Breaking News :
जमशेदपुर -ई-रिक्शा पर सवार हो समाधान के विवाह मंडप पहुँचें दूल्हे राजा, सात जन्मों के बंधन में बंधे 15 जोड़े | Deliberations and Celebrations continue at Samvaad on Day – 3 | जमशेदपुर-मै पूर्वी जमशेदपुर से लड़ुंगा, पश्चिम में कार्यकर्ता और जनता लड़ेगी चुनाव- सरयु रॉय | जमशेदपुर -शकुंतला खीरवाल के आंखों का दान  | काश! जीएसटी की 'पटरी' भी बुलेट के समान होती! - अतुल मलिकराम | जमशेदपुर --जिला निर्वाचन पदाधिकारी की अध्यक्षता में मास्टर ट्रेनर की बैठक | जमशेदपुर -रामचन्द्र सहिस सहित 26 लोगो ने किया नामांकन.31 लोगो ने लिया नामांकन | जमशेदपुर -मेहंदी हल्दी की रस्म पूरी, आज बजेगी शहनाई, कल एक-दूजे संग 15 जोड़े लेंगे फेरे | जमशेदपुर -समाधान के सामूहिक शुभ विवाह समारोह की तैयारियाँ पूरी, पंद्रह बेटियों की हल्दी, मेहंदी और संगीत की रस्म अदायगी कल | जमशेदपुर-मेनका, समीर, कुणाल सहित कुल 13 ने भरा पर्चा | जमशेदपुर-एसई रेलवे के चीफ इंजिनियर विजय कुमार साहू बने चक्रधरपुर रेल मंडल के नये डीआरएम | जमशेदपुर - ACB को मिली सफलता.सहायकअभियंता के घर से दो करोड़. 44 लाख.80 हजार नगद बरामद | चाईबासा -बड़कुवर गागराई  को टिकट नहीं मिलने से नाराज मझगाव विधानसभा के भाजपाइयों ने दिया सामूहिक इस्तीफा | क्या उर्मिला और महेंद्र अभिषेक और गायत्री को करीब ला पाएंगे? | जमशेदपुर -भाजपा जमशेदपुर महानगर ने मनाई बिरसा मुंडा जयंती, प्रतिमा पर किया माल्यार्पण | कार्तिक आर्यन, भूमि पेडनेकर और अनन्या पांडे की फिल्म 'पति पत्नी और वो' का सांग 'धीमे-धीमे' हमें डांस करने के लिए उत्साहित करता है| | उषा ने लॉन्च किए डिज़ाइनर कुकटॉप्स- लस्ट्रा ग्लास, किचन अप्‍लायंसेज रेंज को किया सुदृढ़ | &TV वरील मालिका 'गुडिया हमारी सभी पे भारी'मध्‍ये महानायक अमिताभ बच्‍चन दिसणार? | जमशेदपुर -सोनार तोरी का परसुडीह में सांस्कृतिक कार्यक्रम आयोजित | जमशेदपुर -भाजपा के राष्ट्रीय मंत्री सुरेश पुजारी ने विधानसभा कोर कमिटियों संग की बैठक |

एक झाड़ू दिमाग को स्वच्छ बनाने के लिए – अतुल मलिकराम

अब आयी दिमाग पर झाडू लगाने की बारी

सड़को पर पड़ा कूड़ा तो हटा लिया, दिमाग में भरा कूड़ा कब हटायेंगे?

स्वस्थ मानसिकता, स्वच्छ भारत

इंदौर। भारत की सड़के, जो पहलें कूड़ें से भरी रहती थी, अब वो साफ-सुथरी और हरी-भरी नजर आने लगी है। फिर भी एक सवाल मन में खटकता है कि क्या भारत अपने स्वच्छता मिशन में पूरी तरह कामयाब हो पाया है? शायद नही।

आप सोच रहें होंगे कि आखिरकार मै ऐसा क्यूं कह रहा हूं जबकि अब तो दूसरें देश  भी अब उनके देश  को स्वच्छ बनाने के लिए भारत के स्वच्छता माॅडल को अपना रहे हैं। मै ऐसा इसलिए कह रहा हूं दोस्तो क्योंकि एक देश बनता है उसके वासियों से। मै पूछना चाहता हूं आपसे कि क्या आपने, कभी अपने दिमाग पर झाडू लगाया है?

दोस्तों, हमने घर-आंगन और सड़के तो साफ कर ली, लेकिन हमारा दिमाग उसे तो साफ करना हम भूल ही गयें। अगर साफ होता तो चोरी, भ्रष्टाचार, बलात्कार, हत्याएं न होती। हम नन्हें हाथों में कलम पकड़ाते न कि उन्हें बाल मजदूर बनाते।  भ्रूण हत्याएं न होती, दहेज की लपेटों में वो चीखें न उठती, दिलों में इतनी नफरते न होती, गरीबी और अमीरी के बीच ये खायी ना होती। अफसोस ऐसा नही है, क्योंकि हमारे दिमाग का कचरा साफ नही है।

काश! हमारे दिमाग में भरा कचरा साफ होता तो हमारें दिलों में करूणा होती, ममता होती, प्यार होता, दया होती, मदद की भावना होती है तो हम गर्व से कह सकते थे कि देश स्वच्छ हो रहा है।

दोस्तों,देश तभी स्वच्छ बन सकेगा, जब हमारा दिमाग स्वस्थ बन पायेगा। मै चाहता हूं कि वो दिन जल्द आये जब एक या दो देश नही बल्कि पूरी दुनिया भारत का एक और आदर्श  नमूना प्रस्तुत करे। नमूना ‘ स्वस्थ मानसिकता, स्वच्छ भारत का।‘ इसीलिए अपने दिमाग पर भी झाडू लगायें और भारत को सही मायनों में स्वच्छ बनायें।

0

Leave a Reply