Madhubani:60 वर्षीय वृद्ध का शव झोपड़ी में मिलने से मची सनसनी,प्रथमदृष्टया पुलिस इस घटना को बता रही हत्या का मामला

62

अजय धारी सिंह

*मधुबनी:* मधेपुर थाना क्षेत्र स्थित बांकी पंचायत के फटकी कुट्टी गांव वार्ड दस में बुधवार शाम को एक वृद्ध का शव संदेहास्पद स्थित में घर में पाए जाने से लोग हतप्रभ हैं। मृतक की पहचान 60 वर्षीय राम किशुन महतो बताया गया है। बताया जाता है की मृतक किसान थे।

बुधवार शाम को एक वृद्ध का शव मृतक के ही झोपड़ी नुमा घर में जमीन पर पाया गया है। सूचना पाकर घटनास्थल पर मधेपुर थाने के थानाध्यक्ष हरी किशोर यादव, एएसआई फहीम खां पुलिस बलों के साथ पहुंच शव को अपने कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम हेतु मधुबनी सदर अस्पताल भेज दिया है। पुलिस इस घटना को प्रथमदृष्टया हत्या का मामला बता रही है, हालाकि बताया गया की सभी बात जांच के बाद सामने आएगी। जानकारी के अनुसार मृतक अपने घर में अकेले रहते थे। उनकी पत्नी की मृत्यु लगभग छः माह पूर्व ही हो गई है। मृतक को सिर्फ एक पुत्री है, जिनकी शादी लखनौर थाना क्षेत्र स्थित परमेश्वरा गांव में हुई है।

घटना को लेकर मृतक के छोटे भाई झमेली महतो ने बताया कि सोमवार को अपने पड़ोसी राम देव महतो को पांच धूर जमीन रजिस्ट्री करने झंझारपुर गए थे। उसके बाद से उन्हें नहीं देखा गया। इस बात की सूचना इनके द्वारा मृतक की बेटी रामकुमारी देवी को दी गई। सूचना पर पुत्री रामकुमारी देवी एवं दामाद इन्द्र देव महतो उनका खोज-खबर लेने फटकी कुट्टी गांव पहुंचे। पहुंचने के बाद उन्होंने अपने पिता को खोजना शुरू किया तभी दामाद इंद्र देव महतो ने एक घर में जमीन पर उनका शव पड़ा हुआ पाया। मृतक के शरीर पर सिर्फ गंजी था। नाक और मुंह से खून निकला हुआ था। घटना के बाद मृतक के मोबाइल को पुलिस जांच के लिए अपने साथ ले गई है।

पुलिस ने बताया कि प्रथम दृष्टया देखने से लगता है कि मृतक का गर्दन तोड़ दिया गया है। शव देखने से लगता था कि आज ही उनकी हत्या की गई है। पुलिस ने फिलहाल दो लोगों को पूछताछ के लिए हिरासत में लिया है। मृतक की पुत्री ने बताया कि फटकी से फोन गया था कि राम किशुन महतो आपके यहां हैं। इसी क्रम में पता चला कि वे तीन दिन से घर पर नहीं देखे गए हैं। तब वह दिन के एक बजे के आसपास फटकी कुटी अपने गांव (मायका) आए। घटना के बाद से गांव में सन्नाटा है। वृद्ध रामकिशुन की इस तरह से हत्या होने के कारण लोग तरह तरह की चर्चा कर रहे हैं।

Local AD

Comments are closed.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More