अरुण के हत्यारा गोल्डी ने एसएसपी के समक्ष किया आत्मसर्म्पण,प्रेमिका भी साथ में

रवि कुमार झा,जमशेदपुर,27 जून 2014

जमशेदपुर के टेल्को थाना क्षेत्र के मनीफीट के महानंद बस्ती के रहने वाले अरुण नामता के हत्या के मामले में नामजद अभियुक्त सतनाम सिंह उर्फ गोल्डी  ने अपनी प्रेमीका प्रीति जायसवाल के साथ एसएसपी के समीप आत्मसर्म्पण कर दिया।

इस संबध में एसएसपी अमोल बी होमकर ने बताया कि मनीफीट के महांनद बस्ती के अरुण नामता के हत्याकांड के मामले में पुलिस के दबाव के कारण सतनाम सिहं उर्फ गोल्डी के परिवार वालो का काफी दबाब था जिस कारण गोल्डी ने दबाब के कारण पुलिस के समक्ष सरेण्डर कर दिया सरेण्डर करने के उपरांत पुलिस ने उसे रिमांड पर ले लिया है ।एसएसपी ने कहा कि ये हत्या डेढ लाख रुपया और 15 लाख रुपया के लेनदेन के कारण किया गया .पुलिस गोल्डी की गिरफ्फतारी के लिए एक विशेष टीम का गठन किया गया था.जो पंजाब,दिल्ली और मुबई गई थी और अलग अलग स्थानो में छापामारीकर रही थी ।सभी पुलिस के सहयोग से रेलवे स्टेशन .बस स्टेण्ड और एयर पोर्ट में इश्तेहार दे दिया गया था।और उसी के डर से सतनाम सिंह उर्फ गोल्डी अपने प्रेमिका के साथ सरेण्डर कर दिया था।एसएसपी ने कहा कि पुलिस इस मामले में पहले ही साकची पुलिस ने हत्या प्रयुक्त किया गया बरुणा कार ,दोनाली रायफल जिंदा कारतुस सहित,एक रिवाल्वर चार जिंदा कारतुस सहीत पहले ही बरामद कर लिया गया था.

गौरतलब है कि 21 जून को देर शाम टेल्को थाना क्षेत्र जेम्को के मनीफीट के महानंद बस्ती के रहनेवाले अरुण नमता अपने घर में मौजुद था शाम के सात बजे के लगभग उसके घर में सामने सतनाम सिंह गोल्डी आया और करीब किसी बात को लेकर दोनो में बहस हुई बहस बढता देख सतनाम ने दनादन अरुण पर गोली दागते हुए फरार हो गया जब तक अरुण के घरवाले कुछ समझपाते तब तक वह फरार हो गया ।परिवार वालो ऩे उसे इलाज के लिए जमशेदपुर के टाटा मोर्टस अस्पताल ले जाया गया जहाँ ईलाज के दौरान डाक्टरो ने अरुण नामत को मृत धोषित कर दिया ।एसएसपी अमोल वी होमकर ने घटना स्थल जा कर मामले की जानकारी ली उन्होने कहा कि अरुण का रुपया को लेकर सतनाम सिंह उर्फ गोल्डी से विवाद था

 

Comments are closed.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More