सिवील सेवा परीक्षा मे हिदी और अन्य भाषाओ को उपेक्षित किया जा रहा हैः अखिल भारतीय विधार्थी परिषद

रवि कुमार झा,जमशेदपुर,14 जूलाई
संघ लोक सेवा आयोग के परीक्षा मे हिदी और अन्य भाषाओ को उपेक्षित करने को लेकर को अखिल भारतीय विघार्थी परिषद के सदस्यो ने प्रधानमंत्री के नाम एक ज्ञापन उपायुक्त को सौपा।ज्ञापन के माध्यम से कहा गया है कि संघ लोक सेवा आयोग के परीक्षा मे हिदी और अन्य भाषाओ को उपेक्षित दिन पर दिन पर की जारी हैइस काऱण हिदी में सहित अन्य विषयो मे परीक्षा में शामील होने वालो की संख्या कम होते जा रही है । 6 सुत्री मांग पत्र का ज्ञापन सौपा गया है और इस मामले में प्रधानमंत्री से हस्तक्षेप करने की मांग की गई है ।इस संबध में अखिल भारतीय विधार्थी परिषद के राष्ट्रीय कार्यसमिति के सदस्य अमिताभ सेनापति ने कहा है कि सिविल सेवा परीक्षा के अंतिम परिणाम में हिदीं उम्मीदवारो का अनुपात 2005-2010 के दौरान जहाँ 10-15% के बीच रहता था ।वह 2013 में घटकर सिर्फ 2.3%के आसपास रह गया है ।जो कि काफी चितंनीय है ।उन्होने कहा कि इस वर्ष को कुल 1122 सफल उम्मीदवारो में से लगभग 26 ही हिंदी माध्यम से है जहाँ पिछले वर्षो में हिदीं माध्यम के उम्मीदवारो ने पहले 10 स्थानो के भीतर पहुँचकर दिखाया है वहाँ 2013 में पहले 100 स्थानो मेंभी इसका एक उम्मीदवार नही हैं।उन्होने कहा कि हिंदी माध्यम के उम्मीदवारे के सफलता दर 2005-2010 के दौरान 40-45% के बीच रहती थी। वह 2011 में सीसेंट लागू होते ही लगभग 12-15% ऱह गई एवं 2013 में 10% नीचे आ गई है।
उन्होने कहा कि इस मामले को लेकर अखिल भारतीय विघार्थी परिषद के सदस्यो 14 अगस्त को दिल्ली के संघ लोक सेवा आयोग के समक्ष प्रर्दशन करेगे ।ज्ञापन देने वालो में अखिल भारतीय विधार्थी परिषद के राष्ट्रीय कार्यसमिति के सदस्य अमिताभ सेनापति के अलावे ,सोनु ठाकुर , सतनाम सिंह,प्रभात शंकर तिवारी ,सुजीत वर्मा .सुखदेव सिहं,नवनीत कुमार सिह शामील है.

Comments are closed.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More