कर्मचारियों के स्वास्थ्य के लिए मूवमेंट फॉर मूवमेंट से जुड़ा टाटा स्टील

संवाददाता.जमशेदपुर.31 अगस्त
वैश्विक स्तर पर कॉर्पोरेट पेशेवरों के बीच स्वास्थ्य की दिशा में क्रांति का निर्माण करने के लिए बनाया गया स्टेप्थलान इस साल तीसरे वर्ष में प्रवेश कर रहा है। टाटा स्टील के कर्मचारी इस 100 दिन की दौड़ में भाग लेंगे, जो 3 सितंबर से शुरू होकर 11 दिसंबर 2014 को खत्म होगी। यह दौड़ पेशेवरों को पूरे साल स्वास्थ्य को मजबूत बनाए रखने और उसे प्राप्त करने की प्रतिबद्धता में मदद करेगी। स्टेप्थलान ने 12 महीने का नया कार्यक्रम जो पेश किया है, उसकी शुरूआत रविवार को जुबली पार्क से की गयी। रविवार की सुबह जुबली पार्क में हुई असली कॉर्पोरेट दौड़ में टाटा स्टील के अधिकारी और कर्मचारी शामिल हुए। टाटा स्टील के प्रबंध निदेशक टीवी नरेंद्रन सपत्नी दौड़ में शामिल हुए। जुबली पार्क में स्थित जमशेदजी नसरवानजी टाटा की प्रतिमा के समक्ष टाटा स्टील के प्रबंध निदेशक टी.वी. नरेंद्रन और स्टेप्थलान के मुख्य कार्यकारी अधिकारी रवि कृष्णन ने झंडा दिखाकर दौड़ को रवाना किया। टाटा स्टील के प्रबंध निदेशक टी.वी. नरेंद्रन ने इस अवसर पर कहा कि हम स्टेप्थलान के साथ जुडकर काफी प्रसन्न हैं। हम इसके प्रति सकारात्मक हैं कि यह हमारे संगठन पर गहरा सकारात्मक प्रभाव डालेगा। हमारा विश्वास है कि इस तरह की गतिविधियां कार्यस्थलों पर काफी स्वस्थ और प्रतिस्पर्धात्मक माहौल का निर्माण स्थापित करेगी। यह कर्मचारियों की व्यक्तिगत स्तर पर उनकी वचनबद्धता तक पहुंचने का एक अच्छा तरीका है। टीवी नरेंद्रन ने आगे कीा कि टाटा स्टील सुरक्षा पर विशेष ध्यान देती हैं, इसी के तहत कर्मचारियों के स्वास्थ्य के लिए यह कदम उठाया गया हैं। श्री नरेन्द्रन ने कहा कि जुबली पार्क जैसा पार्क सभी जिलों में होना चाहिए, ताकि स्वास्थ्य रहने के लिए आम लोग पार्क में टहल सकें तथा उन्हें स्वच्छ हवा मिलें।इस मौके पर टाटा स्टील के वाइस प्रेसीडेंट (एचआरएम) सुरेश दत्त त्रिपाठी ने कहा कि स्टेप्थलान कर्मचारियों के साथ वचनवद्ध रहने का एक अच्छा तरीका है जो केवल प्रतिस्पर्धात्मक माहौल का ही निर्माण नहीं करता है, बल्कि उन्हें उनके स्वास्थ्य में दिलचस्पी रखने के लिए भी प्रेरित करता है। हम उम्मीद करते हैं कि स्टेप्थलान के माध्यम से एक लक्ष्य और टीम उन्मुख वातावरण के साथ स्वास्थ्य को एक जरूरत के रूप में बढ़ावा देने पर उन्होंने बल दिया। इस मौके पर स्टेप्थलान के मुख्य कार्यकारी अधिकारी रवि कृष्णन ने टाटा स्टील की प्रंशासा करते हुए कहा कि कंपनियां इस मजेदार कार्यक्रम को लेकर काफी उत्सुक हैं। प्रतियोगिता आधारित यह स्वास्थ्य कार्यक्रम कर्मचारियों और कंपनी को बीमारी से स्वास्थ्य में परिवर्तित करने पर ध्यान देता है। उन्होंने कहा कि हम काफी उत्साहित हैं कि स्टेप्थलान के तीसरे संस्करण में टाटा स्टील हमारे ग्राहक के रूप में साथ है। गति के आधार पर इसने जो हासिल किया है, उससे स्पष्ट है कि स्टेप्थलान की 100 दिन की दौड़ का पिछला दो संस्करण दुनिया भर में कर्मचारियों को आनंद के रास्ते पर लाने में मदद की है। अधिक उत्पादक जीवन शैली का निर्माण किया है जो संगठनों को लाभदायक बनाने में अग्रणी रहे हैं। पिछले संस्करण के पहले और बाद में जो सर्वेक्षण किया गया था, उससे यह संकेत मिलता है कि स्टेप एथलीट कार्य पर उत्पादकता में 33 फीसदी की वृद्धि किए हैं जबकि कार्यस्थल की वचनबद्धता में 34 फीसदी की वृद्धि किए हैं और अनुपस्थित होने में 28 फीसदी की कमी आई है। मालूम हो कि स्टेप्थलान पैदल आधारित जनभागीदारी की दिशा में स्वास्थ्य से संबंधित एक पहल (इनीशिएटीव) है, जो कॉर्पोरेट सेक्टर में गति का निर्माण करता है और पूरे विश्व में कंपनियों से अदभुत प्रतियोगियों को एकत्र करता है। 100 दिन की इस दौड़ का पिछला संस्करण इस बात का गवाह रहा है कि इसमें 31,000 स्टेप्थलेट्स ने भागीदारी की। इस साल शुरुआती संकेत से उम्मीद है कि यह आंकड़ा 60,000 से अधिक हो सकता है।

Comments are closed.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More