जमशेदपुर में फीकी रही मोदी की सभा

जमशेदपुर में फीकी रही मोदी की सभा
****************************************

जमशेदपुर में गुरूवार को भाजपा के पीएम इन वोटिंग नरेंद्र मोदी की सभा फीकी रही. हालत यह
हुई कि मोदी के भाषण शुरू करते ही गोपाल मैदान से लोगों का जाना शुरू हो गया. भीड़ के पलायन की गति इतनी तेज़ थी कि मोदी 12-13 मिनट में ही अचानक भाषण रोक कर दनदनाते हुए एयरपोर्ट निकल गए. हालांकि मोदी को आज बिहार में तीन सभाओं को सम्बोधित करना था, इस कारण उनके पास समय की भी कमी थी, पर जिस तरह उन्होंने भाषण खत्म करते वक़्त धन्यवाद और जय हिन्द तक की औपचारिकता भी नहीं निभाई, उससे उनकी नाराज़गी स्पष्ट झलकी.
कोल्हान की दो लोकसभा सीटों, जमशेदपुर और सिंहभूम के भाजपा प्रत्याशियों के समर्थन में मोदी की सभा गुरूवार को शहर के बीचोंबीच स्थित गोपाल मैदान में रखी गयी थी. मंच और सुरक्षा घेरे को हटाने के बाद गोपाल मैदान में करीब 25 हज़ार लोग समा सकते हैं. भाजपा नेताओं के साथ प्रशासन को भी उम्मीद थी कि जमशेदपुर और सिंहभूम दोनों क्षेत्रों से भारी तादाद में लोग मोदी को सुनने आयेंगे. क्योंकि सभा शहर में होने के कारण बीजेपी कार्यकर्ताओं के साथ साथ आमलोग भी गोपाल मैदान पहुंचेंगे. इस लिहाज से यातायात के तमाम एहतियाती उपाय भी किये गए थे. मगर साधारण मेलों-ठेलों में भी खचाखच भर जानेवाले इस मैदान को पूरी तरह भर पाने में भाजपा नाकाम रही.
आलम यह था कि दोपहर 12 बजे तक आधा मैदान भी नहीं भरा था. हालांकि बाद में भीड़ जुटनी शुरू हुई. दोपहर करीब पौने दो बजे मोदी तय समय से करीब घंटा भर देर से जब कार्यक्रम स्थल पर पहुंचे, तो पेट्रोल पम्प वाले कोने को छोड़ कर मैदान का बाकी हिस्सा तक़रीबन भर चुका था. मैदान के बाहर भी चारों ओर काफी संख्या में लोग पेड़ों की छाया में खड़े थे. मगर गर्मी भी तब तक पूरे शबाब पर आ चुकी थी. चिलचिलाती धूप में मैदान के अंदर पानी की व्यवस्था नही होने के कारण भी लोगों को काफी परेशानी हो रही थी. उसपर रही-सही कसर लचर ध्वनि व्यवस्था ने पूरी कर दी. साउंड सिस्टम इतना खराब था कि आगे की कतार में बैठे लोगों को छोड़ बाकी किसी की समझ में कुछ नहीं आ रहा था.
मोदी के बोलना शुरू करते ही मीडिया के लिए निर्धारित जगह पर भाजपाइयों ने घुस कर धक्का-मुक्की शुरू कर दी, जिस पर मोदी ने मीडियाकर्मियों से खुद क्षमा मांगी. फिर जैसे ही उन्होंने बोलना शुरू किया…आगे वीआईपी के लिए लगाई गयी कुर्सियों और बैरिकेडिंग पर लोग खड़े होकर नारेबाजी करने लगे… मोदी ने लोगों से कुर्सियों से उतरने का भी आग्रह किया पर किसी ने नहीं सुना…इसी बीच काफी तादाद में पीछे खड़े लोग जाने लगे. शायद अपेक्षित भीड़ न देख मोदी भी रंग में नहीं दिखे. भाषण में भी नयापन नहीं था. पर इस सभा ने भाजपा के संगठनकर्ताओं की पोल जरूर खोल दी. जमशेदपुर लोस क्षेत्र में 26 मंडल हैं. हर मंडल से एक हज़ार कार्यकर्ता और समर्थक भी आते तो मैदान में तिल रखने की जगह नहीं होती. संख्या को लेकर भाजपा भले ही जो दावे करे लेकिन उसके पीएम इन वेटिंग की सभा ने बड़े नेताओं की पेशानी पर बल जरूर डाल दिया है.
सभार– आनंन्द कुमार के फेसबूक वाल से

Comments are closed.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More