जादूगोड़ा मे पड़े लिखे अशोक बने रेलवे के डिविसनल कमर्शियल मेनेजर

गुदड़ी के लाल बने अशोक अग्रवाल
सतोष अग्रवाल,जमशेदपुर,26 नवम्बर
जादूगोड़ा के लोगो के लिए आज का दिन बहुत ही हर्ष का दिन है खासकर अशोक अग्रवाल के परिजनो एवं दोस्तो के लिए जहां एक और लोग सरकारी स्कूलो को बच्चो के उज्जवल भविष्य के लिए अच्छा नहीं बताया जाता है वहीं अशोक अग्रवाल जैसे छात्र उधारन बनकर सामने आए है की देहाती क्षेत्र मे सरकारी स्कूल मे पढ़कर भी बड़ा अधिकारी बना जा सकता है ।
अशोक अग्रवाल को रेलवे मे डिविसनल कमर्शियल मेनेजर बनाए जाने से हर्षित उनके बचपन के दोस्त धर्मेंद्र सिंह , अनिल गुप्ता एवं गोपाल बिस्ट ने बताया की अशोक बचपन से ही बहुत ही मेहनती और मेघावी छात्र रहा है और सभी शिक्षक भी स्कूल मे कहते थे की एक दिन अशोक पूरे जादूगोड़ा का नाम रोशन करेगा और उसने सही मे जादूगोड़ा एवं आसपास का नाम रोशन कर दिया ।
ओड़ीसा के रहने वाले अशोक अग्रवाल बचपन से ही अपने मामा जादूगोड़ा के व्यवसायी गोपाल लोधा के घर मे रहकर पढ़ाई करते थे उन्होने अपनी प्रारम्भिक शिक्षा उत्क्रमित मध्य विद्यालय मेचूआ से सुरूकी इसके बाद उन्होने कक्षा दो से लेकर पाँच तक प्राथमिक विद्यालय भाटिन एवं पाँच से सात तक मध्य विद्यालय कुलडीहा से की इसके बाद उनकी तबीयत खराब होने के कारण आगे की पढ़ाई ओड़ीसा मे किया ।
अशोक अग्रवाल ने बताया की उनको भाटिन स्कूल के कमला मास्टर आज भी याद है जिनहोने उन्हे आगे बढ्ने मे बहुत सहयोग किया और उनके मार्गदर्शन से आज ये सफलता मिली है ।
वहीं उनके मामा जी गोपाल लोधा ने कहा की उस समय ओड़ीसा मे हिन्दी की पढ़ाई नहीं होती थी और उसे हिन्दी पढ़ने का शोक था इसी कारण मैंने उसे जादूगोड़ा लाकर भाटिन स्कूल मे दाखिला करवा दिया , स्कूल के शिक्षक उसी समय से मुझे कहते थे की आपका भांजा बहुत तेज़ है और एक दिन बहुत तरक्की करेगा उन्होने कहा की अशोक ने इसे सही साबित करके दिखाया उसकी इस सफलता से मे और मेरा पूरा परिवार गरवान्वित महसूस कर रहे है ।

Comments are closed.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More