जिला आपदा प्रबंधन की हुई बैठक.लिया गया कई निर्णय

56

रवि कुमार झा.जमशेदपुर,23 जुन
पूर्वी सिंहभूम जिलांतर्गत अतिवृष्टि के फलस्वरुप आकस्मिक बाढ़ की विभीषिका के मद्धेनजर जिला स्तर पर आपदा प्रबंधन के तहत विमर्श एवं तैयारी हेतु उपायुक्त डॉ0 अमिताभ कौशल की अध्यक्षता में रविवार को समाहरणालय सभागार में बैठक आयाजित की गई।
इस अवसर पर बोलते हुए उपायुक्त महोदय ने कहा कि विभिन्न भौगोलिक, जलवायविक एवं सामाजिक कारणों से विगत वर्षों में पूर्वी सिंहभूम, विशेषकर जमशेदपुर में बाढ़ की बारंबारता में वृद्धि हुई है। गत वर्ष प्रशासन की तत्परता के कारण मतव बेनंसजल संभव हो पायी थी। इस बार भी समय उपायों के द्वारा मतव ब्ंेनंसजल एवं न्यूनतम संपदा क्षति सुनिश्चित करने का लक्ष्य है। इस अवसर पर उन्होंने पहले से चिन्हित संकटापन्न स्थलों के साथ नए स्थलों की भी विवरणी दी। इस अवसर पर मानगो, जमशेदपुर एवं जुगसलाई तीनों अधिसूचित क्षेत्र समितियों के पदाधिकारियों, स्वर्णरेखा बहुदेशीय परियोजना, टाटा स्टील, जुस्को के पदाधिकारियों को बाढ़ पूर्व, बाढ़ के दौरान एवं बाढ़ के पश्चात किए जाने वाले उपायों के संबंध में निर्देश दिए गए। उन्होंने अंचल अधिकारी को नदियों एवं नालों के किनारे अतिक्रमण को खाली कराने का निर्देश दिया। टाटा स्टील व स्वर्णरेखा बहुदेशीय परियोजना के अधिकारियों को स्लुइस गेट की मरम्मति कराने एवं अपने नियंत्रण कक्ष को निरंतर कार्यरत रखने का निर्देश दिया। निचले क्षेत्रों में बने निजी अपार्टमेंट के बिल्डरों को बाढ़ के पानी की निकासी स्वयं कराने की बात उपायुक्त महोदय ने की।
इस अवसर पर श्री लाल मोहन महतो, उप विकास आयुक्त, श्री गणेश कुमार, अपर उपायुक्त, श्री बाल किशुन मुंडा, समाहत्र्ता विधि व्यवस्था, आर्मी यूनिट के कमांडिंग आॅफिसर एवं अन्य जिलास्तरीय पदाधिकारियों के अतिरिक्त सिविल डिफेंस, रेडक्राॅस सोसाइटी आदि से भी लोग उपस्थित थे।

Local AD

Comments are closed.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More