जमशेदपुर-ग्रेट इंडियन वुमेंस डेजर्ट सफारी’ के आयोजन को पूरी तरह तैयार टाटा स्टील

 

संवाददाता,जमशेदपुर, 7 फरवरी

टाटा स्टील ग्रेट इंडियन वुमेंस डेजर्ट सफारी के आयोजन के लिए पूरी तरह तैयार है जिसकी शुरुआत 19 फरवरी 2015 को गुजरात में भुज के समीप कोटेश्वर से होगी। टीम में 20 महिलाएं शामिल हैं, जिनमें से 14 का चयन टाटा स्टील ऐडवेंचर फाउंडेशन तथा 6 का चयन सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) द्वारा किया गया है। अभियान पर रवाना होने से पहले प्रतिभागियों के लिए भुज में एक प्रशिक्षण कार्यक्रम आयोजित किया जाएगा, जो टाटा स्टील ऐडवेंचर फाउंडेशन और बीएसएफ द्वारा विशेष रूप से तैयार किया गया है। सफारी का नेतृत्व बचेन्द्री पाल, चीफ, एडवेंचर प्रोग्राम, टाटा स्टील करेंगी।

सफारी का आयोजन सीमा सुरक्षा बल की स्वर्ण जयंती के उपलक्ष्य में किया जा रहा है और संगठन ने इस कार्यक्रम के आयोजन के लिए बचेन्द्री पाल से संपर्क किया। पूरे सफारी अभियान के दौरान साहस की भावना के साथ, उत्साह और चुनौतियों की साझेदारी को स्पष्ट रूप से देखा जा सकता है, और इसके समापन की निर्धारित तिथि 24 मार्च 2015 है। यह बीएसएफ और इसके अस्तित्व के 50 वर्षों के उपलक्ष्य में एक उचित श्रद्धांजलि होगी। इससे पूर्व, सुश्री पाल ने 2007 में भुज से वाघा बाॅर्डर तक इसी प्रकार के एक अभियान का नेतृत्व किया था।

नेतृत्वकर्ताओं के अलावा, टाटा स्टील द्वारा चयनित अन्य प्रतिभागियों में शामिल हैं  प्रेमलता अग्रवाल, जमशेदपुर, दीपांतरी सरदार, सरायकेला-खरसवां, झारखंड,  सुखमति महतो, तुमंुग, झारखंड, सुश्री सुशीला कुमारी, कांड्रा, झारखंड,  राजश्री सिंघल, जमशेदपुर, झारखंड,  शीतल एक्का, टाटा स्टील कर्मचारी, जमशेदपुर, झारखंड,  शोभा रानी हांसदा, टाटा स्टील कर्मचारी, जमशेदपुर, झारखंड,  रानी जामुदा, कलिंगानगर, ओडिशा,  सुमित्रा केराई, कलिंगानगर, ओडिशा, कृष्णा राणा, वडोदरा, गुजरात, अमला रावत, देहरादून, उत्तराखंड, सुश्री संध्या भद्री, देहरादून, उत्तराखंड,  नविता राणा, हजारीबाग, झारखंड।

सफारी के बारे में जानकारी देते हुए टाटा स्टील ऐडवेंचर प्रोग्राम चीफ बचेन्द्री पाल ने कहा कि टाटा स्टील का उद्देश्य हमेशा से सभी उम्र के लोगों को साहसिक खेलों के रोमांच और चमत्कार का एहसास कराना है। यह एक महत्वपूर्ण सफारी है जहां हम अभियान के लिए रवाना होने से पहले सभी प्रतिभागियों को प्रशिक्षित करेंगे जिससे उनका आत्मविश्वास बढ़ेगा और जीवन में चुनौतियों का सामना उन्हें दृढ़ संकल्प के साथ करने के लिए प्रेरित करेगा। यह मानवीय सहनशीलता का एक आदर्श और अंतिम परीक्षण होगा। यह विभिन्न क्षेत्रों तथा विभिन्न संस्कृति के लोगों को एक दूसरे के संपर्क में लाने के अलावा आपको गंभीर परिस्थितियों से निपटना, नेतृत्व गुणों को आत्मसात करना, विनम्रता, साहस, आत्म-सम्मान और डर पर काबू पाना सिखाएगा।

Comments are closed.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More