कान्स फिल्म समारोह के लिए चुनी गई श्यामा भार्गव की लघु फिल्म ‘अंतप्र्रवाह’

313

संवाददाता,जमशेदपुर,08 मई
झारखंड की राजधानी रांची निवासी श्यामा भार्गव की लेखक-निर्माता और निर्देशक के तौर पर पहली फिल्म ‘अंतप्र्रवाह’ को लघु फिल्मों की श्रेणी में 2014 के कान्स फिल्म समारोह के कान्स कोर्ट मेटरेज – शाॅर्ट फिल्म काॅर्नर 2014 के लिए चुना गया है। श्यामा की फिल्म की मार्केटिंग न्यू वल्र्ड सिनेमाज के कान्स फिल्म समारोह में द मार्शे ड्यू फिल्म द्वारा की जाएगी। अंतप्र्रवाह हिन्दी भाषा में 17 मिनट लंबी फिल्म है जिसकी निर्माता व लेखक श्यामा भार्गव हैं। इसकी कार्यकारी निदेशक डाॅ. संध्या बख्शी, डीओपी शंकरन कुट्टी व राजू केगी, संपादक तापस घोष, साउंड डिजाइनर हितेंद्र घोष, बैकग्राउंड स्कोर गौरंग सोनी का है। इसमें दिव्यम दामा, योगेश महाजन, बिदिता बाग ने अभिनय किया है। श्यामा भार्गव के अनुसार, ‘बतौर निर्देशक मेरी पहली शाॅर्ट फिल्म को कान्स के शाॅर्ट फिल्म काॅर्नर के लिए चुना जाना मेरे लिए इसलिए भी खुशी की बात है क्योंकि मेरी फिल्म शाॅर्ट फिल्म के लिए तय लंबाई से अधिक है। साथ ही इसे मार्शे ड्यू द्वारा मार्केट किया जा रहा है। यह चयन मेरे लिए बहुत बड़ी बात है, क्योंकि इसी स्थान पर फिल्मकार, निर्माता, फिल्मों के खरीदार और मेहमान चुनी गई फिल्मों को देखने के लिए आते हैं। इसी स्थान पर कई मुलाकातें अचानक भी होती हैं और यहां मुझे निर्माताओं, वितरकों से भी मिलने का मौका मिलेगा और साथ ही समूचे समारोह, मार्केट, एसएफसी, प्रायोजित स्लाॅट्स आदि का अनुभव भी प्राप्त होगा। मेरे लिए लघु फिल्मों बड़ी फिल्मों के लिए मार्ग प्रशस्त करने के साथ फिल्म निर्माण में गहरे तक पैठ बनाने का मार्ग प्रशस्त करती हैं।’अंतप्र्रवाह पलक और कुणाल की कहानी है। यह एक ऐसा दंपती है जो अमेरिका से लौटकर भारत आया है और यहां की जीवनशैली और अन्य कमियों से तालमेल बैठाने का प्रयास कर रहा है। उनका पांच वर्षीय पुत्र अदी रोजमर्रा की घरेलू उठापटक से तंग आता है और साथ ही माता-पिता के बीच तनाव भी उसे परेशान करता है। क्या वह अपने अभिभावकों की कलह दूर करने का माध्यम बनता है या चुपचाप उसे झेलता है ?

Local AD

Comments are closed.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More