पटना-बुराई पर अच्छाई की हुई जीत धु -धु  कर जल उठा रावण

RAJESH 0010002

राजेस तिवारी 

पटना |

राजधानी के ऐतिहासिक गाँधी मैदान में दशहरे के पावन अवसर पर भगवान श्री राम ने रावण का वध किया | और इसके गवाह बने पटना वासी ,सबसे पहले श्री राम ने कुभकर्ण का वध किया उसके बाद मेघनाथ
का वध किया और अंत में रावण का वध किया ,पूरा गाँधी मैदान जय श्री राम के जयकारे से गूंज उठा | पटना के जिलाअधिकारी संजय कुमार ने बताया की रावण का कार्यक्रम पांच बजे से सात बजे तक निधारित था | लेकिन इसे जल्द ही ख़त्म कर दिया गया उन्होंने बताया की सुरझा की दृष्टि से कार्यक्रम का समापन जल्द ही तय कर दिया
गया | जिससे लोगो के बीच निराशा देखी गई | हर साल की तरह इस साल भी लोग आतिशबाजी देखने के लिए देर शाम इंतज़ार करते रहे | आनन -फानन में कार्यक्रम समाप्त कर दिया गया |
जिलाधिकारी ने बताया की रावण दहन देखने के लिए करीब ढाई लाख से तीन लाख लोग गाँधी मैदान में इकठा हुए थे भीड़ को नियंत्रित करने के की पुख्ता व्यवस्था की गई थी | पटना के गाँधी मैदान में रावण दहन का कार्यक्रम अपने निर्धारित समय पर शाम पाच बजे शुरू हो गया | मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने दीप प्रज्वलित कर कार्क्रम की विधिवत शुरुआत की उसकी बाद नीतीश कुमार ने गुब्बारा उड़ाकर शांति का संदेश दिया | फिर सीएम ने रामलला
की आरती उतारी | यह दृश्य देखकर लोग भाव विभोर होते रहे।सीएम के आरती उतारने के बाद रामलला और लक्ष्मण ने गांधी मैदान की परिक्रमा की। सबने राम, लखन सहित पूरी सेना के दर्शन किए। फिर श्रीराम ने सबसे पहले तीर चलाकरकुंभकर्ण का वध किया। केचारों ओर जय श्री राम के जयघोष की ध्वनि गूंज उठी। उसके
बाद मेेघनाद का वध किया गया। सबसे अंत में रावण का वध हुआ। रावण का वध होते हीचारों ओर शंख ध्वनि गूंज उठी।
रावण-दहन देखने के लिए गांधी मैदान में काफी भीड़ एकत्रित हुई थी । मुख्यमंत्री कार्यक्रम के मुख्य अतिथि थे। दशहरा के मौके पर रावण वध के लिए हर साल की भांति इस बार की रावण दहन का कार्यक्रम देखने के लिए काफी संख्या में लोग उपस्थित रहे

Comments are closed.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More