चुनाव आयोग पर भाड़ी एएसआई, ५ वर्षो से जमे है गृह जिला में निष्पक्ष मतदान पभावित होने की संभावना, प्रशासन मौन

66

जामताड़ा एसपी कार्यालय में पदस्थापित एएसआई सह आशुलिपिक वीरेन्द्र मंडल
(पदनाम पु-२८० ) विगत लगभग ५ वर्षो से जामताड़ा में ही पदस्थापित है. गौर
करने की बात यह है की उनका गृह जिला जामताड़ा है, जिले के करमाटांड प्रखंड
के शिमला गाँव उनका पैत्रिक निवास है. कुछ वर्ष पूर्व एसपी आवास के समीप
उसने जमीं खरीद कर मकान बनवा लिया है. दो बार उसकी तबादला की गई लेकिन आज
तक वह विरमित नहीं हुआ. पहली बार ज्ञापांक संख्या २४९२/पी, दिनांक १२
अगस्त २०११ के माध्यम से विशेष शाखा स्थानांतरित किया गया लेकिन तत्कालीन
एसपी ने विरमित नहीं किया पुनः बीमारी का हवाला और प्रमाण पत्र देकर पड़ें
हो गया. दूसरी बार एएसआई वीरेन्द्र का स्थानांतर ज्ञापांक संख्या ६०३/पी,
दिनांक २७ फरबरी २०१२ के माध्यम से पलामू कर दिया गया परन्तु आज तक उसे
विरमित नहीं किया जा सका.
सवाल यह उठता है की चुनाव के दौरान ३ वर्ष या उससे अधिक समय से कार्यरत
कर्मी और पदाधिकारी का तबादला होना है, फिर एसपी कार्यालय की ऐसी क्या
मजबूरी है जो उक्त एएसआई को हटाया नहीं जा रहा है. पुलिस के इस कार्यशैली
से निष्पक्ष कर्तब्य निर्वहन पर सवाल उठ रहा है, वैसे भी इस बात को लेकर
चर्चा जोरो पर है साथ ही इस बात की आशंका को भी बल मिल रहा है की जिले
संचालित आर्थिक अपराध का बढ़ाबा ऐसे ही पुलिस कर्मियों की वजह से मिल रहा
है. बहरहाल इससे भी इनकार नहीं किया जा सकता है ऐसे कर्मियों से निष्पक्ष
मतदान पर प्रभाव पड़ सकता है.

Local AD

Comments are closed.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More