उन लोगों ने न्याय दिलाने का आश्वासन दिया है और हम तब तक लड़ेंगे
जब तक की न्याय नहीं मिले।
मंगलवार को बिहारीगंज के बेलाही पहुँचे जिलाधिकारी मो• सोहेल ने पीड़ित जीविका दीदी एवं उनके घायल पति बौकू मंडल , पुत्र रिंकू मंडल से मुलाकात कर घटना के विषय में पूर्ण जानकारी ली और पीड़ित जीविका दीदी मंजुला देवी को मुवाजे के तौर पर नगद राशि व चेक दिया गया और संपूर्ण घटना की स्थिति की जानकारी ली ।उसके बाद महाबीर शिवनंदन मद्य विद्यालय बेलाही बिहारीगंज के अभियुक्त चार शिक्षकों को निलंबित कर दिया गया है और प्रखंड विकास पदाधिकारी अरविन्द कुमार को दिशा निर्देश दिया की तत्काल इस विद्यालय में तीन शिक्षक दिया जाय और विद्यालय के पठन पाठन शुचारु कराया जाय।

निरीक्षण के दौरान अनुमंडल पादाधिकारी मुकेश कुमार, प्रखंड विकास पदाधिकारी अरविन्द कुमार, अंचलाधिकारी नबीन शर्मा,सी0आई ओम प्रकाश कुशयेत,रोशन कुमार,थानाप्रभारी बिरेन्द प्रसाद महतो आदि सामिल थे।

Comments are closed.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More