Breaking News :
जमशेदपुर - मुख्यमंत्री शैक्षिक भ्रमण योजना के तहत बालक एवं बालिकाओं का चयन | जमशेदपुर - बारिश से मिट्टी के कई घर क्षतिग्रस्त, डॉ गोस्वामी ने कटशोल गाँव का दौरा कर ग्रामीणों के बीच तिरपाल वितरण किया | जमशेदपुर - धरती के भगवान का आशीर्वाद लेने आया हूं - धर्मेंद्र प्रसाद | जमशेदपुर - समाधान ने खड़ियाकोचा के निवासियों को पहनाए चप्पल, बाँटी गयी खाद्य सामाग्री | जमशेदपुर - बागबेड़ा में सैकड़ों ने ली भाजपा की सदस्यता | जमशेदपुर - दिव्यांगो को नही मिल रहा है पेंशन ,नाराज होकर पहुंचे DC कार्यालय | नई दिल्ली : 35 हजार तक के लोन को माफ कर सकती केंद्र सरकार बना रही योजना | नई दिल्ली : एस बी आई होम लोन के पुराने कस्टमर की मासिक किस्त हो सकती है कम | रांची : झारखंड विधानसभा भवन और जल मार्ग विकास परियोजना का उद्वघाटन करेगें पीएम | जमशेदपुर -बेटियों के लिए उपवास कार्यक्रम संपन्न | जमशेदपुर -संजय मिश्रा के नेतृत्व में बागबेड़ा में कल सैकड़ों लोग लेंगे भाजपा की सदस्यता  | जमशेदपुर - “झारखण्ड महोत्सव -2019” का समापन | जमशेदपुर - हावड़ा – हटिया योगा एक्सप्रेस आज से LHB में | महाराष्ट्र में बड़ा सड़क हादसा, बस और कंटेनर की भिड़ंत में 11 की मौत, 20 लोग घायल | चक्रधरपुर -संजय नदी में अचानक पानी बढ़ने से चक्रधरपुर में बाढ़ के हालात, एनडीआरएफ ने संभाला मोर्चा | सरायकेला - राष्ट्रीय जनता दल लोकतांत्रिक ने औद्योगिक मंदी के लिए सरकार को ठहराया जिम्मेवार, जियाडा के समक्ष जोरदार धरना-प्रदर्शन | जमशेदपुर - गम्हरिया थाना के पास किया अपहरण का प्रयास | जमशेदपुर - कुमार आशीष कि आत्मा की शांति एवं न्याय दिलाने हेतु कैंडल मार्च | जमशेदपुर - उच्च शिक्षा के लिए बिरसानगर के अभिनव को सीएम से मिली एक लाख की प्रोत्साहन राशि | जमशेदपुर - प्रथम पुण्यतिथि पर याद किये गए भारत रत्न 'अटल जी', भाजपाईयों ने मनाया सेवा दिवस |

करो या मरो के मुकाबले में उतरेंगी बेंगलुरू, नार्थईस्ट

बेंगलुरू, 10 मार्च। बेंगलुरू एफसी ने हीरो इंडियन सुपर लीग (आईएसएल) के पांचवें सीजन में घर में कई मुकाबले खेले और जीत हासिल की, लेकिन उसकी अभी तक की सबसे बड़ी परीक्षा सोमवार को होनी हैं जब वह पहले सेमीफाइनल के दूसरे चरण में नार्थईस्ट युनाइटेड से श्री कांतीरावा स्टेडियम में भिड़ेगी। इस मैदान को बेंगलुरू का किला कहा जाता है।

श्री कांतीराव को बेंगलुरू एफसी का किला किसी कारण से कहा जाता है। यहां कोई भी टीम जीत हासिल करने से पहले दो बार सोचती है। कई टीमों ने कोशिश की लेकिन सफल नहीं हो सकी। अतीत में कई बार बेंगलुरू ने बताया है कि वह यहां किसी भी स्थिति मे जीत सकती है। अब देखना होगा कि क्या वह आखिरी बार ऐसा कर पाती है या नहीं।

उसे यहां पूरे तीन अंक चाहिए। दूसरे चरण में जब वह नार्थईस्ट के साथ उतरेगी तो यहां उसकी साख दांव पर होगी।

गुवाहाटी में खेले गए पहले चरण के मैच में कार्लोस कुआड्राट की टीम को नार्थईस्ट ने 2-1 से हार सौंपी थी। इस हार ने बेंगलुरू के बीते पांच मैचों के खराब फॉर्म को जारी रखा था जहां उसे सिर्फ एक जीत ही मिली थी जबकि तीन हार भी उसके हिस्से आई थी।

कुआड्राट ने कहा- हम एक बड़े मैच के लिए तैयार हैं। हम अच्छे मूड में हैं। हमें उम्मीद है कि कांतीरावा में घरेलू समर्थकों के सामने हम उन्हें वो मैच दे सकते हैं जो वो हमेशा याद रखेंगे।

बेंगलुरू के पास इस अहम मैच में उतरने से पहले घर से बाहर गुवाहाटी में किया गया एक गोल है जो सिसको फर्नांडेज ने किया था। घर से बाहर गोल का मतलब है कि यहां सिर्फ एक गोल से जीत उसके लिए काफी होगी।

बेंगलुरू के कोच अपने मुख्य खिलाड़ियों मीकू और सुनील छेत्री के भरोसे होंगे।नार्थईस्ट युनाइटेड एफसी के कोच एल्को स्कोटेरी को एक शानदार जीत के बाद अपने संसाधनों को और मजूबत करना होगा। पहले चरण में जीत के लिए उसे कीमत चुकानी पड़ी थी। पहली बार आईएसएल के प्लेऑफ में जगह बनाने वाली नार्थईस्ट को बेंगलुरू में अपने स्टार खिलाड़ी बार्थोलोमेव ओग्बेचे के बिना उतरना होगा।

पहले चरण के मैच में ओग्बेचे को मांसपेशियों में खिचांव हो गया था। मेहमान टीम अपने मिडफील्डर रोवलिन बोर्जेस की फिटनेस समस्या से भी जूझ रही है जिन्हें गुवाहाटी में दूसरे हाफ में बाहर जाना पड़ा था।

ओग्बेचे की गैमौजूदगी में नार्थईस्ट की टीम फेड्रेरिको गालेगो के ऊपर निर्भर करेगी। यह खिलाड़ी नार्थईस्ट के यहां तक के सफर का अहम हिस्सा रहा है। गालेगो की हमवतन जुआन मासिया के साथ साझेदारी टीम के लिए बेहद काम की साबित हो सकती है।

स्कोटेरी ने कहा- मैं जानता हूं कि बेंगलुरू एफसी किस तरह से खेलती है और वो जानते हैं कि हम किस तरह से खेलते हैं। पिछले मैच में पहले हाफ में हम उन पर हावी रहे थे। हमने दो अहम खिलाड़ी खो दिए थे। दूसरा हाफ हमारे लिए और मुश्किल था। हम जानते हैं कि यह मैच हमारे लिए करो या मरो की तरह है। हमारी कोशिश फाइनल में जाने की होगी।

दोनों कोच जानते हैं कि यह निर्णायक मुकाबला है। दोनों कोच अपने उत्तराधिकारी के बिना उतरेंगे क्योंकि पहले चरण के मैच में हुए विवाद के कारण उन्हें प्रतिबंधित कर दिया था। दोनों जानते हैं कि इस मैच में काफी कुछ दांव पर लगा है।

0