Breaking News :
जमशेदपुर -ई-रिक्शा पर सवार हो समाधान के विवाह मंडप पहुँचें दूल्हे राजा, सात जन्मों के बंधन में बंधे 15 जोड़े | Deliberations and Celebrations continue at Samvaad on Day – 3 | जमशेदपुर-मै पूर्वी जमशेदपुर से लड़ुंगा, पश्चिम में कार्यकर्ता और जनता लड़ेगी चुनाव- सरयु रॉय | जमशेदपुर -शकुंतला खीरवाल के आंखों का दान  | काश! जीएसटी की 'पटरी' भी बुलेट के समान होती! - अतुल मलिकराम | जमशेदपुर --जिला निर्वाचन पदाधिकारी की अध्यक्षता में मास्टर ट्रेनर की बैठक | जमशेदपुर -रामचन्द्र सहिस सहित 26 लोगो ने किया नामांकन.31 लोगो ने लिया नामांकन | जमशेदपुर -मेहंदी हल्दी की रस्म पूरी, आज बजेगी शहनाई, कल एक-दूजे संग 15 जोड़े लेंगे फेरे | जमशेदपुर -समाधान के सामूहिक शुभ विवाह समारोह की तैयारियाँ पूरी, पंद्रह बेटियों की हल्दी, मेहंदी और संगीत की रस्म अदायगी कल | जमशेदपुर-मेनका, समीर, कुणाल सहित कुल 13 ने भरा पर्चा | जमशेदपुर-एसई रेलवे के चीफ इंजिनियर विजय कुमार साहू बने चक्रधरपुर रेल मंडल के नये डीआरएम | जमशेदपुर - ACB को मिली सफलता.सहायकअभियंता के घर से दो करोड़. 44 लाख.80 हजार नगद बरामद | चाईबासा -बड़कुवर गागराई  को टिकट नहीं मिलने से नाराज मझगाव विधानसभा के भाजपाइयों ने दिया सामूहिक इस्तीफा | क्या उर्मिला और महेंद्र अभिषेक और गायत्री को करीब ला पाएंगे? | जमशेदपुर -भाजपा जमशेदपुर महानगर ने मनाई बिरसा मुंडा जयंती, प्रतिमा पर किया माल्यार्पण | कार्तिक आर्यन, भूमि पेडनेकर और अनन्या पांडे की फिल्म 'पति पत्नी और वो' का सांग 'धीमे-धीमे' हमें डांस करने के लिए उत्साहित करता है| | उषा ने लॉन्च किए डिज़ाइनर कुकटॉप्स- लस्ट्रा ग्लास, किचन अप्‍लायंसेज रेंज को किया सुदृढ़ | &TV वरील मालिका 'गुडिया हमारी सभी पे भारी'मध्‍ये महानायक अमिताभ बच्‍चन दिसणार? | जमशेदपुर -सोनार तोरी का परसुडीह में सांस्कृतिक कार्यक्रम आयोजित | जमशेदपुर -भाजपा के राष्ट्रीय मंत्री सुरेश पुजारी ने विधानसभा कोर कमिटियों संग की बैठक |

आईएसएल-6 : केरला ब्लास्टर्स के सामने जीत की पटरी पर लौटने की चुनौती 

कोच्चि, 7 नवंबर। दो बार की फाइनलिस्ट केरला ब्लास्टर्स शुक्रवार को हीरो इंडियन सुपर लीग (आईएसएल) के छठे सीजन में यहां जवाहरलाल नेहरू स्टेडियम में ओडिशा एफसी के खिलाफ इस सीजन के अपने चौथे मैच में जीत की पटरी पर लौटना चाहेगी।

केरला ब्लास्टर्स ने इस सीजन के उद्घाटन मुकाबले में दो बार की चैम्पियन एटीके को 2-1 से हराकर सीजन का विजयी आगाज किया था,  लेकिन उसके बाद से टीम को मुंबई सिटी और हैदराबाद एफसी के खिलाफ लगातार दो मैचों में हार का सामना करना पड़ा है।

कोच एल्को स्काटोरी की केरला ब्लास्टर्स को अपने घरेलू मैदान पर जीत सुनिश्वित करने के लिए एक बेहतर रणनीति के साथ मैदान पर उतरना होगा।

