केन्द्रीय श्रम मंत्री का झामुमो ने किया जमकर विरोध

49

 

दिखाए काले झांडे,पुलिस अधिकारी थे मूक दर्शक

रवि कुमार झा,जमशेदपुर,23 अगस्त,

केनद्रीय खान इस्पात एवं श्रमनियोजन मंत्री नरेन्द्र सिंह तोमर के जमशेदपुर आगमन पर झामुमो ने जमकर नारेबाजी के साथ विरोध किया और काले झंडे दिखाये। उस दौरान जिला पुलिस बल के सारे अधिकारी मूक दर्शक बने रहे। एक समय ऐसा आया जब भाजपा समर्थकों और झामुमो समर्थकों के बीच तना तनी कि स्थिति बन गयी थी। उस समय पुलिस ने हस्ताक्षेप कर दोनों पक्षों को आपस में उलझने से रोका।

टाटा स्टील के बुलावे पर केन्द्रीय खान इस्पात एवं श्रमनियोजन मंत्री नरेन्द्र सिंह तोमर जमषेदपुर के सोनारी स्थित एयरर्पोट पर अपने तय कार्यक्रम से लगभग एक घंटा विंलब से पहुंचे। एयरर्पोट के बाहर झामुमो जिला अध्यक्ष रमेश हांसदा,जिला सचिव लालटु महतो, केन्द्रीय नेता प्रमोद लाल और शंकर हेम्ब्रम,मुनौवर हुसैन,रियाज खान सहित दर्जनों कार्यक्रता पार्टी झंडा के साथ काला झंडा लेकर धरना पर बैठ गये। वे जम कर प्रधान मंत्री नरेन्द्र मोदी, श्रमनियोजन मंत्री नरेन्द्र सिंह तोमर के साथ भाजपा के खिलाफ नारेबाजी कर रहे थे। वे गोबैक और हाय हाय के नारे लगा रहे थे।

सुरक्षा दृष्टि के मद्देनज़र केंद्रीय इस्पात मंत्री नरेंद्र सिंह तोमरहवाई अड्डा पर मीडिया से भी बात नहीं कर पाये और सीधे टाटा स्टील के प्रबंध निदेशक टी वी नरेंद्रन के साथ वाहन में सवार होकर निकल गए,हवाई अड्डा पर बड़ी संखया में भाजपा नेता मौजूद थे।

 

100 बेड वाले ईएसआईसी अस्पताल का किया शिलान्यास

 

सरायकेला –खरसांवा जिला के आदित्यपुर में  99 करोड़ रुपये की लागत से श्रमिकों को स्वास्थ लाभ देने हेतु बननेवाले ईएसआईसी अस्पताल के निर्माण कार्य का शिलान्यास केंद्रीय इस्पात, श्रम एवं खनन मंत्री नरेन्द्र सिंह तोमर में
किया। औद्योगिक क्षेत्र में बनने वाले 100 बेड वाले अस्पताल निर्माण की मांग
वर्षों से लंबित थी। अब केंद्रीय मंत्री द्वारा हरी झंडी दिखा दिये जाने के
बाद लगभग डेढ़ लाख श्रमिकों की चिर-परिचित मांग पूरी होती दिखी। मौके पर आयोजित समारोह को संबोधित करते हुए केंद्रीय
मंत्री नरेन्द्र सिंह तोमर ने कहा कि केंद्र सरकार की प्राथमिकता है कि
हिन्दुस्तान विश्व का नेतृत्व करे और श्रमिकों के जीवन में खुशहाली आये।
उन्होंने केंद्र के अधिकारों को भी केंद्रीत करने की बात कही। साथ ही मजदूरों
के बेहतरी के लिए स्टेट लेबल कमेटी बनाने की भी बात कही ताकि 50 लाख रुपये तक
की कार्य योजनाओं के लिए केंद्र का मुंह न देखना पड़े। श्रमिकों के युनिवर्सल
एकाउंट नंबर जारी करने की बात कहते हुए केंद्रीय मंत्री ने कहा कि इस पहल से
विलंबता और भ्रष्टाचार पर अंकुश लग सकेगी। उन्होंने कहा कि न्यूनतम पेंशन की
मांग लंबे समय से की जा रही थी जिसे मात्र ढाई महीने के कार्यकाल में मोदी
सरकार ने बढ़ा कर 1000 कर दिया। शिलान्यास के
मौके पर केंद्रीय इस्पात, श्रम एवं खनन राज्य मंत्री विष्णुदेव सहाय, सांसद
रविन्द्र राय, सुनील सिंह, विद्युतवरण महतो, लक्ष्मण गिलुवा, नगर पार्षद की
चेयर राधा सांडिल और ईएसआई के डीजी ए.के. अग्रवाल समेत काफी संख्या में
गणमान्य लोग मौजूद थे।

Comments are closed.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More