यूसिल के सुरक्षाकर्मियों ने रोका बालू का अवैध उठाव

41

 

मामला बढ़ता देख अधिकारी एक-दूसरे पर लगा रहे आरोप

सतोष अग्रवाल.जमशेदपुर,23 मई

जादूगोड़ा यूसिल कालोनी स्थित शिव मंदिर के पास से बिना नंबर का ट्रेक्टर लगाकर बालू स्टॉक का अवैध उठाव किया जा रहा था जिसकी जानकारी मिलने पर यूसिल के सुरक्षाकर्मियों ने बालू का उठाव बंद करवा दिया । पूरा मामला इस प्रकार है जादूगोड़ा के एक नामी ठेकेदार के द्वारा पिछले माह शिव मंदिर के पीछे स्थित गुर्रा नदी को बीच से रोककर बालू का अवैध खनन जेसीबी और हायबा लगाकर किया जा रहा था और उसका भंडारण शिव मंदिर के बगल मे यूसिल कालोनी कैम्पस के अंदर किया जा रहा था इसकी जानकारी होने पर यूसिल के सुरक्षा अधिकारी जेसी नायक एवं जादूगोड़ा थाना के एएसआई उमेश तिवारी ने बालू का उठाव रोकवा दिया था तभी से बालू का बड़ा स्टाक शिव मंदिर के बगल मे रखा हुआ था , यह मामला उस समय बहुत गरमाया था जब ठेकेदारा के द्वारा रोके गए नदी के कारण एक तरफ का पानी दूषित होने लगा था और इस पानी का इस्तेमाल करने वाले ग्रामीणो को खाज – खुजली और शरीर मे फोड़ा की शिकायत हो रही थी ।

शुक्रवार को बालू उठाव के संबंध मे पूछने पर यूसिल के अधिकारी जीसी नायक ने कहा की मैंने काम रोकवा दिया है इससे ज्यादा मे कुछ नहीं कर सकता हूँ आप महेश्वर तिवारी से बात करे ।

महेश्वर तिवारी ने कहा की कालोनी परिसर मे होने वाला कोई भी काम मेरा जारिसडिकसन मे नहीं है ।

अरुण सुचारी ( यूसिल अधिकारी ) – ने कहा की मे इस संबंध मे कहने के लिए स्वतंत्र नहीं हूँ आप कंपनी के पीआरओ अतुल वाजपाई से बात करे ।

अतुल वाजपाई ( पीआरओ ) – मे बाहर हूँ आप पिनाकी रॉय से बात करे ।

पिनाकी रॉय – शुक्रवार को स्टॉक कर रखे गए बालू से एक ट्रेक्टर बालू ठेकेदार द्वारा उठाया गया है इसकी जानकारी पर सुरक्षा अधिकारियों ने जकार उठाव रोकवा दिया एवं इस संबंध मे पिछले माह सुरक्षा अधिकारी जीसी नायक के द्वारा एसडीओ ऑफिस मे लिखित दिया गया है और जबतक क्लियरेंस नहीं मिलेगा तबतक बालू का उठाव नहीं करने दिया जाएगा ।

जिला खनन पदाधिकारी रत्नेश सिन्हा ने कहा की अगर ऐसा है और बालू का अवैध भंडारण किया गया है तो निश्चित रूप से कारवाई की जाएगी ।

बीडीओ मुसाबनी ( मो मुजाहिद अंसारी ) बालू माफियाओ पर कारवाई की जाएगी

Local AD

Comments are closed.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More