केरला की टीम को पिछले सीजन में भी पहले मैच में एटीके के खिलाफ जीत दर्ज करने के बाद अगले 14 मैचों में जीत नसीब नहीं हुई थी और टीम के जेहन में अभी भी पिछले सीजन की यादें ताजा है। स्काटोरी की टीम किसी भी हालत में पिछले सीजन को दोहराना नहीं चाहेगी।

दूसरी ओर, ओडिशा एफसी का फॉर्म भी केरला जैसा ही है। शुरूआती दो मैचों में मात खाने के बाद ओडिशा ने अपने तीसरे मैच में जबर्दस्त वापसी की और मुंबई सिटी को 4-2 से पराजित किया।

ओडिशा की टीम चोटिल केरला ब्लास्टर्स के खिलाफ अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करने की कोशिश करेगी। केरला के लिए मारियो आर्क्वेस और जियानी जुइवर्लून जैसे खिलाड़ी अभी पूरी तरह से फिट नहीं है जबकि संदेश झिंगन पहले ही सीजन से बाहर हो चुके हैं।

केरला के कोच स्काटोरी ने कहा, ‘‘हमें अपना पिछला मैच जीतना चाहिए था। अन्य टीम (हैदराबाद) में केवल तीन ही विदेशी खिलाड़ी थे। हमारे पास अच्छे मौके थे। पिछले तीन मैचों में हमने 43 क्रॉस लगाए, लेकिन उनमें से कितने प्रभावी रहे, यह दूसरा सवाल है। हमारे विंगर्स स्थिर नहीं है और मिडफील्ड में हमें एक मुख्य खिलाड़ी की कमी महसूस हुई। पिछले मैच में हमने डिफेंस में जुइवर्लून को खो दिया। इस समय सभी संघर्ष कर रहे हैं।’’

केरला के लिए चिंता की बात यह है कि वे स्टार स्ट्राइकर बार्थोलोमेव ओग्बेचे गोल करने के मौके नहीं बना पा रहे हैं। सहाल अब्दुल समद जैसे खिलाड़ी अभी भी कोच स्काटोरी की शैली को अपना नहीं पाए हैं।

स्काटोरी ने कहा, ‘‘ फुटबाल में पासिंग में थोड़ा समय लगता है। सहल ने पिछले मैच में गलती की, लेकिन हम उनकी वजह से नहीं हारे। मैंने खुद सहल से बाच की थी। हम उनके साथ खुश हैं।’’

ओडिशा एफसी में कुछ समस्याएं होगी। सिस्को हर्नांडीज एक मुख्य खिलाड़ी की भूमिका में जोसेफ गोमबाउ की टीम के लिए अच्छा कर रहे हैं। अरिडेन संताना और जैरी माविहिंगथांगा के साथ उनकी जोड़ी शानदार दिख रही है। वहीं, नंदकुमार सीकर भी इस मैच में केरला ब्लास्टर्स के डिफेंस की कड़ी परीक्षा ले सकता है।

गोमबाउ ने कहा, ‘‘पिछले सीजन में हमने कई मौके गंवाए थे। इस सीजन में हमने तीन मैच खेले हैं और छह गोल किए हैं। तीन मैचों के  बाद हमारा यह दूसरा सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन है। भारत में हमारे पास काफी प्रतिभाशाली खिलाड़ी हैं। हम यहां मजबूत मानसिक के साथ आए हैं और हम इस चीज को लेकर पूरी तरह से आश्वस्त हैं कि हम तीन अंक हासिल कर सकते हैं।’’

ओडिशा का डिफेंस भी ज्यादा मजबूत नहीं है और उन्हें अभी क्लीन सीट हासिल करना बाकी है। टीम ने पिछले तीन मैचों में छह गोल खाए हैं। टीम ने तीनों मैचों में अब तक अंतिम 10 मिनट गोल खाए हैं।

यह देखना काफी दिलचस्प होगा कि क्या केरला की टीम ओडिशा की इस कमजोरी का फायदा उठा पाती हैं और या फिर पिछले सीजन को ही दोहराती है। अंतर्राष्ट्रीय ब्रेक पर जाने से पहले केरला के लिए यह जीत मानसिक रूप से काफी अहम होगा।

0

Leave a Reply