एक और कंपनी बंद -इंडो आस्ट्रेयिलन होस कंपनी में अनिश्चिकालीन तालाबंदी

मामला—आदित्यपुर औधोगिक क्षेत्र का
संवाददाता,जमशेदपुर 4 सिंतबर
प्रबंधन ने तालाबंदी की घोषणा का सूचना गेट पर चिपकाया कामगारों में आक्रोश, कंपनी गेट के समक्ष धरना पर बैठे फोटो जीतेंद्र-2 आदित्यपुर (रिपोर्टर): औद्योगिक क्षेत्र फेज संख्या एक स्थित इंडो आस्ट्रेलियन होस मैनुफेक्चरिंग प्रा लि कंपनी में आर्थिक स्थिति खराब होने के कारण कारखाना में तालाबंदी कर दी गई है. यह घोषणा कंपनी प्रबंधन द्वारा एक सितंबर को सुबह 8 बजे से अगले आदेश तक कर दी गई है. इस संबंध में कंपनी के गेट पर तालाबंदी की घोषणा का सूचना चिपका दिया गया है, जिसमें कहा गया है कि तालाबंदी अवधि में कारखाने में कोई कार्यकलाप नहीं होगा तथा संबंधित कामगारों को कोई भी वेतन एवं भत्ता देय नहीं होगा तथा इस अवधि को काम नहीं तो वेतन नहीं की अवधि मानी जायेगी. यह निर्णय 27 अगस्त को संपन्न कंपनी के निदेशक मंडल की बैठक में लिया गया, जिसमें कहा गया है कि विगत तीन वर्षो से विभिन्न वाणिज्यक कारणों, जिसमें मुख्यत: उत्पाद के विक्रय मूल्य-विक्रय आगम से अधिक उत्पादन खर्च का पडऩा है. कारखाना की आर्थिक स्थिति बद से बदतर होती चली गई. प्रबंधन के ऋृण भार में भी बढ़ोत्तरी हो गई है. प्रबंधन के लिए कारखाना के कार्यकलाप को चलाना अनार्थिक हो गया है. उक्त कंपनी में एयर ब्रेक रबर होस एवं एलपीजी का सुरक्षा हास आदि का निर्माण किया जाता है. इधर, कंपनी के कामगारों ने इस तालाबंदी का पुरजोर विरोध किया है और कंपनी गेट के समक्ष धरना पर बैठ गये हैं. कर्मचारियों ने कहा कि जब तक उनकी मांगें नहीं मानी जाती है, तब तक वे लोग धरना पर बैठे रहेंगे. कर्मचारियों ने कहा कि कंपनी में कुल 80 स्थायी कर्मचारी हैं, जो पिछले 20-25 वर्षो से शांतिपूर्वक काम करते आ रहे हैं. अचानक कंपनी में तालाबंदी कर दिये जाने से उनके सामने रोजी-रोटी की समस्या खड़ी हो गयी है. कामगारों का अगस्त माह का वेतन भुगतान भी नहीं किया गया है. कर्मचारियों ने कहा कि नोटिस चिपकाने के पूर्व कोई सूचना नहीं दी गयी है. कंपनी मालिक के आवास का घेराव 6 को कर्मचारियों ने कहा कि अगस्त माह का वेतन एवं गत वित्तीय वर्ष का बोनस का भुगतान नहीं किया गया तो 6 सितंबर को कंपनी मालिक राहुल खत्री के सर्किट हाउस स्थित आवास का घेराव किया जायेगा. बताते हैं कि उक्त कंपनी का छह अन्य यूनिट में काम चल रहा है. .

Comments are closed.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More