JAMSHEDPUR NEWS :नशापान एवं प्रोजेक्ट वात्सल्य पर केरला पब्लिक स्कूल में कार्यशाला आयोजित किया गया

104
TATA-STEEL_810

जमशेदपुर । झालसा के निर्देश पर जिला विधिक सेवा प्राधिकार जमशेदपुर द्वारा नशापान एवं प्रोजेक्ट वात्सल्य को लेकर केरला पब्लिक स्कूल कदमा में एक कार्यशाला का आयोजन किया गया. उक्त कार्यशाला में सिविल कोर्ट जमशेदपुर के प्रथम श्रेणी न्यायिक दंडाधिकारी श्री आदित्या एवं एवं श्री नुमान खान आजम के अलावे पैनल लॉयर सह रिमांड अधिवक्ता शमशाद खान एवं पैनल लॉयर संजय कुमार तिवारी मौजूद थे. प्रथम श्रेणी न्यायिक दंडाधिकारी श्री आदित्या एवं श्री नुमान खान आजम ने कार्यशाला को संबोधित करते हुए कहा कि अशिक्षा एवं गरीबी के चलते लोग गलत संगति में पड़ जाते हैं और नशापान एवं बुरे कर्म को करने लग जाते हैं , जिससे उनका भविष्य अंधकारमय हो जाता है . इसके लिए ऐसे वर्ग को जागरूक करने की जरूरत है. झारखंड लीगल सर्विसेज ऑथोरिटी ( झालसा ) ने ऐसे लोगों को सही रास्ते पर लाने के लिए और उनके पुनर्वास की व्यबस्था सुनिश्चित करने हेतु प्रोजेक्ट वात्सल्य शुरु किया है. इसके तहत उन्हें मुख्यधारा में लाने के लिए सरकार की विभिन्न योजनाओं से जोड़ा जाना जरूरी हैं. इस कार्य में जिला विधिक सेवा प्राधिकार जमशेदपुर एक सेतू का काम कर रहा है . इस योजना को धरातल पर उतारने और बंचित लोगों तक न्याय पहुँचाने के लिए जिला विधिक सेवा प्राधिकार जमशेदपुर जमीनी स्तर पर काम कर रहा है । इसी कड़ी में यह जागरूकता अभियान स्कूल , कॉलेज , गांव , कस्बों एवं अन्य जगहों पर सघन रूप से चलाया जा रहा है , ताकि लोग जागरूक हो सकें और विकास के मुख्य धारा से जुड़ पाएं . उन्होंने स्कूल प्रबंधन से अपील किया कि किसी भी तरह के मामले का समाधान के लिए निःसंदेह वे डालसा के सचिव अथवा पीएलवी को सूचित करने के साथ-साथ उनकी मदद लें सकते हैं . कार्यशाला में पैनल लॉयर शमशाद खान एवं संजय कुमार तिवारी ने डालसा के कार्य एवं उसके उद्देश्यों के बारें में विस्तार से बताया . मौके पर स्कूल प्रबंधन के एमडी शरत चन्द्र नैयर , प्राचार्या शर्मिला मुखर्जी , पीएलवी नागेन्द्र कुमार, जोबा रानी बास्के , सदानंद महतो , लॉ स्टूडेंट के हरि , स्कूल के सहायक शिक्षक समेत काफी संख्या में छात्र छात्राएं मौजूद थे .

Comments are closed.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More