जमशेदपुर-प्रभारी मंत्री नीरा यादव की अध्यक्षता में जिला योजना समिति की बैठक हुई

18

 

 

बीस सूत्री कार्यक्रम की भी हुई पहली औपचारिक परिचय बैठक

 

जमशेदपुर।

समाहरणालय सभा-कक्ष में जिले की प्रभारी मंत्री नीरा यादव की अध्यक्षता व मंत्री  सरयू राय की उपस्थिति में जिला योजना समिति की बैठक हुई। बैठक की शुरूआत उपायुक्त  अमित कुमार द्वारा माननीय मंत्रीद्वय तथा माननीय सदस्यों के स्वागत से हुई। बैठक का संचालन उपायुक्त ने किया जबकि समिति के प्रतिवेदन को उप विकास आयुक्त श्री विनोद कुमार ने समिति के सदस्यों के बीच पढ़ कर सुनाया।

 

झारखण्ड सरकार की मंत्री, स्कूली शिक्षा एवं साक्षरता-सह-उच्च एवं तकनीकी शिक्षा श्रीमती नीरा यादव, संसदीय कार्य एवं खाद्य आपूर्ति मंत्री श्री सरयू राय, घाटशिला विधायक श्री लक्ष्मण टूडू, बहरागोड़ा विधायक श्री कुणाल षाड़ंगी, जिला परिषद अध्यक्षा श्रीमती बुलू रानी सिंह, उपाध्यक्ष श्री राजकुमार सिंह के अलावा सम्बंधित जिला परिषद सदस्यों ने पिछली बैठक से सम्बंधित विषयों के अनुपालन के बारे में पदाधिकारियों से जानकारी ली। समिति के बीच विशेष रूप से विद्युत विभाग, जलापूर्ति, शिक्षा विभाग, भूमि संरक्षण कार्यालय, आंगनबाड़ी, कस्तूरबा विद्यालय, आदिम जन जातियों के राशन कार्ड से सम्बंधित मुद्दे उठे। कुछ पदाधिकारियों के जवाब से प्रभारी मंत्री के साथ साथ उपायुक्त ने भी असंतोष जाहिर किया। मंत्री श्रीमती नीरा यादव ने अधिकारियों को स्पष्ट करते हुए कहा कि वे धरातल पर हुए कार्य से संतुष्ट होने के उपरान्त ही अनुपालन आंकड़े प्रस्तुत करें। कहा कि यह सरकार अच्छा काम करने वाले अधिकारियों को पुरस्कृत करने के साथ साथ टाल मटोल करने वाले अधिकारियों के साथ सख्त रवैया अपना रही है। श्रीमती बुलू रानी ने सुन्दरनगर कस्तूरबा विद्यालय मंे पानी की समस्या को उठाया वहीं विधायक श्री लक्ष्मण टूडू ने गुड़ाबांधा में आंगनबाड़ी केन्द्रों के संचालन के सम्बंध में अपनी शिकायत रखी। पूर्वी विधान सभा विधायक प्रतिनिधि श्री मिथिलेश यादव ने जलापूर्ति समस्या को प्रमुखता से रखा वहीं बहरागोड़ा विधायक श्री कुणाल षाड़ंगी ने घाघरा मध्य विद्यालय में विद्युत आपूर्ति की मांग समिति के समक्ष रखी। कुछ जिला परिषद सदस्यों ने जमशेदपुर के काॅलेजों में आए दिन मारपीट व हंगामा पर ध्यान   आकृष्ट कराया। जिस पर मंत्री श्री सरयू राय ने उपायुक्त को कल्याण विभाग द्वारा आवासीय (हाॅस्टल) नियमावली के तहत् छात्रावासों के शांतिपूर्ण संचालन हेतु आवश्यक कदम उठाने को कहा। जुस्को से सम्बंधित मामला उठने पर श्री सरयू राय ने कहा कि टाटा स्टील अपनी नागरिक जिम्मेदारियों को ईमानदारी से निभाए और जो काम कम्पनी नहीं कर सकती है स्पष्ट करे ताकि सरकार शेष नागरिक सुविधायें अपने स्तर पर दे सके। बैठक में यह भी तय किया गया कि जल्दी ही सभी 6 उप समितियों का गठन कर लिया जाएगा। प्रत्येक उप समिति में 4-4 सदस्य होंगे।

 

प्रभारी मंत्री श्रीमती नीरा यादव ने कहा कि सरकार का यह लक्ष्य है कि प्रत्येक विद्यालय में दो-दो यूनिट शौचालय बनें इसके लिए जिला शिक्षा अधीक्षक तीन दिनों में प्रतिवेदन दें कि किन किन विद्यालयों में अभी शौचालय बनाया जाना बाकी है। इस कार्य में जन प्रतिनिधि भी शिक्षा विभाग की मद्द करें। निजी विद्यालयों में प्रवेश के मामले पर शिक्षा मंत्री श्रीमती यादव ने स्पष्ट करते हुए कहा कि निजी विद्यालय गरीबों को 25 प्रतिशत सीटों पर दाखिला देने के लिए बाध्य है। शिक्षा विभाग के पदाधिकारी उक्त अनुपालन कराना सुनिश्चित करेंगे। उन्होंने उपायुक्त श्री अमित कुमार को निर्देश दिया कि आज के अनुपालन प्रतिवेदन में जिन पदाधिकारियों ने सही प्रतिवेदन नहीं दिया उनसे स्पष्टीकरण पूछें। समिति की बैठक में उपर्युक्त माननीय सदस्यों के अलावा प्रतिनिधि सांसद लोकसभा, प्रतिनिधि सांसद राज्यसभा, प्रतिनिधि विधायक जुगसलाई, प्रतिनिधि विधायक पोटका भी मौजूद थे।

 

इस बैठक के उपरान्त बीस सूत्री कार्यक्रम की जिले में पहली परिचय बैठक आयोजित हुई। जिसमें प्रभारी मंत्री श्रीमती नीरा यादव ने सभी सदस्यों से परिचय पूछते हुए सभी को पूरे मनोयोग से काम करने को प्रेरित किया। मंत्री श्री सरयू राय ने सभी सदस्यों से कहा कि वे आगामी बैठक से पूर्व सभी बीस सूत्रों को भली भांति समझते हुए अपनी भूमिका को पहचानें। इस बैठक में बीस सूत्री के उपाध्यक्ष श्री दिनेश साव सहित सदस्यगण मौजूद थे।दोनों बैठकों में जिले के सभी सम्बंधित पदाधिकारी भी मौजूद थे।

Comments are closed.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More