Saraikela Kharsawan Police Success :पटना में भी हुआ कन्हैया सिंह की हत्या का प्रयास

445
TATA-STEEL_810

सरायकेला।

सरायकेला -खरसावा पुलिस ने ईचागढ़ के पूर्व विधायक अरविंद सिंह के साले सह व्यावसायी कन्हैया सिंह की हत्या का

प्रयास पटना में किया गया था.

लेकिन अपराधी अपनें मसुबें में कामयाब नही हो सके थे। इस बात की जानकारी सरायकेला -खरसावा जिला के एस पी

आनन्द प्रकाश   सरायकेला -खरसावा पुलिस ने ईचागढ़ के पूर्व विधायक अरविंद सिंह के साले सह व्यावसायी कन्हैया सिंह

की हत्या के उदभेदन के दौरान दी ।

इस मामले में पुलिस ने मृतक कन्हैया सिंह की बेटी अर्पणा सिंह उसके प्रेमी राजबीर सिंह सहित चार लोगो को गिरफ्तार कर

लिया है।

हालांकि अभी भी पुलिस इस मामलें को दो आरोपी को पकड़ने के लिए छापामारी कर रही हैं.पुलिस के अनुसार दोनो की

गिरफ्तार के लिए छापामारी जारी है।

शुक्रवार को एसपी आनंद प्रकाश ने इसका उदभेदन करते हुए बताया  है कि बेटी अर्पणा सिंह  ने प्रेम प्रसंग को लेकर ही

प्रेमी और उसके साथियों के साथ मिलकर कन्हैया सिंह की हत्या करवाई थी

.इसकी साजिश तीन साल से चल रही थी. इसके पूर्व 20 जून को भी पटना में कन्हैया सिंह की हत्या का प्रयास किया गया था,

पर किसी कारणवश हत्यारे अपनी मंशा में सफल नहीं हो सके.

इसके बाद 29 जून को राजबीर सिंह ने अपने साथी निखिल गुप्ता ने सौरभ किस्कू, छोटू दिग्गी और रवि सरदार के साथ

मिला हत्या कर दी.

उन्होंने बताया कि सौरभ किस्कू ने 8,500 रुपये में निखिल को कट्टा दिलाया था. निखिल गुप्ता ने ही गोली चलायी थी.

घटना को अंजाम देने के बाद सभी मौके से फरार हो गये थे. निखिल गुप्ता किसी और रास्ते से भागा, जबकि सौरभ और

छोटू दिग्गी अलग दिशा में भागे.

इस घटना के बाद पुलिस पर सवाल उठाए जा रहे थे संवाददाता सम्मेलन में आरक्षी अधीक्षक ने बताया कि अर्पणा का

उसके प्रेमी के साथ पिछले 5 वर्षों से प्रेम संबंध चल रहा था.

पिता कन्हैया सिंह को यह संबंध स्वीकार नहीं था वह अपनी बेटी एवं उसके प्रेमी को कई बार डांट फटकार कर चुके थे।

कन्हैया सिंह ने अपने कार्यालय में राजवीर को बुलाकर उसकी कनपटी पर रिवाल्वर सटाकर उसके साथ मारपीट की और

धमकी भी दी थी।

दबाव में आकर राजगीर सिंह के पिता ने आदित्यपुर स्थित अपना आवास ओने पौने दाम में बेच कर मानगो भाड़े के मकान

में रहने लगे थे।
इसके बाद अपर्णा ने संदेश भेजकर राजवीर से बात करने की कौशिश की लेकिन लड़का तैयार नहीं हुआ।

इसके बाद अपर्णा ने लड़के पर दवाब बनाने के लिए चूहा मारने की दवा खाते हुए वीडियो बनाते हुए बनाकर लड़के को

भेजा।

इसके बाद लड़का फिर बात करने लगा।

इसके बाद लड़का ने लड़की से कहा कि जब तक तुम्हारे पिता रहेंगे हम मिल नहीं सकेंगे ।

इसी के बाद अपने प्रेमी कन्हैया सिंह की हत्या की योजना बनाने लगा।

आदित्यपुर स्थित अपने पुराने दोस्त निखिल गुप्ता से संपर्क किया। उसे सारी बातें कही।

निखिल ने भी कहा कि कन्हैया सिंह उसे भी कई बार बेइज्जत किया है।

उधर बेटी अपने प्रेमी को पिता की हर गतिविधि की सूचना देने लगी थी।

इसके बाद राजवीर को कन्हैया सिंह की हर गतिविधि के जानकारी होने लगी 10 june 2022 को अपर्णा ने राजवीर को

बताया कि उसके पिता सोनपुर गए हुए हैं वहां पर उसके नाबालिग दोस्त ने एक व्यक्ति से संपर्क कर हथियार उपलब्ध

कराया सोनपुर लड़की के बताए अनुसार कन्हैया सिंह को मारने के लिए राजवीर, निखिल और अपने दोस्त के साथ गया।

लेकिन वहा भीड़भाड़ होने के कारण वे सफल नहीं हो पाए

Comments are closed.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More