गांवो मे विकास के लिए बुलेट ट्रेन नहीं बुलेट हल चाहिए – रामदास

31

 

जमीन हमारी माँ है इसे छोड़कर हम कहाँ जाएँगे – बाबूलाल सोरेन

.जमशेदपुर ,12 अक्टूबर

भूमि रक्षा संघर्ष समिति द्वारा रविवार को पोटका प्रखण्ड के आसनबनी पंचायत के तिलामुड़ा स्कूल परिसर मे जिंदल पावर एंव स्टील कंपनी के खिलाफ एक दिवसीय जनसुनवाई का आयोजन भूमि रक्षा संघर्ष समिति द्वारा किया गया इस जनसुनवाई मे बारिश के बीच भी 14 गांवो के ग्रामीण भारी संख्या मे पहुंचे हुए थे ।

कार्यक्रम मे मुख्य अतिथि के तौर पर मौजूद घाटशिला के विधायक रामदास सोरेन , विशिष्ट अतिथि समाजसेवी बाबूलाल सोरेन मौजूद थे ,

रामदास सोरेन ने सभा को संबोधित करते हुए कहा की ग्रामीण क्षेत्रो मे विकास के लिए हमे बुलेट ट्रेन नहीं बल्कि बुलेट हल चाहिए उन्होने कहा की किसी भी कीमत मे जमीन जिंदाल मित्तल को नहीं देंगे। उन्होने कहा कि हमारे पूर्वजो ने जल जंगल झाड़ियों को काटकर खेती योग्य जमीन बनाया है जिससे हमे पीढ़ी दर पीढ़ी अनाज मिलता है और जेएमएम किसी कीमत मे ग्रामीणो की जमीन को जिंदाल को लेने नहीं दिया जाएगा। उन्होने कहा कि 2005 की भाजपा सरकार को एमओयू को लेकर जमकर लताड़ा और कहा की भाजपा सरकार ने 2005 मे एमओयू किया था ।

विशिष्ट अतिथि बाबूलाल सोरेन ने ग्रामीणो के एकजुटता बार बल देते हुए कहा की हमे अपनी एकता को बनाए रखना होगा हमारे पूर्वज ने खेत खलिहान जमीन को यह सोचकर बनाया था की हमारे आने वाली पीढ़ी इसी जमीन पर खेती बाड़ी कर अपना जीवन चलाएँगे उन्होने कहा की सभी धर्मो के लोगो को मिलकर रहना होगा और हमे बाहर के लोगो को गाँव मे घुसने नहीं देना है हमे आपस मे मतभेद दूर कर मिलजुल कर रहना होगा तभी हम बाहरी लोगो के खिलाफ लड़ सकेंगे और मेरा पूरा सहयोग ग्रामीणो के साथ है उन्होने ज़ोर देते हुए कहा की जमीन हमारी माँ है और इसे छोड़कर हम कहा जाएँगे ।

सुधीर सोरेन ( प्रखण्ड अध्यक्ष जेएमएम पोटका ) ने कहा की किसी भी हाल मे जिंदाल को जमीन नहीं दिया जाएगा और विधायक रामदास के नेतृत्व मे भूमि रक्षा समिति के लोग रांची प्रस्थान करेंगे क्योंकि यहाँ के लोगो को जबर्दस्ती जमीन से बेदखल किया जा रहा है ।

बाघराय मार्डी ( प्रखण्ड अध्यक्ष मूसाबनी जेएमएम ) ने कहा की जमीन बचाने के लिए समिति का सोच बहुत अच्छा है उन्होने कहा की जहां जहां भी कंपनी बैठा है वहाँ के खूंटकाटी लोगो का अस्तित्व मीट गया है इसलिए किसी कीमत पर जमीन नहीं देने की बात कही ।

भूमि रक्षा संघर्ष समिति के अध्यक्ष मनोज रजक ने कहा की जिंदाल स्टील के स्थापना के लिए आसनबनी मे हुआ जनसुनवाई मे भाड़े के लोगो को लाकर और मिठाइया और पैसे देकर जनसुनवाइ सम्पन्न कराया गया था जिसकी उच्च स्तरीय जांच होनी चाहिए उन्होने जिंदाल के अधिकारियों को चेताते हुए कहा की भोले भाले गरीब किसानो को जिंदल अधिकारी बरगलाने से बाज आए अन्यथा बुरा परिणाम भुगतने को तैयार रहे आगे कहा की डीसी ऑफिस और राज्यपाल के पास आमरण अनशन मे बैठेंगे , उन्होने आगे कहा की पर्यावरण स्वीकृति को लेकर जिंदल द्वारा झूठा दस्तावेज़ केंद्र सरकार एवं पर्यावरण विभाग को भेजा गया है ।

भूमि रक्षा संघर्ष समिति के सचिव बनमाली महतो ने कहा की 2005 से हमलोगो द्वारा आंदोलन किया जा रहा है , जमीन खरीद बिक्री मे धांधली किया जा रहा है ।

सामाजिक सह आरटीआई कार्यकर्ता सोनू कालिंदी ने अपने विचार रखते हुए कहा की कंपनी अपनी नीति साफ रखे वो चाहे जिंदाल हो या भूषण हो हम विकास विरोधी नहीं है लेकिन विकास के नाम पर भोले भाले किसानो और गरीब ग्रामीणो का शोषन बर्दाश्त नहीं किया जाएगा ।

आसनबनी पंचायत समिति सदस्य तपोदती मण्डल ने कहा की जिंदाल के जनसुनवाई मे भोले भाले लोगो पर लाठिया  बरसाकर जनसुनवाई कराया गया उन्होने कहा की आसनबनी का जमीन जिंदाल का पौत्रिक जमीन नहीं है जो जमीन छीनकर ले लेंगे उन्होने जिंदल अधिकारी के उस बात पर कड़ी आपति जताई की हम हर हाल मे यहाँ कंपनी बैठाएगा और यह जमीन हमारे पूर्वजो की है और इसे कोई छीनकर नहीं ले सकता है ।

जनसुनवाइ के अंत मे सर्वसम्मति से यह निर्णय लिया गया की किसी भी हाला मे जिंदाल को जमीन नहीं दिया जाएगा और जिंदल के खिलाफ रैली भी निकलाई गयी ।

कार्यक्रम का संचालन बुधिनाथ मुरमु ने किया ।

मौके पर रामदासा ओसरें , बाबूलाल सोरेन , तपोदती मण्डल , बाघराय मार्डी , कालीपोदो गोराई , रमेश मांझी , बुधिनाथ मुरमु , प्रणव भकत , विनोद महतो , सुधीर सोरेन , गुरूपोड़ो दास , मनोज रजक , बनमाली महतो , विद्यासागर दास , मृणाल महाकुद सही सेकड़ों ग्रामीण मौजूद थे ।

 

 

Local AD

Comments are closed.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More