उद्योगो का राष्ट्रीयकरण हो न की निजीकरन – भारतीय मजदूर संघ

जादूगोड़ा मे भारतीय मजदूर संघ का दो दिवसीय राष्ट्रीय कार्यसमिति की बैठक का उदघाटन हुआ
संवाददाता. जमशेदपुर ,02 अगस्त
जादूगोड़ा यूसिल सामुदायिक भवन मे अखिल भारतीय खनिज धातु मजदूर महासंघ का दो दिवसीय 32 वां राष्ट्रीय अधिवेशन का उदघाटन मुख्य अतिथि अखिल भारतीय मजदूर महासंघ के महासचिव देवेंद्र सास्वत एवं अन्य ने दीप जलाकर किया , मौके पर मौजूद अन्य राज्यो से आए हुए पदाधिकारियों ने कहा की उद्योगो का राष्ट्रीयकरण हो न की निजीकरन क्योकि देश की हीत राष्ट्रीय करण से है
, राजवंश सिंह ( संरक्षक ) ने कहा की बीएमएस का सोच है राष्ट्रीय हित , उद्योग हित , मजदूर हित , देश मे उद्योग बढ़े , उन्होने कहा की बीएमएस एक ऐसी संस्था है जो देश हित मे उत्पादन से कोई समझोता नहीं करती है , उन्होने बताया की कांग्रेस ने इतना दिन राज किया लेकिन मजदूरो के हित मे कुछ नहीं किया ।
इन लोगो ने भी किया संबोधित केसी मिश्रा ( भारतीय मजदूर संघ के ओर्गेनाइजिंग सेकेरेटरी ) , गिरिजानाथ रजावत ( अखिल भारतीय खनिज धातु मजदूर महासंघ अध्यक्ष ) , , पारसनाथ ओझा ( अखिल भारतीय खनिज धातु मजदूर महासंघ झरखान प्रदेश महासचिव ) , राजेन्द्र मिश्रा ( छतिशगढ़ बासको , महासचिव ) , लालता प्रसाद ( रेनूकूट यूपी ) , राजनाथ सिंह ( रेनूकूट यूपी ) , एवं यूसिल के भारतीय मजदूर संघ के बलीराम यादव ,चंदशेखर पंडित , सीताराम मुरमु , मेनेजर सिंह , एमके पंडित , मंगल मुरमु , एवं बड़ी संख्या मे मजदूर मौजूद थे।
अधिवेशन मे देश के अलग अलग राज्यो से लोग पहुंचे हुए थे ।
शनिवार को बीएमएस के अधिकारियों ने गेट सभा भी किया और मजदूरो को जानकारी दिया ।

Comments are closed.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More