जमशेदपुर-राज्यपाल ने जमशेदपुर महिला कॉलेज के दीक्षांत समारोह को किया सम्बोधित

जमशेदपुर।

शनिवार को झारखण्ड की राज्यपाल  द्रौपदी मुर्मू सुबह लगभग 10ः00 बजे जमशेदपुर पहुंची। वे यहां कोल्हान विष्वविद्यालय के जमषेदपुर महिला कॉलेज के प्रथम ग्रेजुएशन डे समारोह में भाग लेने आयीं थीं। कार्यक्रम के आरम्भ में महाविद्यालय की प्राचार्या  शुक्ला मोहान्ती ने स्वागत भाषण के साथ महाविद्यालय का प्रगति प्रतिवेदन प्रस्तुत किया। इसके उपरान्त उन्होंने राज्यपाल-सह-कुलाधिपति  द्रौपदी मुर्मू को बुके देकर उनका अभिनन्दन किया। महाविद्यालय गान के उपरान्त वर्ष 2011-12 सत्र में उत्तीर्ण मानविकी संकाय, समाज विज्ञान संकाय, विज्ञान संकाय, वाणिज्य संकाय तथा षिक्षा संकाय की उपाधि प्रापक छात्राओं का परिचय कराया गया। इसके बाद विभिन्न संकायों तथा विषयों की टॉपर्स छात्राओं को  राज्यपाल के हाथों स्वर्ण पदक से नवाजा गया।

इस अवसर पर माननीया राज्यपाल ने अपने भाषण में गुणवत्तायुक्त शिक्षा की अवश्यकता पर जोर देते हुए कहा कि डिग्री ही जीवन की सफलता नहीं है बल्कि समाज में अपनी पहचान अपनी क्षमता के बलबूते बनानी पड़ती है। जीवन में नैतिकता व अनुशासन की महत्ता पर प्रकाश डालते हुए उन्होंने छात्राओं को अपने इरादे बुलन्द रखने को प्रेरित किया। कहा कि महिलाएं किसी तरह से अब अबला नहीं है, बल्कि हर क्षेत्र मेंअपना नाम रौशन कर रही हैं। उन्होंने रियो ओलम्पिक के संदर्भ में पीवी सिंधु तथा साक्षी मलिक के जिक्र के साथ साथ स्थानीय मुक्केबाज अरूणा मिश्रा का हवाला देते हुए बेटियों को प्रेरित किया। कहा कि महिलाएं दुनिया की जन्मदाता हैं, इसलिए वे भला दुर्बल कैसे हो सकती हैं। उन्होंने बेटियों को कमल की तरह खुशबूदार एवं कोमल बनने के साथ-साथ समय-समय पर फौलाद बनने को तैयार रहने को कहा। इसके लिए उन्होंने छात्राओं को आत्मरक्षा के गुर सिखाने पर जोर दिया। अन्त में उन्होंने उपाधि पाने वाली सभी छात्राओं को शुभकामना देते हुए उपदेश दिया कि हमें सिर्फ अपने लिए नहीं बल्कि समाज के लिए जीने की सोच पैदा करनी होगी।

इस अवसर पर कोल्हान विश्वविद्यालय के वीसी  आर0पी0पी0 सिंह ने छात्राओं को उपाधि मिलने के बाद सम्बोधित करते हुए कहा कि छात्राएं अपने जीवन व आचरण के द्वारा इस उपाधि को सार्थक सिद्ध करने का प्रयास करें।

 

इस मौके पर प्रोवीसी, डीएसडब्लू, सभी विभागाध्यक्ष, उपायुक्त पूर्वी सिंहभूम, वरीय पुलिस अधीक्षक, जिले के तमाम वरीय पदाधिकारी, छात्राएं व उनके अभिभावक मौजूद थे।

Comments are closed.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More