जादूगोड़ा – जुआ का खेल जारी,ग्रामीण अपने कमाई को जुआ के चक्कर में गंवा रहे हैं

संवाददाता,जमशेदपुर ,07 सितबंर
जादूगोड़ा थाना क्षेत्र के डेम के बगल मे दीनबंधु कुष्ठ आश्रम के समीप प्रत्येक रविवार को बड़े पैमाने पर हब्बा – डब्बा जुआ का खेल खेलाया जा रहा है , जुआ संचालको का मन इतना बढ़ा हुआ है की इन्हे पुलिस प्रशासन का भी कोई भय नहीं है और हमेशा ये किसी भी स्थिति से निपटने के लिए तैयार रहते है , ज्ञात हो की इसी जगह के पास 14 जनवरी 2013 मे जुआ हब्बा डब्बा बंद करवाने गए जादूगोड़ा थाना के तत्कालीन इंस्पेक्टर पर हब्बा डब्बा संचालको ने जानलेवा हमला किया था अपनी जान की रक्षा के लिए हवाई फाइरिंग कर किसी तरह इंस्पेक्टर ने अपनी जान बचाई थी ।
यहाँ पर प्रत्येक रविवार को करीब 20 लाख तक का जुआ खेला जाता है जिसके लिए जादूगोड़ा के बाहर से बड़ी संख्या मे अपराधी प्रवृति के लोग यहाँ पहुँचते है , कई लोगो का कहना है की प्रशासन के सहयोग से हब्बा डब्बा खेलाया जा रहा है और पुलिस प्रशासन के लोग भी खेल के दौरान वसूली करने आते है ।
वहीं थाना प्रभारी अरविंद प्रसाद यादव ने पिछले दिनो अभियान चलाकर कई जगहो मे जुआड़ियों को खदेड़ा था और वे लगातार जुआ संचालको पर लगाम लगाए हुए है लेकिन डैम का यह क्षेत्र अंदर होने के कारण थाना प्रभारी की नजरों से बचा हुआ है और यहाँ के जुआ संचालक एक चुनोती बने हुए है अब देखा यह है की यहाँ के संचालक कब तक थाना प्रभारी के नजरों से बचे रहेंगे ।
ग्रामीण राधेश्याम सिंह ने बताया की जुआ के दौरान बड़ी संख्या मे ग्रामीणो के शामिल होने के कारण कई घर बर्बाद हो रहे है , घरो मे हमेशा तनाव का माहोल बना रहता है और हमेशा अनहोनी की संभावना बनी रहती है ।
यहाँ यह भी बताना जरूरी है की हब्बा डब्बा खेल के दौरान गोली चालन घटना के बाद कोल्हान के तत्कालीन डीआईजी अरुण कुमार सिंह ने 22-04-2013 को जादूगोड़ा थाना आकर मामले की जांच की थी और उन्होने अपने रिपोर्ट मे लिखा है की जादूगोड़ा थाना की बदनामी जुआ और हब्बा डब्बा को लेकर हो रही है इसपर प्रभावी ढंग से रोक लगाई जाए , इसके बावजूद भी निरंतर हब्बा डब्बा का खेल जारी है और इसपर कोई रोक नहीं लगाई गयी है

Comments are closed.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More