मुठभेङ के बाद भी पुलिस का अभियान जारी ,एस एसपी ने खुद संभाला मोर्चा मुठभेड़ बंगाल

सीमा से चिकामा पहाड़ पर चढ़ रही पुलिस टीम के साथ हुई।

अमीत कुमार मिश्रा,जमशेदपुर,18 अगस्त

घाटशिला थाना क्षेत्र के चिकामा पहाड़ी पर बुधवार सुबह नक्सलियों के साथ मुठभेड़ के बाद भी पश्चिम बंगाल और झारखंड पुलिस का संयुक्त ऑपरेशन आज भी चलाया गया हालाकि पुलिस को इस मामले को कोई सफलता नही मिली है लेकिन पुलिस सुत्रो के अनुसार इस मुठभेङ में दो नक्सली को मारे जाने की सुचना है वही इस घटना के अंजाम देने के बाद पुलिस नक्सली पहाङ के पहाड़ की दूसरी तरफ बेलपहाड़ी की ओर निकल जाने की सुचना है बेलपहाङी जो पश्चिम बंगाल के झाड़ग्राम में है। वही दुसरी ओऱ बेलपहाङी पुलिस के द्वारा गहन छापामारी अभियान चलाया जा रहा है जिला के ए एसपी अभियान शलैन्द्र वर्णवाल के झारखंड पुलिस और पश्चिम बंगाल से एएसपी अजीत यादव नेतृत्व कर रहे है पर बुधवार सुबह नक्सलियों के साथ मुठभेड़ के बाद जिले के एस एस पी अमोल बी होमकर घटना स्थल जा कर खुद मोर्चा संभाल लिया हैं। बंगाल की टीम के साथ हुआ मुठभेङ पुलिस के अनुसार चेकाम पहाड़ पर पश्चिम बंगाल और झारखंड पुलिस का संयुक्त ऑपरेशन सुबह पांच बजे शुरू हुआ जो आठ बजे तक चला। पश्चिम बंगाल के बेलपहाड़ी स्थित काकडमझोर गांव से कोबरा जवान चकाम पहाड़ की तरफ बढ़ रहे थे। तभी उनका सामना नक्सलियों से हो गया। जवानों ने मोर्चा संभाला और नक्सलियों पर करीब दो सौ राउंड फायरिंग की। ऑपरेशन में झारखंड के पूर्वी सिंहभूम और पश्चिम बंगाल के झाड़ग्राम जिला पुलिस बल के साथ सीआरपीएफ की कोबरा यूनिट और सीआईएसएफ के जवान शामिल थे।

चिकमा पहाङी भूगौलिक स्थिती

घाटशिला थाना क्षेत्र का चेकाम गांव पश्चिम बंगाल से सटा झारखंड का आखिरी गांव है। इसके बाद जंगल-पहाड़ है जहां से पश्चिम बंगाल प्रदेश की सीमा शुरू होती है। माओवादियों के इस इलाके में जमा होने की सूचना पाकर दोनों राज्यों की पुलिस ने संयुक्त अभियान शुरू किया था। घटना के समय कौन से प्रमुख माओवादी या किसका दस्ता वहां मौजूद था, इस बारे में पुलिस कुछ स्पष्ट नहीं बता पा रही है। लेकिन इस बात की चर्चा है कि चेकाम में सीपीआई माओवादियों के झारखंड-बंगाल-ओडिशा की सीमांचल कमेटी का प्रमुख राकेश अपने साथ सांसद सुनील महतो की हत्या में शामिल रंजीत पाल उर्फ राहुल, राम प्रसाद मार्डी उर्फ सचिन, जयंतो और मदन महतो के साथ आया हुआ है। इनके अलावा इस दस्ते में सोलह और नक्सली हैं।

अमोल होमकर, एसएसपी पूर्वी सिंहभूम

जिला के एसएसपी ने बताया कि बुधवार की सुबह पश्चिम बंगाल और झारखंड पुलिस का संयुक्त ऑपरेशन घाटशिला के चिकना पहाङी पर चलाया जा रहा था उसी दौरान मुठभेङ नक्सलियो के साथ मूठभेङ हो गया जिसमें कोबरा यूनिट का एक जवान शहीद हुआ जबकि सहायक कमांडेंट आलोक कुमार घायल हुए हैं। रांची से पहुंचे हेलीकॉप्टर से उन्हें रिम्स ले जाया गया जहां जवान विकास को मृत घोषित कर दिया गया। जबकि आलोक कुमार की स्थिती ठीक है।

गौरतलब है कि घाटशिला थाना क्षेत्र के चिकामा पहाड़ी पर बुधवार सुबह नक्सलियों के साथ मुठभेड़ में सीआरपीएफ 207 बटालियन की कोबरा यूनिट का एक जवान शहीद हो गया, जबकि सहायक कमांडेंट आलोक कुमार घायल हो गए। कुमार के पैर में गोली लगी है और इलाज के लिए उन्हें रांची ले जाया गया है। शहीद जवान का नाम विकास कुमार है।

Comments are closed.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More