जमशेदपुर-सूचना भवन में काव्य संध्या: स्वतंत्रता दिवस की पूर्व संध्या पर साहित्यकारों ने पढ़ीं कविताएं

 

 

’’हमें तों इस तिरंगे में शहीदो तुम नजर आये’’

 

जमशेदपुर।

जिला सूचना एवं जन सम्पर्क कार्यालय परिसर स्थित पुस्तकालय कक्ष में काव्य संध्या का आयोजन किया गया। उक्त आयोजन देश के 70 वें स्वतंत्रता दिवस की पूर्व संध्या के उपलक्ष्य में रखा गया। इस कार्यक्रम में शहर के प्रसिद्ध कवियों/कवयित्रियों ने तिरंगे के समक्ष बैठ कर राष्ट्र प्रेम से ओतप्रोत अपनी रचनाओं का पाठ किया। कार्यक्रम की शुरूआत भारत माता के चित्र पर पुष्पार्पण करके किया गया। कवयित्री श्री उमा सिंह की रचना ’’जांबाजों के दम पर ही तो हिन्द देश हमारा है’’ से आरम्भ हुए कवि सम्मेलन में श्यामल सुमन ने ’’नमन मेरा है वीरों को’’, शैलेन्द्र पाण्डेय ’’शैल’’ ने ’’रूह बनकर सरहदों पर हर तरफ फिरता हूँ मैं’’, बीणा पाण्डेय ने ’’हमें तों इस तिरंगे में शहीदो तुम नजर आये’’, शैलेन्द्र अस्थाना ने भगत सिंह को समर्पित कविता, उदय प्रताप हयात ने ’’पहले हम हिन्दुस्तानी हैं’’, डीपीआरओ संजय कुमार ’’हम वतन नहीं जलने देंगे’’, रमन अकेला ने ’’फौजी तेरा साथ हमको जान से भी प्यारा है’’, ममता सिंह ने ’’पिघले हुए शीशे से कुछ चेहरे उभरने लगें हैं’’, ज्योत्सना अस्थाना ने ’’मेरे गीत वहीं तुम जाना’’, नन्द कुमार उन्मन ने ’’प्यार के दीप जला लेते तुम’’, वरूण प्रभात ने ’’थोड़ी धूप थोड़ी छांव तलाशो’’ आदि रचनाएं प्रस्तुत कर देश को स्वतंत्र कराने वाले महान शहीदों व क्रांतिकारियों को श्रद्धांजलि अर्पित की। काव्य संध्या की अध्यक्षता वरिष्ठ कवि श्री नन्द कुमार ’’उन्मन’’ ने की जबकि संचालन वरूण प्रभात ने किया। धन्यवाद ज्ञापन  ऑल  इंडिया रेडियो के प्रस्तोता  शाहिद अनवर ने किया। जिला जन सम्पर्क पदाधिकारी संजय कुमार ने उक्त काव्य संध्या में शामिल हुए सभी कवियों/कवयित्रियों का आभार प्रकट किया। कार्यक्रम में उक्त रचनाकारों के अलावा शिवम कुमार, अनूप कुन्डू, भविष्य शर्मा, आर्यन पाण्डेय, बीरेन्द्र कु0 डोगरा, गौरव घोष, महाबीर आदि मौजूद थे।

Comments are closed.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More