“इबोला” जैसे लाखों खतरनाक वायरस कहां से आते हैं

34

इस बात को सुनकर आपको अजीब सा लग सकता है। लगेगा जैसे फिल्मी बात सच हो रही है। दरअसल, वैज्ञानिकों ने एक ऐसी रिसर्च की है जिसके मुताबिक बताया गया है कि चमगादड़ आदि स्तनपायी जानवरों से इबोला जैसे गंभीर वायरस इंसानों के शरीर में घुस जाते हैं। एक अध्ययन में पता चला है कि इबोला जैसे वायरस स्तनपाई जानवरों से आते हैं। इन स्तनपायी जानवरों में चमगादड़ मुख्य रूप से शामिल है। एक सर्वे से पता चला है कि इबोला जैसे खतरनाक वायरस लाखों की तादाद में जंगली जानवरों से आ रहे हैं। बीबीसी की एक खबर के मुताबिक इबोला जैसे जानलेवा वायरस जानवरों में तीन लाख से बीस लाख की संख्या मे हो सकते हैं। जिसका खतरा हमेशा बना ही रहता है। इसके खतरे को भांपते हुए पहले वायरसों को पहचानकर इसका हल खोजना चाहिए। शोधकर्ताओं ने अपनी एक रिसर्च में कहा है कि चमगादड़ों जैसे स्तनपायी जानवरों में इबोला और मर्श जैसे खतरनाक वायरस पाए जाते हैं। जिससे लोगों की बेवक्त मौत हो सकती है। कोलंबिया विश्वविद्यालय में सेंटर फॉर इनफेक्शन एंड इम्यूनिटी के निदेशक प्रो. इयन लिपकिन के मुताबिक हम वास्तव में स्तनपायी जानवरों से सम्बन्धित सभी विषाणुओं की पूरी विविधता को परिभाषित करने की कोशिश कर रहे हैं। इसका मकसद विषाणुओं के कारण पैदा होने वाले खतरों का आधार खोजना है।

Local AD

Comments are closed.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More