पटना-टिकट नहीं लिया तो चिंता नहीं, अब चलती ट्रेन में ही मिलेंगे रेल टिकट, जानिए

 

RAJESH 0010002

पटना |

रेल यात्रियों के लिए रेलवे ने अब कई सुविधाएं मुहैया करा दी हैं जिनमें अब सुपरफास्ट ट्रेनों में टीटीई को टिकट शीन (हैंड-हेल्ड) मशीन मुहैया कराया गया है जिससे अब यात्रियों को टिकट विंडो पर लंबा इंतजार नहीं करना होगा। अब ट्रेन का टिकट ट्रेन में ही मिल जाएगा।

फिलहाल सुपरफास्ट ट्रेनों में यह व्यवस्था लागू कर दी गई है। जल्द ही बाकी ट्रेनों में भी यही व्यवस्था होगी।इसके लिए टीटीई को टिकट शीन (हैंड-हेल्ड) मिलनी शुरू हो चुकीं हैं।
रेलवे ने प्रथम चरण में सुपरफास्ट ट्रेन लखनऊ मेल,गरीब रथ, अर्चना सुपरफास्ट, राजधानी सुपरफास्ट आदि के

टीटीई को हैंड-हेल्ड मशीन दी है। मशीन रेलवे के पैसेंजर रिजर्वेशन सिस्टम (पीआरएस) सर्वर से कनेक्ट रहेगी |

इससे ट्रेन के हर कोच में खाली बर्थ और किस स्टेशन पर मुसाफिर उतरेगा इसकी जानकारी मिलती रहेगी। बिना टिकट लिए ट्रेन में चढ़ने वाले यात्री सीधे टीटीई से मिलेंगे। तय किराये से दस रुपये अतिरिक्त लेकर टीटीई इसी मशीन से टिकट देंगे।

इसके अलावा मशीन के जरिये ही वेटिंग टिकट वाले मुसाफिरों को बर्थ खाली होते ही मिल जाएगी। टीटीई की

मनमानी होगी खत्म ट्रेन छूटने की जल्दी में सवार होने वाले मुसाफिरों से टीटीई और स्क्वायड के सिपाही मनमाना जुर्माना एवं रुपयों की वसूली करते हैं।
इसके साथ ही वेटिंग टिकट वाले यात्रियों को बर्थ न होने की बात कहकर बर्थ नहीं देते थे। मगर हैंड-हेल्ड मशीन से यात्री भी अपनी बर्थ की पोजीशन देख सकेंगे। ट्रेन में चढ़ते ही टीटीई को बताना होगा

यात्री को ट्रेन में सवार होते ही टीटीई को बताना होगा कि उसने टिकट नहीं लिया है। मशीन से टिकट बनवाना है।

चेकिंग के दौरान यदि टीटीई ने बिना टिकट पकड़ा तो जुर्माना पड़ेगा। इसीलिए टीटीई को हैंड-हेल्ड मशीन दी जा रही हैं। सुपरफास्ट ट्रेनों में यात्री सवार होने के बाद भी टीटीई से टिकट ले सकेंगे।

Comments are closed.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More