सरायकेला-बिहार एवं झारखंड के 360 चयनित बच्चे आईडीटीआर में लेंगे प्रशिक्षण

गम्हरिया
—–
तकनीकी क्षेत्र में स्कील, स्पीड एवं स्पेस का महत्वपूर्ण स्थान है। कोई व्यक्ति अपना स्कील बढाता है, उसमें गति प्रदान करता है साथ ही अपना दायरा बढाता है तो उसे आगे बढने से कोई नहीं रोक सकता। उपरोक्त बातें पावर ग्रिड कार्पाेरेशन आॅफ इंडिया ईस्टर्न प्रक्षेत्र के डीजीएम वीएम सिंह ने औद्योगिक क्षेत्र स्थित इंडो डेनिश टूल रूम मंे नए प्रशिक्षुओं के लिए आयोजित कार्यक्रम में कही। उन्होंने बताया कि पावर ग्रिड कारपोरेशन आॅफ इंडिया के सौजन्य से सीएसआर के तहत बिहार एवं झारखंड के विभिन्न जिलों से 360 छात्र-छात्राओं का चयन कर छः माह के प्रशिक्षण के लिए आईडीटीआर में भेजा गया है। सभी चयनित छात्र-छात्राओं को छह माह का सीएनसी लेथ, सीएनसी मिलिंग एवं वेल्डिंग का प्रशिक्षण दिया जाएगा। इस मौके पर उपस्थित पावर ग्रिड, पटना के एचआरडी प्रबंधक एके राॅय ने बच्चों को संबोधित करते हुए कहा कि हूनर और दक्षता बढेगी तो देश का विकास होगा। उन्होंने छात्र-छात्राओं को अनुशासन में रहकर प्रशिक्षण प्राप्त करने की सलाह दी। इस मौके पर संस्थान के चीफ मैनेजर एसके दŸाा ने कहा कि अनुशासन से ही ज्ञान की प्राप्ति होती है। अगर आप में औनेस्टी, सिंसियरिटी एवं डेडीकेशन है तो सफलता आपकी कदम चूमेगी। उन्होंने टूल रूम के प्रशिक्षण व्यवस्था की सराहना करते हुए कहा कि बच्चों को प्रशिक्षण के दौरान प्रतिमाह तीन हजार रूपए छात्रवृति के रुप में प्रदान किया जाएगा। कार्यक्रम में उपस्थित टूल रूम के सीनियर मैनेजर (प्रशिक्षण) रतन दास गुप्ता ने भी बच्चों को अनुशासन में रहकर प्रशिक्षण प्राप्त करने की सलाह दिया। इस मौके पर प्रखंड प्रमुख अमृता टुडू,ं रपचा पंचायत की मुखिया सुकमती मार्डी, प्रितेष ठाकुर, ज्योति रजक, प्रियंका, सुमित सिंह कोहली, नवीन सिंह समेत पावर ग्रिड के कई अधिकारी एवं काफी संख्या में प्रशिक्षु उपस्थित थे। अंत में संस्थान के अधिकारी कुंदन साही ने धन्यवाद ज्ञापन दिया।

Comments are closed.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More