रांची -कृषि अनुसंधान केंद्र के लिए 1000 एकड़ जमीन उपलब्ध

 

केंद्रीय कृषि मंत्री व सीएम ने कृषि विकास योजनाओं पर की चर्चा

रांची,24जनवरी। कृषि अनुसंधान और नई तकनीक को बढ़ावा देने के लिए केंद्र सरकार ने पूसा की तर्ज पर झारखंड में देश का दूसरा कृषि अनुसंधान केंद्र स्थापित करने का निर्णय लिया है। राज्य सरकार की ओर से इसके लिए हजारीबाग-बरही रोड के समीप ओरैया और करमा गांव के निकट करीब 1000 एकड़ जमीन उपलब्ध करा दिया गया हैै। केंद्रीय कृषि मंत्री राधामोहन सिंह ने आज रांची में मुख्यमंत्री रघुवर दास और अन्य वरीय अधिकारियों के साथ बैठक करने के बाद इसकी जानकारी दी।

उन्होंने बताया कि अगले महीने प्रधानमंत्री सिंचाई योजना शुरू कर दी जाएगी। उन्होंने कहा कि झारखंड में कृषि की अब तक उपेक्षा होती रही है और पिछली सरकार ने कृषि विकास के लिए आवंटित बजट का भी समुचित उपयोग नहीं किया। उन्होंने बताया कि पिछली सरकार में केंद्र सरकार की ओर से कृषि विकास के लिए उपलब्ध कराये गये 400 से 500 करोड़ रूपये का उपयोग नहीं किया जा सका। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार बीज ग्राम स्थापित करेगी,जहां उन्नत बीज तैयार किया जाएगा और बाद में इसे किसानों को उपलब्ध कराया जाएगा। केंद्रीय कृषि मंत्री ने कहा कि लैब में तैयार उन्नत बीज का किसान लैंड में प्रयोग कर राज्य में खुशहाली लाएंगे। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार आॅगेर्निक फाॅर्मेसी को बढ़ावा देगी।

श्री सिंह ने कहा कि केंद्र सरकार दूध उत्पादन को बढ़ावा देने के लिए किसानों को और अधिक सुविधा उपलब्ध करायेगी, भूमिहीन किसानों को भी वित्तीय सहायता उपलब्ध करायी जाएगी। उन्होंने कहा कि मछली उत्पादन को बढ़ावा देने के लिए रांची समेत चार शहरों में होलसेल मार्केट बनाया जाएगा और मिशन ब्लू रिवाॅल्यूशन को मूत्र्त रूप दिया जाएगा। उन्होंने राज्य में अवस्थित वेटनरी काॅलेज को इसी माह फिर से चालू करने का निर्देश दिया जाएगा और सारी सुविधाएं उपलब्ध करायी जाएगी। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार ने कृषकों के लिए ऋण प्रवाह को बढ़ावा देने का काम किया है और चालू वित्तीय वर्ष में इसके तहत आठ लाख करोड़ रूपये के ऋण उपलब्ध कराये गये है।

मुख्यमंत्री रघुवर दास ने केंद्रीय मंत्री को यह भरोसा दिलाया कि केंद्र के साथ राज्य सरकार बेहतर समन्वय के साथ काम करेगी और समय सीमा के अंदर बजट के पैसे खर्च भी किए जाएंगे। उन्होंने बताया कि राज्य के कृषकों के लिए आदर्श पंचायत की स्थापना की जाएगी और प्रखंड में कृषि बैंक बनाया जाएगा तथा जिलों में मिट्टी जांच प्रयोगशाला की स्थापना की जाएगी। उन्होंने बताया कि रांची स्थित बेकन फैक्ट्री को निजी लोक सहभागिता,पीपीपी के आधार पर पुनःशुरू किया जाएगा।

इससे पहले केंद्रीय कृषि मंत्री राधामोहन सिंह और नई दिल्ली कृषि मंत्रालय के वरीय अधिकारियों की टीम ने प्रोजेक्ट भवन स्थित राज्य सचिवालय में मुख्यमंत्री रघुवर दास के साथ राज्य में कृषि योजनाओं पर चर्चा की। बैठक में कृषि सिंचाई परियोजनाओं, नयी कृषि तकनीक तथा अनुसंधान, अनाज उत्पादन में बढ़ोत्तरी, उन्नत बीज ,कृषि उपकरण, ऋण सुविधा, पशुओं के नस्ल में सुधार, दूध और मछली उत्पादन में वृद्धि समेत कई बिन्दुओं पर चर्चा की गयी।

 

,

Comments are closed.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More