जमशेदपुर कोर्ट की सुरक्षा हुई कङी ,एसएसपी ने कोर्ट में घटना के दिन तैनात 8 जवानो में निलंबित

39

 

रवि कुमार झा,जमशेदपुर.26 मई

जमशेदपुर कोर्ट परिसर में शनिवार को सजायाफ्ता अखिलेश सिंह की हत्या की मंशा से हुए हमले और उसके बाद अखिलेश के समर्थकों द्वारा आरोपी की जमकर पिटाई ने सुरक्षा व्यवस्था की पोल खोल कर रख दी। इसे पुलिस की सुरक्षा व्यवस्था में चूक माना गया। इसे गंभीरता से लेते हुए एसएसपी अमोल वेणुकांत होमकर पुलिस अधिकारियों के साथ रविवार को घंटों कोर्ट परिसर की जायजा लिया। एसपी के निर्देश पर कोर्ट परिसर में ऐसी सुरक्षा व्यवस्था कर दी गई है कि कोई भी व्यक्ति बिना जांच पड़ताल के अंदर प्रवेश नहीं कर सकता। रविवार को कोर्ट हाजत के पास एक बंकर बनाया गया जिसमें 24 घंटे सशस्त्र बल के जवान तैनात रहेंगे। इसके अलावा मुख्य गेट,सीजेएम गेट, जज गेट समेत चार स्थानों पर मेटल डिटेक्टर लगाया गया। जहां-जहां मेटल डिटेक्टर लगाया गया है उस स्थान पर पुलिस बल तैनात रहेगा। उक्त जगह पर टेबल, कुर्सी व बेंच मंगा लिया गया है। इसके अलावा पुलिस की गश्ती कोर्ट परिसर के चारों ओर होती रहेगी।

शनिवार की घटना के बाद अधिवक्ताओं में भय का माहौल हो गया था और एक स्वर में सुरक्षा पुख्ता करने की मांग की गयी थी। एसएसपी अमोल वेणुकांत होमकर ने मामले को गंभीरता से लेते हुए रविवार को ही कोर्ट को सुरक्षा घेरा में ले लिया। एसएसपी ने इस मामले में घटना के दिन कोर्ट में तैनात 8 जवानो को कार्य मे लापरवाही बरतने के कारण निलबिंत कर दिया हैं.

गौरतलब है कि शनिवार को सजायाफ्ता अपराधी अखिलेश सिंह के दो माह के पेरोल जेल से बाहर था ।पेरोल की अवधि खत्म होने के बाद अखिलेश सिंह जमशेदपुर कोर्ट में आत्मसमर्पण करने के लिए पहुँचा था । एक कोर्ट से निकलने के बाद दुसरे कोर्ट जाने के समय उस पर  हमला किया गया जिसमे वह बाल बाल बच गया इसके बंद अखिलेश सिंह के समर्थको ने हमलावर युवको की जमकर पिटाई की जिसमें एक की स्थिती गंभीर बनी हुई है ।इस मामले में जिला पुलिस ने अखिलेश  सिंह के तीन समर्थको सहित 5 लोगो को गिरफ्तार किया था.

 

Comments are closed.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More