जमशेदपुर -कंगना पागल हो गयी है उसका इलाज ज़रूरी : SATNAM

बुजुर्ग किसान महिला का अपमान कंगना ही कर सकती है हम चंदा कर उसका इलाज करवाएंगे

75

जमशेदपुर। ऑल इंडिया सिख स्टूडेंट फेडरेशन पूर्वी भारत के प्रधान SATNAM SINGH गंभीर ने कहा कि किसान देश का अन्नदाता है। यदि वह महिला है तो उसके प्रति आदर के साथ सर झुक जाता है। उस पर भी यदि कोई 73 साल की बुजुर्ग महिला किसान है तो वह पूजनीय है। 73 साल की बुजुर्ग किसान महिला की शान के खिलाफ कोई गलत सुनना पसंद नहीं करेगा। गलत कहने वाली की तो जुबान खींच लेनी चाहिए।
लेकिन अभिनेत्री कंगना राणावत को आखिर ताकत कौन दे रहा है कि वह इस देश में किसानों और खासकर बुजुर्ग महिला का अपमान कर रही है।
पंजाब के भटिंडा जिले के बहादुरगढ़ जांडियन गांव की 73 वर्षीय किसान महिला महेंद्र कौर को शायद कंगना राणावत ने अपनी तरह कलाकार समझ रखा है जो पैसे लेकर काम करते हैं। क्योंकि कलाकार कोई भी किरदार में नजर आता है तो वह बिना पैसा लिए बिना एग्रीमेंट कराए काम नहीं करता है। वास्तव में कंगना राणावत के विरासत में ही कुछ गलत है। वे पावर के बिना नहीं रह सकते हैं। कंगना असल में तो इस देश के खिलाफ है।उसके ट्वीट बताते हैं कि उसके दिल में कितना नफरत एवं जहर है।
यही जहर हमारे पंजाब की बुजुर्ग महिला के प्रति उसने उ गला है। इस बार कंगना ने गलती कर दी है।यह शिवसेना और उद्धव ठाकरे नहीं है जिसके खिलाफ कंगना बोल रही थी।
पंजाब की पानी में क्रांति है पंजाब के पानी में बदलाव है पंजाब के पानी में शोषण के खिलाफ लड़ने की ताकत है।पंजाब नहीं देश की आजादी का राह दिखाया था।हां अब नए देश भक्त है वह नए तरीके से इतिहास लिखेंगे और पंजाब के गौरव पर सवाल निश्चय उठाएंगे। शायद उनके इशारे पर ही कंगना इस तरह की बातें देश में फैला रही है।
क्योंकि कंगना राणावत का बुजुर्ग महिला महेंद्र कौर के प्रति ट्वीट यह दिखाता है कि वह जहरीली है और शायद मानसिक संतुलन भी खो चुकी है।
जहरीले नाग को आसपास नहीं रखा जाता है। उसका फन कुचल दिया जाता है।यदि व्यक्ति का मानसिक संतुलन बिगड़ जाए तो परिवार भी ऐसे व्यक्ति को अपने साथ नहीं रखता है।
ऐसे में ऑल इंडिया सिख स्टूडेंट्स फेडरेशन कंगना राणावत को मानसिक आरोग्यशाला में भेज रहा है जहां वह अपना इलाज कराएं।देश की बहुलवादी संस्कृति बहुलवादी भाषा विरासत परंपरा का वहां वह सम्मान करना सीखें इसके लिए विद्वान भी वहां भेजे जाएंगे।
सतनाम सिंह गंभीर ने प्रधानमंत्री गृह मंत्री एवं भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष से अपील की है कि वे ऐसे जहरीले नाक को जो जेड प्लस की सुरक्षा की रखी है उसको हटा दिया जाए। अन्यथा समाज में और राष्ट्र में यह संकेत जा रहा है कि अभिनेत्री कंगना राणावत उनके इशारे पर ही समाज में जहर घोल रही है।सतनाम सिंह गंभीर ने कहा कि वे सुप्रीम कोर्ट के मुख्य न्यायाधीश राष्ट्रपति एवं प्रधानमंत्री को भी पत्र लिख रहे हैं कि कंगना के लिए अच्छी व्यवस्था की जाए जिससे वह समाज में इस तरह का जहर या मानसिक दिवालियापन के शब्दों का इस्तेमाल भविष्य में नहीं कर सके।

Comments are closed.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More