मधेपुरा -दिपावली की रात पटाखे की चिगांरी से लगी आग

12

SANJAY KUMAR SUMAN

संजय कुमार सुमन
मधेपुरा
सम्पूर्ण मधेपुरा जिले में दीपों का पर्व दीपावली बड़े ही धूम धाम के साथ मनाया गया। बड़े से लेकर बच्चों में गजब का उत्साह देखा गया। रंग बिरंगे पटाखे से आसमान गुलजार होता रहा है।घरों एव दुकनों में देर रात तक मा लक्ष्मी और गणपति गणेश की पूजा होती रही वहीं दीपावली की रात चौसा प्रखंड क्षेत्र में हुए आगजनी की छिटपुट घटनाओं की खबर के दौरान कहीं से भी जानमाल की क्षति की कोई जानकारी नहीं है।
दीपावली की उमंगों के बीच चौसा के ग्राम पंचायत घोषई में भी करीब साढ़े सात बजे संध्या में लोग हुक्का-पाती खेल रहे थे और बच्चे जिधर-तिधर आतिशबाजी का लुप्त उठा रहे थे, कि इसी दौरान वार्ड नंबर-05 निवासी वासुदेव शर्मा के पुत्र घुघली शर्मा व माहिल शर्मा के फूस घर के ऊपर एक चिंगारी काल बन कर गिर गई। देखते ही देखते आग ने भयानक रूप अख्तियार कर लिया। आग की भयानकता इतनी तेज थी कि घर से सटे ताड़ और खजूर के पेड़ों के ऊपर तक लपटें ऐसे दौरने लगी मानो आसमान को छूने की जद्दोजहद कर रही हो। पूरे घोषई ग्रामवासियों के दीपावली का उत्साह पल भर में ही दहशत और चीख-पुकार में तब्दील हो गया। इसी बीच किसी ने धू-धू कर जल रहे घर के अंदर से बच्चों और महिलाओं की चीखने की आवाज सुनी। उपस्थित लोगों की आँखों में किसी बड़े अनहोनी का खौफ सा दौड़ पड़ा।तत्क्षण उपस्थित ग्रामीणों ने अपने हिम्मत का परिचय देते हुए घर के पीछे की टट्टी को काटकर घर में फंसे महिला व छोटे-छोटे बच्चों को भारी मशक्कत कर बाहर निकाला। बाहर निकालने के दौरान कुछ व्यक्ति घायल भी हो गये। ग्रमीणों की सूझबूझ और तत्परता से करीब आधे घंटे के अंदर ही आग पर काबू पा लिया गया।
आग में माहिल शर्मा के घर में रखे, काली पूजा मेले में बेचने के लिये लाया गया करीब पचास हजार मूल्य का खिलौना,एक टी.भी.एस मोटरसाइकिलबीस हजार नगदी, एक साईकिल समेत घर के सारे फर्नीचर, कपड़े व अनाज जलकर राख हो गया। वहीं, घुघली शर्मा के घर में रखे टीवी, साईकिल, कपड़ा, नगदी करीब पंद्रह हजार जेवर सहित फर्नीचर व अनाज सारा कुछ खत्म हो गया। आग ने इन दोनों सगे भाईयों को समाज की दया पर आश्रित होने पर मजबूर कर छोड़ा है।
पीड़ितों ने अंचलाधिकारी चौसा व थानाध्यक्ष चौसा को लिखित आवेदन दे मदद की गुहार लगाई है। घटना स्थल पर पहुँचे चौसा प्रखंड उपप्रमुख शशि कुमार दास ने पीड़ितों को सरकारी सहायता मिलने तक सहयोग बनाये रखने का आश्वासन दिया है। वहीं, युवा नेत्री निभा कुमारी ने ग्रमीणों का आभार व्यक्त करते हुए कहा कि,”घोषई ग्राम एक अनूठा उदाहरण की तरह है, जहाँ आजतक हुए आगजनी की सारी घटनाओं में ग्रामीणों ने फौरन एक जुटता और आपसी सूझबूझ का परिचय देते हुए आग पर काबू पाते रहने का मिसाल कायम किये हुए हैं। यहाँ आजतक का इतिहास रहा है कि आग को ग्रामीणों ने एक परिवार से दूसरे परिवार तक पहुँचने का मौका ही नहीं दिया है। युवा समाजसेवी कुन्दन “घोषईवाला” ने भी आग बुझाने के दौरान घायल हुए ग्रामीणों का आभार व्यक्त किया है। आग बुझाने के दौरान वार्ड सदस्या पूनम देवी पति रघुनंदन शर्मा, पंच मनोज शर्मा, समाजसेवी अरविन्द शर्मा, रामवरण शर्मा, शिक्षक लड्डू कुमार शर्मा, सरपंच शैलेन्द्र कुमार यादव, अजय कुमार खुशबू, डाकपाल सरबिन्द कुमार पोद्दार, रमण शर्मा, बसंत मिस्त्री समेत सैकड़ों ग्रामीण कड़ी मसक्कत करते दिखे।

Comments are closed.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More