पोटका प्राथमिक विधालय में हंगामा ,.प्रधानाध्यापक के साथ हाथा-पाई

शंकर गुप्ता.जमशेदपुर ,09,सितबंर

. पोटका प्रखंड में अवस्थीत उ0 प्राथमिक विद्यालय में विद्यालय प्रबधन समिति तथा ग्रामीणों के बीच जमकर जमकर मारपीट हुई । ये घटना उस वक्त हुई जब मध्याहन भोजन बनाने को लेकर हुआ विवाद खडीयासाई के 69 बच्चों का टिसी लेने ग्रामीण विधालय पहुँचे थे। बताया जाता हैं कि ग्रामीणो का आरोप है कि  गलत तरिके से सहायिका का चयन  हुआ था जिसके कारण विवाद बढ गया था जिसके बाद महिलाआओं ने समिति के महिला सदस्यों के साथ की जोरदार मारपीट की  । हालाकि बाद में  पोटका पुलिस के हस्तक्षेप के बाद मामला शांत हुआ।

टना के सबंध..बताया जाता है कि पोटका प्राथमिक बिधालय के प्रधानाध्यापक और अध्यक्ष के मनमानी से ग्रामीण कई माह से परेशान थे ।इस कारण कई समस्या स्कुल में  पढने वालो बच्चो को भूगतना पङता था.  मिडडे मिल का खाना तक बच्चो को समय पर नही दिया जाता था ।इसकी शिकायत कई बार विधालय प्रबंधन से की गई लोकिन प्रबंधन इस पर कोई कार्यवाई नही की ।और इसी का नतीजा निकला की अचानक काफी संख्या  में स्थानीय  ग्रमीण स्कुल पहुँचकर प्रधानाध्यापक और अध्यक्ष के खिलाफ नारेबाजी करने लगे ।और यही हंगामा मारपीट का रुप धारण कर लिया।

क्या है मामला

 

मामला के संबध में बताया जाता हैं कि सहायिका के रुप में देवकी सरदार काम कर रही थी बिना कारण देवकी को हटाये जाने के कारण ग्रामीण विद्यालय के प्रधानध्यापक से नाराज हो गये एंव अपने बच्चों को पिछले 3 महीने से विद्यालय नही भेज रहें थे । मामले के संबध में डीसी ् डीएसी तथा बीईओं को लिखित सूचना दी गयी मगर कोई हल नही निकला जिसके बाद ग्रामीण विद्यालय से 69 बच्चों का टीसी लेकर दुसरे विद्यालय में नामांकण के लिये पहुॅचे जिसके बाद समिति के सदस्यों एंव ग्रामीणों में विवाद बढ गया जिसके बाद विवाद बढ गया एंव जमकर महिलये आपस में भीड गयी एंव जमकर मारपीट हुई ।

स्कुल के प्रार्चाय ने क्या कहा

वहीं स्कुल के प्रधानध्यपिका लक्ष्मी मूंडा ने कहा कि जात पात को लेकर स्कुल में विवाद चल रहा है और स्कुल में खाना बनाने वाली रसोइया मुस्लिम है जिस वजह से बेवजह ग्रामीण हंगामा कर रहे है

 

 

Comments are closed.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More