रांची-पाकिस्तान पर भड़की सरकार, गृह मंत्री और रक्षा मंत्री ने कहा- जवानों को जवाबी कार्रवाई की खुली छूट

राची।

केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह रविवार को रांची में आतंकवाद के खिलाफ जमकर गरजे. कश्मीर में हुए आतंकी हमले पर गृह मंत्री ने कहा की मैंने अपने जवानों को साफ कह दिया है कि पहली गोली अपनी तरफ से नहीं चलनी चाहिए लेकिन उस पार से एक भी गोली चलती है तो गोलियों की गिनती नहीं की जाए.

नहीं भूला जाएगा शहीदों का बलिदान
गृह मंत्री ने ये भी कहा कि कश्मीर में जवानों के बलिदान को कभी नहीं भुलाया जाएगा और भारत आतंकवाद पर विजय जरूर हासिल करेगा. आपको बता दें कि शनिवार को श्रीनगर-जम्मू हाईवे पर आतंकवादियों ने सीआरपीएफ के काफिले पर हमला कर दिया था, जिसमें 8 जवान शहीद हो गए थे. सुरक्षा बलों ने 2 आतंकवादियों को भी मार गिराया था.

आतंक के खिलाफ पीएम मोदी के कदम की तारीफ
राजनाथ सिंह ने पीएम नरेंद्र मोदी की प्रशंसा करते हुए कहा कि प्रधानमंत्री ने आतंकवाद के खात्मे को लेकर जो कदम बढ़ाए हैं, उससे अंतरराष्ट्रीय स्तर पर हमारा सिर ऊंचा हुआ है. दरअसल राजनाथ सिंह अपने दो दिवसीय दौरे में पूर्वी क्षेत्रीय विकास परिषद की बैठक करेंगे जो सोमवार को रांची में है. पूर्वोत्तर परिषद की बैठक आईआईसीएम, कांके में होगी. इसकी अध्यक्षता राजनाथ सिंह करेंगे. इस बैठक में झारखंड के सीएम रघुवर दास, बिहार के उप मुख्यमंत्री तेजस्वी यादव, पश्चिम बंगाल के योजना मंत्री आशीन बनर्जी, ओडिशा के वित्त मंत्री प्रदीप कुमार अमत समेत कई अफसर शामिल होंगे.

कमजोर न समझें हमें
रक्षा मंत्री मनोहर पर्रिकर ने भी हमले की निंदा करते हुए कहा कि ये आतंकी संगठनों की हताशा दर्शाता है. पर्रिकर ने कहा, ‘शनिवार को हुआ हमला हताशा का नतीजा है, वो ये दिखाना चाहते हैं कि उनके पास अब भी ताकत है.’ रक्षा मंत्री ने कहा कि उन्हें शांति चाहिए लेकिन ऐसा न समझा जाए कि वो कमजोर हैं.

इमरजेंसी की सालगिरह पर हुए कार्यक्रम में पहुंचे राजनाथ
रविवार को राजनाथ सिंह हरमू मैदान में इमरजेंसी की 41वीं वर्षगांठ पर आयोजित हरियाली शपथ समारोह सह लोकतंत्र प्रहरी दिवस कार्यक्रम में बतौर मुख्य अतिथि शामिल हुए. कार्यक्रम के माध्यम से राजनाथ ने पार्टी कार्यकर्ताओं को पर्यावरण संतुलन के लिए हरियाली बनाए रखने के उद्देश्य से शपथ दिलाई.

Comments are closed.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More