BIHAR NEWS दीपाली व छठ में दुसरे प्रदेश से बिहार आने वाले लोगो की होगी कोरोना जांच, लगेगी वैक्सीन

CM नीतीश ने स्वास्थ्य विभाग को दिया निर्देश

271

PATNA
प्रदेश मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने स्वास्थय विभाग के साथ समीक्षा बैठक में स्पष्ठ निर्देश दिया है कि दीपाली व छठ पर्व में बाहर से बिहार आने वाले लोगो का कोरोना जांच कराया जाए।यही नही कोरोनो वैक्सीन के लिए शिविर भी लगाए जाए।यही नही अगर उन्होंने टीका ले लिया है या आरटीपीसीआर जांच करवाई है तो उसका प्रमाण पत्र अपने साथ जरूर रखें। वे शनिवार को स्वास्थ्य विभाग की समीक्षा बैठक में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने इस बाबत अधिकारियों को आवश्यक निर्देश दिए
मुख्यमंत्री के सरकारी आवास एक, अणे मार्ग स्थित संकल्प में स्वास्थ्य विभाग की समीक्षा बैठक हुई। बैठक में स्वास्थ्य विभाग के अपर मुख्य सचिव प्रत्यय अमृत ने प्रस्तुतीकरण के माध्यम से कोरोना के साथ-साथ अन्य बीमारियों को लेकर विभाग द्वारा किये जा रहे कार्यों की अद्यतन स्थिति की विस्तृत जानकारी दी। राज्य में कोरोना संक्रमण की स्थिति, कोरोना जांच एवं वैक्सीनेशन के साथ ही ब्लैक फंगस, टीबी सहित अन्य बीमारियों के संबंध में बताया।
बैठक के दौरान मुख्यमंत्री ने कहा कि दीपावली एवं छठ महापर्व पर देश के अन्य राज्यों में रह रहे बिहार के लोग बड़ी संख्या में यहां आते हैं। उन सभी की कोरोना जांच कराएं। अगर उनका अभी तक टीकाकरण नहीं हुआ है, तो उनका टीकाकरण भी अवश्य कराएं। अन्य राज्यों में बिहार के रह रहे लोगों को प्रचार-प्रसार के माध्यम से यह जानकारी दें कि अगर उन्होंने अपना टीकाकरण और आरटीपीसीआर जांच करा लिया है तो उसका प्रमाण पत्र साथ रखें।
बस स्टैंड,रेलवे स्टेशन व इंटरस्टेट बॉर्डर चेक प्वाइंट पर विशेष नजर- CM
मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने   रेलवे स्टेशन, बस स्टैंड और इंटर स्टेट बॉर्डर चेक प्वाइंट पर बाहर से आने वालों पर विशेष नजर रखने की निर्देश दिया है। उन्होनें इन  जगहों पर भी कोरोना जांच की व्यवस्था रखनें को कहा हैं ।यही नही उन्होनें  नेपाल से सटे राज्य के सीमावर्ती जिलों में भी कोरोना संक्रमण को लेकर विशेष सतर्कता बरतने का निर्देश दिया हैं। उन्होने कहा है कि  टीकाकरण के साथ-साथ कोरोना जांच भी महत्वपूर्ण है। यही नही उन्होनें कोरोना जांच का दायरा बढाने को कहा है।  यदि कोई भी व्यक्ति बाहर से आने वाले में अगर कोरोना पॉजिटिव पाए जाते हैं तो उनका आरटीपीसीआर जांच कर यह सुनिश्चित कर लें कि वे कोरोना पॉजिटिव हैं या नहीं। माइकिंग के माध्यम से प्रचार- प्रसार कर लोगों को कोरोना संक्रमण के प्रति सचेत और जागरुक करते रहें।

आधार कार्ड नहीं हो तो दूसरे पहचान पत्रों से कराएं टीकाकरण – मुख्यमंत्री
मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने  बैठक में निर्देश दिया है कि  बिहार में बचे हुए लोगों का टीकाकरण भी तेजी से कराएं। जिनके पास आधार कार्ड नहीं होने के कारण वैक्सीनेशन नहीं हो पाया है, उनका किसी दूसरे पहचान पत्र के आधार पर टीकाकरण जल्द से जल्द कराएं। साथ ही वैसे लोगो का आधार कार्ड भी अवश्य बनवाएं।

 

Comments are closed.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More