सिस्टम दुरुस्त होगा तब अंतिम व्यक्ति तक पहुँचेगा विकास: रघुवर दास

 

रिक्त पङे पदो को जल्द भरा जाएगा

संवाददाता,जमशेदपुर,02 जनवरी

मुख्यमंत्री रघुवर दास ने विकास योजनाओ की रुपरेखा व भावी योजनाओ तथा प्राथमिकताओ से संबंधित मुद्दे पर जमशेदपुर परिसदन में पत्रकारों से बातचीत करते हुए कहा कि उनकी सरकार की सोच में ’सबका विकास-सबका साथ’ मूलमंत्र होगा, कामकाज के तरीके में बदलाव लाया जाएगा, सिस्टम को दुरुस्त किया जाएगा। उन्होने कहा कि समाज के अंतिम व्यक्ति तक विकास पहुंचा सकते हैं।

झाविमो का भाजपा में विलय होने या नहीं होने से संबंधित सवाल के जवाब में रघुवर दास ने कहा कि इसका जवाब झाविमो प्रमुख बाबूलाल मरांडी से पूछें। इससे पहले कि 14 साल तक झारखंड में सरकार द्वारा किये गये कार्यों पर किसी भी प्रकार की टिप्पणी करने या फिर पत्रकारों के सवालों का जवाब देने से इंकार करते हुए रघुवर दास ने कहा कि वे अपनी और अपनी सरकार की बात करेंगे।

 

रिक्त पदो की भङे जाएगें

श्री दास ने कहा कि सिपाहियों के रिक्त पड़े 17 हजार पदों को  भी एक-दो महीने में भरने के लिए प्रक्रिया शुरु की जाएगा।मुख्यमंत्री ने शिक्षकों व सिपाहियों समेत विभिन्न पदों में रिक्त पड़े पदों को भी शीघ्र भरने का भरोसा दिलाया है। उन्होने कहा कि प्राथमिक, मध्य व उच्च विद्यालयों के रिक्त पड़े पदों को भरा जाएगा, अखबारो के माध्यम से इसके लिए शीघ्र ही विज्ञापन निकाला जाएगा।

सीएनटी व एसपीटी  एक्ट में किसी प्रकार का छेड़-छाड़ नहीं 

मुख्यमंत्री रघुवर दास ने कहा है कि छोटानागपुर काश्तकारी अधिनियम(सीएनटी) और संताल परगना काश्तकारी अधिनियम (एसपीटी) में कोई बदलाव नहीं होगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि सीएनटी व एसपीटी एक्ट में कोई छेड़छाड़ नहीं किया जाएगा। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार अनुसूचित जनजाति वर्ग और यहां के लोगो के हितों के लिए बनाये गये कानून में कोई छेड़छाड़ नहीं किया जाएगा।

स्टील हब, एजुकेशन हब और आईटी हब बनाये जाएगे

रघुवर दास ने बातचीत करते हुए झारखंड स्टील हब, एजुकेशन हब और आईटी हब बनाने की बात कही। मुख्यमंत्री ने बताया कि जमशेदपुर में मनीपाल मेडिकल कॉलेज और अस्पताल का निर्माण जरूर होगा इसके लिए राज्य सरकार मनीपाल प्रबंधन को पूरा सहयोग करेगी। मनीपाल मेडिकल कॉलेज व अस्पताल निर्माण के लिए भूमि को चिन्हित कर लिया गया है।

*दिल्ली के तर्ज़ पर अवैध बस्तियों को वैध पट्टा दिया जायेगा

एक सवाल के जवाब में रघुवर दास ने बताया कि अवैध बस्तियों को दिल्ली की तर्ज पर नियमित करने का प्रयास झारखंड सरकार द्वारा किया जायेगा। बस्तियों को नियमित करने के मुद्दे को लेकर दिल्ली जाकर बातचीत करेंगे। उन्होंने यह भी कहा कि अवैध बस्तियों टूटेंगी नहीं और सभी बस्तियों में मूलभूत सुविधाएं बिजली पानी समेत सबको मिलेगा। रघुवर ने कहा कि अब पांच साल तक झारखंड में भी सुशासन रहेगा।

भटके हुए लोगो को मुख्यधारा से जोङा जाएगा

नक्सलियों से संबंधित एक सवाल के जवाब में मुख्यमंत्री ने कहा कि यह कोई बड़ी समस्या नहीं है। भटके हुए लोगों को मुख्य धारा से जोड़ने की जरूरत है। नक्सलियों को भी रोजगार उपलब्ध कराया जायेगा, ताकि वे हथियार छोड़कर अपने परिवार के साथ समाज के बीच में रह सके। उन्होने कहा कि

अंतिम व्यक्ति को देखकर बजट बनाया जाएगा

मुख्यमंत्री रघुवर दास ने कहा कि राज्य में इतने संसाधन है कि प्रयाप्त बिजली बना सकते हैं। उसे बेच कर झारखंड का बजट बना सकते हैं। झारखंड में भी अच्छे दिन लाने की बात करते हुए मुख्यमंत्री ने आगे कहा कि समाज के अंतिम व्यक्ति को ध्यान में रखकर बजट बनायेंगे। उन्होंने संभावना जतायी कि झारखंड को आर्थिक रूप से महाराष्ट्र की बराबरी पर लाकर पांच साल में खड़ाकर देंगे। प्राकृतिक संसाधनों के उपयोग के लिए कारखाने लगाये जायेंगे तो रोजगार मिलेगा। प्राप्त जानकारी के अनुसार पूर्ण बहुमत की सरकार का नेतृत्व कर रहे रघुवर दास कम से कम समय में उन सारी योजनाऔं को अमली जामा पहनाना चाहते है, जो उनके उपमुख्यमंत्रीत्व काल अथवा मंत्री  रहने के दौरान अधुरे रह गये थे।

 

मुख्यमंत्री रघुवर दास ने आज जमशेदपुर में की घोषणा 

 

*झारखण्ड डेवलपमेंट कौंसिल का होगा गठन

*भ्रष्टाचार से सम्बंधित शिकायत पर 24 घंटे में होगी कार्यवाई

*जमशेदपुर-आदित्यपुर-गम्हरिया को बनाएंगे इंडस्ट्रियल हब

* सीएनटी व एसपीटी  एक्ट में किसी प्रकार का छेड़-छाड़ नहीं

* नये मेडिकल कॉलेज के लिए मनिपाल मेडिकल कॉलेज से करेंगे बात

*देवघर में एम्स की शाखा लायी जायेगी

*सोनपुर नदी से कृषि के लिए गढ़वा-पलामू क्षेत्रों में पाइप लाइन से सिंचाई की व्यवस्था

*ईस्टर्न कॉरिडोर का काम एक महीना के अंदर होगा शुरू

*भूमि विकास बैंक की स्थापना शीघ्र

*दिल्ली के तर्ज़ पर अवैध बस्तियों को वैध पट्टा दिया जायेगा

*संथाल-चाईबासा में होगी कैबिनेट की अगली बैठक

 

Comments are closed.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More