इक्विप डे-2014’: स्कूलों की सुधार पहलकदमियों को सम्मानित किया गया

संवाददाता.जमशेदपुर, 15 दिसंबर,
जमशेदपुर के टाटा क्वालिटी मैनेजमेंट सर्विसेज ने ’इक्विप डे-2014 के द्वारा ’ प्रेजेंटेशन देने वाली टीमों को एक्सएलआरआई के , सीनियर फैकल्टी प्रो. शरद सरीन तथा जूरी लीडर श्री आरपी त्यागी ने बाकी प्रोजेक्ट टीमों को भागीदारी का प्रमाणपत्र सौंपा।
इस अवसर पर प्रो. शरद सरीन प्रदर्शन में सुधार के लिए स्कूलों द्वारा किये जा रहे प्रयासों की सराहना करते हुए कहा कि स्कूली शिक्षा के साथ-साथ चरित्र व मूल्यों को कायम रखने की शिक्षा पर जोर देने की आवश्यकता है।इस दिशा में जमशेदपुर के स्कूल प्रयास कर रहे हैं, जो हम सभी के लिए प्रेरणा दायी है।उन्होंने ग्रामीण क्षेत्र के स्कूलों को प्रोत्साहित करने के लिए जमशेदपुर के स्कूलों द्वारा उनके साथ कंधे से कंधा मिला कर कार्य करने की जरूरत को रेखांकित किया।गौरतलब है कि स्कूल संचालन के विभिन्न क्षेत्रों में जमशेदपुर के स्कूलों के सुधार प्रयासों को सम्मानित करने के लिए 13दिसंबर को सेंटर फॉर एक्सेलेंस ऑडिटोरियम में टाटा क्वालिटी मैनेजमेंट सर्विसेज ने ’इक्विप डे-2014’का आयोजन किया। कुल 71 प्रेजेंटेशन में से 13 प्रोजेक्ट्स को जूरी के समक्ष प्रस्तुत करने के लिए चुना गया था।
क्या है इक्विप
इक्विप अर्थात् एजुकेशन क्वालिटी इम्प्रूवमेंट प्रोजेक्ट्स की शुरुआत 2010 में सुधार के क्षेत्रों को चिन्हित कर उन पर कार्य करने के लिए स्कूलों की सहायता के उद्देश्य से की गयी थी।तब से लेकर अब तक 50 प्रतिशत से अधिक प्रतिभागी स्कूल इक्विप को रिपोर्ट कर रहे हैं।तीन प्रकार के विषयों-’इनोवेशन’, ’समस्या समाधान’और’टास्क यानी निर्धारित कार्य का कार्यान्वयन’-के तहत इम्प्रूवमेंट प्रोजेक्ट्स की रिपोर्टिंग की जातीहै।इस वर्ष सुधार प्रोजेक्ट्स में अन्य स्कूलों से लिए गये विषयों को भी शामिल किया गया।2010 से लेकर अब तक 259 सेअधिक इम्प्रूवमेंट प्रोजेक्ट्स सौंपे गये हैं तथा 1200 शिक्षक इसमें शामिल हुए हैं।सबसे महत्व पूर्ण बात यह हैकि’’शिक्षाविधियों’’, ’’सीखने की प्रक्रिया’’और’’स्कूल के कार्यों में आईटी पर बल’’से संबंधित प्रोजेक्ट्स पर अधिक फोकस किया गया है।अन्य प्रोजेक्ट सुरक्षा, विद्यार्थी मूल्यांकन, स्वास्थ्य व स्वच्छता, नैतिकता व परामर्श, स्कूल अनुशासन, विद्यार्थियों की समग्र क्षमता के विकास आदि से संबंधित हैं।

इम्प्रूवमेंट प्रोजेक्ट्स के प्रत्येक प्रकार अर्थात् ’समस्या समाधान’, ’इनोवेशन’और’टास्क कार्यान्वयन’ के लिए इक्विप वर्क बुक में निर्धारित दिशा निर्देशों के तहत प्रस्तुत किये गये हैं।टीक्यूएमएस ने शिक्षकों को न केवल इक्विप टूल्स पर प्रशिक्षित किया है, बल्कि अब तक इसने क्वालिटी इम्प्रूवमेंट टूल्स पर 390 शिक्षकों एवं प्रधानाध्यापकों को प्रशिक्षण प्रदान किया है।

इस वर्ष निम्नलिखित स्कूलों ने हिस्सा लिया है-
1. बाग-ए-जमशेदस्कूल
2. गुलमोहरहाईस्कूल
3. हिलटॉपस्कूल, टेल्को
4. जे एच तारापोरस्कूल
5. जमशेदपुरपब्लिकस्कूल
6. जुस्कोस्कूल, कदमा
7. जुस्कोस्कूल, साउथपार्क
8. काशीडीहहाईस्कूल
9. के.पी.एस., बर्मामाइंस
10. के.पी.एस., कदमा
11. के.पी.एस., मानगो
12. के.पी.एस., गम्हरिया
13. केरलसमाजममॉडलस्कूल
14. केएमपीएमइंटरकॉलेज
15. मोतीलालनेहरू पब्लिकस्कूल
16. एनएमएलकेरलापब्लिकस्कूल
17. आरएमएस,खूंटाडीह
18. संतनंदलालस्मृतिविद्यामंदिर, घाटशिला
19. सेंटमेरीजस्कूल, नोआमुंडी
20. तारापोरस्कूल, एग्रिको
21. विद्याभारतीचिन्मयाविद्यालय, टेल्को

इक्विप प्रोजेक्ट प्रस्तुत करने वाली 13 टीमों में से जूरी द्वारा पुरस्कार के लिए चुने गये 8 प्रोजेक्ट इस प्रकार हैंः
ऽ बाग-ए-जमशेद स्कूल द्वारा ’सैंड-ए फनलर्निंगमीडियम’
ऽ गुलमोहर हाईस्कूल द्वारा ’कॉमिकस्ट्रिप’
ऽ जुस्को स्कूल, साउथपार्क द्वारा ’कम्प्यूटराइज्ड स्टेक होल्डर सर्वे’
ऽ जुस्को स्कूल, साउथ पार्क द्वारा ’टैलेंट एक्प्रेशंस’
ऽ केरला पब्लिक स्कूल, कदमा द्वारा ’रीडबेबीरीड’
ऽ केरला समाजम मॉडल स्कूल द्वारा ’आईकैन डू इट-केमेस्ट्री’
ऽ आर एम एस हाई स्कूल, खूंटाडीह द्वारा ’हेल्दी बॉडी हेल्दी माइंड’
ऽ संत नंदलाल स्मृति विद्यामंदिर, घाटशिला द्वारा ’लर्निंग विदफन यूजिंगलो कॉस्ट डीवीडी प्लेयर’

सभी 13 टीमों को कार्यक्रम में हिस्सा लेने के लिए प्रमाणपत्र प्रदान कियागया।चयनित 8 इक्विप टीमों को टीईईपी के वार्षिक पुरस्कार समारोह में सम्मानित किया जायेगा। कार्यक्रम के दौरान टी क्यू एम एस वी पी एन के शरण ने जूरी,प्रतिभागी प्रधानाध्यापकों, शिक्षकों तथा स्कूल प्रबंधन समिति के सदस्यों का स्वागत किया। कार्यक्रम का संचालन. दीपाली मिश्रा और पीरमेश ने किया।

Comments are closed.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More