जमशेदपुर-स्वर्णरेखा के जलस्तर पर रखी जा रही है नजर, नियुक्त किए गए मजिस्ट्रेट

 

डीसी तथा एसडीओ ने बाढ़ संभावित क्षेत्रों में सतर्कता बढ़ाने हेतु दिए निर्देश

जमशेदपुर।

दो दिन से लगातार हो रही भारी वर्षा के कारण तटवर्तीय इलाकों में सतर्कता बरतने तथा किसी भी आपात स्थिति से निपटने के लिए जिला प्रशासन पूरी तरह सतर्क है। चाण्डिल डैम से पानी छोड़े जाने के उपरान्त उपायुक्त  अमित कुमार ने अपर उपायुक्त, एसडीओ, सीओ, डीपीआरओ तथा दोनों अक्षेस के पदाधिकारियों को स्वर्णरेखा नदी के तटवर्तीय इलाकों में विशेष नजर रखने को कहा। उपायुक्त के निर्देश पर जिला जन सम्पर्क कार्यालय की ओर से स्वर्णरेखा के तटवर्तीय इलाकों में लोगों से सतर्क रहने के लिए ध्वनि विस्तारक द्वारा मानगो ओल्ड पुरूलिया रोड से हड्डी गोदाम तक बाढ़ संभावित क्षेत्रों विशेषकर यीशु भवन के पीछे के क्षेत्र में रहने वाले निवासियों को विस्तृत रूप से सतर्क रहने के लिए कहा गया। पोस्ट आॅफिस रोड के निचले क्षेत्र, गौड़ बस्ती, शांतिनगर आदि क्षेत्रों में भी एहतियात बरतने की सूचना दी गई। वहीं अनुमण्डल पदाधिकारी श्री सूरज कुमार ने कदमा, शास्त्रीनगर, सोनारी, जुगसलाई, बागबेड़ा आदि क्षेत्रों मंे चार वरीय मजिस्ट्रेट नियुक्त किए हैं, उन्होंने डेªगन लाईट, रस्सा, लाईफ जेकेट, पैडल वोट, एम्बूलेंस आदि की व्यवस्था के साथ अधिकारियों को सतर्क रहने को कहा। स्वर्णरेखा डैम डिवीजन-2, चाण्डिल के कार्यपालक अभियंता श्री बिनय कुमार वर्णवाल ने जिला प्रशासन को आज 11.08.2016 को सुबह 10ः00 बजे डैम से पानी छोड़ने के बारे में सूचित किया था। उक्त पानी के दोपहर 2ः00 बजे तक जमशेदपुर आने की संभावना थी। उक्त के आलोक में उपायुक्त ने सतर्कता सम्बंधी निर्देश जारी किया था। यद्धपि दिन में 12ः00 बजे, 2ः00 बजे तथा 4ः30 बजे तीन बार नदी तट का निरीक्षण करने पर नदी के जलस्तर पर कोई आशातीत वृद्धि नहीं दिखी। यानि बाढ़ संभावित क्षेत्रों में फिलहाल किसी प्रकार की खतरे की स्थिति नहीं है।

Comments are closed.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More