दिल्ली में बैठा है काला जादुगर — नरेन्द्र मोदी

92

रवि झा,अमीत मिश्रा,जमशेदपुर,10 अप्रैल
काला जादु से देश से तबाह हो रहा है अगर देश को भविष्य को बदलना है तो कालाजादुगर को भगाओ ये बाते जमशेदपुर में एक चुनावी सभा को संबोधित करते नरेन्द्र मोदी ने कही उन्होने वर्तमान केन्द्र सरकार को अपाहिज सरकार तक की संज्ञा दी.नरेंद्र मोदी ने गुरुवार को कांग्रेस सुप्रीमो सोनिया गांधी पर फिर अपने ही अंदाज में शब्दों के तीर दागे। सोनिया से ‘जादूगर’ नाम मिलने पर मोदी ने कहा -भाजपा के पास जादूगर है कि नहीं यह तो वक्त बताएगा लेकिन देश को 10 सालों से मालूम है, दिल्ली में ब्लैक मैजिशियन बैठा है, काला जादू करने वाला जिससे नौजवानों के रोजगार गायब हो गए, किसानों की फसल गायब हो गई, शिक्षा धरी की धरी रह गई, सेना के जवानों के सिर कट गए जो अब तक नहीं मिले हैं। काला जादू से देश तबाह हो गया। अब देश की जनता काला जादू करने वालों को हटाकर दम लेगी भारतीय जनता पार्टी के प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार नरेन्द्र मोदी ने लोकसभा चुनाव में कांग्रेस को विदा करने का आह्वान करते हुये आजकहा कि महात्मा गांधी के अधूरे सपने को पूरा करना है ।
श्री मोदी ने यहां गोपाल मैदान में एक बडी जनसभा को संबोधित करते हुये कहा कि महात्मा गांधी ने आजादी मिलने के बाद कांग्रेस को भंग देने की बात कहीं थी और उनका यह सपना अब तक अधूरा था लेकिन इस बार जनता उनके सपने को पूरा करेगी और कांग्रेस की विदाई कर देगी 1 जनता ने कांग्रेस को साठ वर्ष दिए लेकिन वह जनता से सिर्फ साठ महीना मांगते है । उन्होंने कहा. मुझे झारखंड दे दीजिये .मै साठ वर्ष की मुसीबतों से जनता को बाहने निकाल कर दिखाऊंगा
मोदी गोपाल मैदान में जमशेदपुर से भाजपा प्रत्याशी विद्युतवरण महतो के समर्थन में प्रचार करने पश्चिम बंगाल के बागडोगरा से सीधे पहुंचे थे। भाजपा के प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार ने सोनिया गांधी व राहुल गांधी का नाम लेने से बचते हुए ‘मैडम’ व ‘शहजादे’ जैसे संकेतों में ही अपनी बातें कहीं। कहा ‘जो सोने का चम्मच लेकर पैदा हुए, उन्हें गरीबी का पता नहीं। गरीबों की सोच तक नहीं, मजदूरों की जिंदगी का भी नहीं पता। हमने गरीबी देखी है। गरीबी में बड़े हुए’। मोदी ने दिल्ली की कांग्रेस नीत सरकार पर हमला जारी रखते कहा ‘हमने बीते 10 वषरें में देश की बर्बादी का मौका दिया लेकिन अब नहीं देंगे। महात्मा गांधी के अधूरे सपने को पूरा करेंगे।’ गांधी ने आजादी के बाद कहा था- ‘देश को आजादी मिल गई, अब कांग्रेस की जरूरत नहीं। कांग्रेस पार्टी को बिखेर दो। गांधी कांग्रेस को जानते थे कि ये देश नहीं चला पाएंगे। देश को लूट लेंगे। गांधी की चिंता सही निकली। हमें कांग्रेस मुक्त शासन का संकल्प लेना है।’
मोदी ने जनता से ही पूछा, ‘कहीं ऐसा देखा है कि किसान पैदा करे, फसल उपजाए और गेहूं विदेशों में चला जाए और चपाती बाहर से मंगाया जाए।’ वह यहीं नहीं रूके, औद्योगिक विकास पर यूपीए सरकार की सोच की भी बखिया उधेरी। कहा, ‘सुविचारित सोच न होने के कारण उद्योग-धंधों का विकास रूका पड़ा है। आखिर यह कौन सी नीति है कि देश का आयरन ओर बाहर जाता है और स्टील इंपोर्ट होता है। इससे तो हिन्दुस्तान का स्टील उद्योग ही नहीं चल पाएगा। मजदूरों के परिवारों का क्या होगा? देश का अर्थतंत्र लडख़ड़ा रहा है।’
मोदी ने जनता से मुखातिब हुए जनता से ही जानना चाहा ’10 साल से दिल्ली में मैडम सोनिया की सरकार है, क्या आपके जीवन में बदलाव आया? नौजवानों के जीवन में बदलाव आया? दवा का अच्छा प्रबंध हुआ? शिक्षा अच्छी हुई?’ फिर मोदी ने खुद कहा-अरे 10 साल में रत्ती भर बदलाव नहीं आया।
क्या ऐसी सरकार रहने देनी चाहिए। जब भीड़ से जवाब आया ना, तो मोदी ने हुंकार भरते कहा-‘ऐसे माहौल में तो कांग्रेस के चट्टे-बट्टों का भी बचना मुश्किल है। उन्होंने कांग्रेस के बीते तीन चुनावों के घोषणा पत्रों को धोखा पत्र करार दिया। कहा, 2004, 2009 के बाद अब 2014 में कांग्रेस का धोखा पत्र जारी हुआ है।
मोदी ने कहा कि कांग्रेस का वादा था, 100 दिनों में महंगाई कम हो जाएगी।’ पूछा-कम हुई? भीड़ ने तुरंत कहा-नहीं। तब मोदी बोले-‘अरे मैडम सोनिया, आप तो एक मां हैं, महंगाई के लिए दो शब्द तो बोल दीजिए। देश-दुनिया के सामने अपनी नाकामी तो स्वीकार कीजिए। शहजादे भी तो महंगाई पर कुछ नहीं बोलते।’ मोदी इसका कारण भी बताते हैं। कहते हैं- ‘कांग्रेस का अहंकार सातवें आसमान पर है। इनकी नजर जनता की जेब है, ये जनता के प्रति जवाबदेह नहीं हैं।’

Comments are closed.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More