Jamshedpur News:शहर के संघर्षशील मातृशक्ति एवं विभिन्न कॉलेज के छात्राओं ने देखी द केरल स्टोरी

सामाजिक संस्था नाम्या स्माइल फाउंडेशन की ओर से आईलेक्स में की गई फ़िल्म की विशेष स्क्रीनिंग

101

जमशेदपुर। सच्ची घटनाओं पर आधारित फिल्म द केरल स्टोरी की विशेष स्क्रीनिंग सामाजिक संस्था नाम्या स्माइल फाउंडेशन के द्वारा रविवार को डिमना हाइवे रोड स्थित आईलेक्स मल्टीप्लेक्स में किया गया। सुबह 10 बजे से 12:30 बजे तक विशेष स्क्रीनिंग में नाम्या स्माइल फाउंडेशन की ओर से लौहनगरी जमशेदपुर के विभिन्न क्षेत्रों में कार्य करने वाले 50 संघर्षशील मातृशक्ति एवं कॉलेजों में पढ़ाई कर रहे छात्राओं न एक साथ ‘द केरल स्टोरी’ देखी। इस दौरान नाम्या स्माइल फाउंडेशन के संस्थापक एवं पूर्व विधायक कुणाल षाड़ंगी के संग संस्था के तमाम सदस्यगण मौजूद रहे। फ़िल्म देखने के बाद कुणाल षाड़ंगी ने बताया कि द केरल स्टोरी कोई फिल्म नहीं बल्कि एक सच्चाई है, जिसे हमारे देश की युवा पीढ़ी को जाननी चाहिए। कहा कि यह फ़िल्म किसी भी धर्म के खिलाफ नही है, बल्कि इसमें धर्म का नाम लेकर गलत कार्य करने वाले लोगों की सच्चाई उजागर किया गया है। कुणाल षाड़ंगी ने कहा कि हमारी बहन-बेटियों पर सुनियोजित साजिश के तहत संगठित गिरोह द्वारा किए जा रहे अत्याचार, जबरन धर्मांतरण और मानवीय मूल्यों के ह्वास का फिल्मांकन फिल्म की पूरी टीम ने बहुत खूबी के साथ किया है। उन्होंने कहा कि फिल्म की कहानी सिर्फ केरल ही नहीं बल्कि हर उस राज्य, उस जगह की है जहां पर बहन-बेटियों को टारगेट कर आतंकी गतिविधियों में संलिप्त करने के लिए गुमराह किया जाता है।

*’झारखंड में क्यों नहीं हुई फिल्म टैक्स फ्री: कुणाल*
वहीं, पूर्व विधायक कुणाल षाड़ंगी ने कहा कि द कश्मीर फाइल्स के बाद अब द केरल स्टोरी फिल्म को लेकर झारखंड की झामुमो-कांग्रेस और राजद सरकार के स्टैंड से साफ दिख रहा है कि वे इस वीभत्स सच्चाई का सामना करना नही चाह रहे हैं। उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश जैसे राज्यों में फिल्म को टैक्स फ्री किया गया है लेकिन दुर्भाग्य है कि अभी तक झारखंड में सच्ची घटना पर केंद्रित इस फिल्म को टैक्स फ्री नहीं किया। उन्होंने फ़िल्म को टैक्स फ्री करने की मांग की है। कुणाल षाड़ंगी ने जामताड़ा विधायक इरफान अंसारी को फ़िल्म देखने के लिए आमंत्रित किया और कहा कि फ़िल्म देखने के बाद उनके नजरिये में जरूर परिवर्तन आएगा। कुणाल ने वास्तविकता से परिचय कराने एवं धर्मान्तरण एवं आतंकवाद जैसे गंभीर विषयों के विरूद्ध जनजागरूकता को बढ़ावा देने वाली इस फ़िल्म को अधिक से अधिक लोगों से देखने की अपील की है।

इस दौरान भाजपा नेता बिमल बैठा, नाम्या स्माइल फाउंडेशन के इंदर सिंह, सतप्रीत सिंह, विशाल बर्मा, निर्मल, प्रतीक चौरसिया, मोनाली बैनर्जी समेत कई अन्य उपस्थित थे।

सादर!

Local AD

Comments are closed.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More