सिखों के दसवें गुरू श्री गुरू गोविंद सिंहजी की जयंती धूमधाम से संपन्न

 

टेल्को से निकला नगर कीर्तन जुलूस

संवाददाता.जमशेदपुर,28 दिसबंर

रविवार को सिखों के दसवें गुरू श्री गुरू गोविंद सिंहजी की जयंती बहुत ही धूमधम से पूरे देश के साथ लौहनगरी में भी बड़ी ही श्रद्धा व हर्षोल्लास के साथ मनाया गया। श्री गुरू गोविंद सिंहजी का 348वां प्रकाश दिहाड़ा ;प्रकाशोत्सवद्ध के अवसर पर कोल्हान प्रमंडल के तीनों जिले के सभी गुरूद्वारों को दुल्हन की तरह सजाया गया था। सेंट्रल गुरूद्वारा प्रबंध्क कमिटी जमशेदपुर ;सीजीपीसीद्ध के नेतृत्व में इस बार टेल्को गुरूद्वारा से विशाल नगर कीर्तन ;शोभायात्राद्ध निकला जो साकची मेन रोड स्थित सेंट्रल गुरूद्वारा में आकर संपन्न हुआ। आज सुबह 11.30 बजे टेल्को गुरूद्वारा से नगर कीर्तन आरंभ हुआ, जो संध्या 5.30 बजे लगभग साकची सेंट्रल गुरूद्वारा पहंुचकर संपन्न हुआ। टेल्को गुरूद्वारा में  अकाली दल के जत्थेदार जरनैल सिंह ने पहले अरदास किया, जिसके बाद टाटा मोटर्स के प्लांट हेड एबी लाल ने गुरूग्रंथ साहिब पर संुदर वस्त्रा चढ़ाये। इस मौके पर झारखंड प्रदेश गुरूद्वारा प्रबंध्क कमिटी के प्रधन सरदार शैलेन्द्र सिंह, सीजीपीसी के प्रधन इंदरजीत सिंह, भाजपा नेता अमरप्रीत सिंह काले समेत कई गणमान्य लोगों ने पालकी साहेब के सामने माथा टेक कर आर्शीवाद लिया। इन सभी को सीजीपीसी द्वारा सम्मानित भी किया गया। शोभायात्रा का नेतृत्व सेंट्रल गुरूद्वारा प्रबंध्क कमिटी कर रही थी। हर साल की तरह इस वर्ष भी गतका ;सिख मार्शल आर्टद्ध आकर्षण का केन्द्र रहा। वहीं नन्हे घुड़सवार भी पारंपरिक पोषाक में नगर कीर्तन की शोभा को बढ़ा रहे थे। शोभायात्रा के दौरान श्री गुरू गोविंद सिंहजी की पालकी की पूजा जगह-जगह की गयी। श्री गुरू गोविंद सिंहजी जयंती को लेकर शहर के सभी गुरूद्वारों में अखंड पाठ साहेब की लड़ी चलायी गयी। गुरूद्वारों में प्रभातपफेरी भी निकाली गयी। शहर के सभी गुरूद्वारों की विद्युत सज्जा आकर्षण का केन्द्र बनी हुई थी। रविवार को अखंड साहेब के पाठ की समाप्ति के बाद गुरूद्वारों में अरदास की गयी और कीर्तन दरबार सजा। नगर कीर्तन में शहर के हिन्दी व अंग्रेजी स्कूलों के बच्चों के अलावा सिख स्त्राी सत्संग सभा, कीर्तनी जत्था एवं सिख नौजवान सभा की तत्थेबंदियां भी शामिल थी। नगर कीर्तन की लंबाई लगभग तीन किमी थी। टेल्को गुरूद्वारा से साकची गुरूद्वारा तक 9 किमी का सपफर तय करने में शोभायात्रा में शामिल लोगों को छह घंटे से अध्कि लगे। नगर कीर्तन टेल्को गुरूद्वारा से शुरू होकर नीलडीह गोलचक्कर, गोलमुरी मेन रोड, पुलिस लाईन, आरडी टाटा गोलचक्कर, साकची कालीमाटी रोड होते हुए साकची गुरूद्वारा में पहंुचकर समाप्त हुआ। टेल्को से लेकर साकची तक विभिन्न संस्था व गुरूद्वारा कमिटियों द्वारा 50 से अध्कि तोरणद्वार बनाये गये थे। जिस मार्ग से शोभायात्रा गुजरी, उस मार्ग में विभिन्न राजनीतिक, सामाजिक, गुरूद्वारा कमिटियां एवं सिख समाज के लोगों ने शिविर लगाकर शोभायात्रा में शामिल लोगों का स्वागत किया। जगह-जगह पानी, शर्बत, चाय, पकौड़ी, बिस्कूट, सेव, केला, संतरा आदि का वितरण भी कई संस्थाओं की तरपफ से किया गया। नगर कीर्तन के दौरान विध् िव्यवस्था बनाये रखने के लिए जिला एवं पुलिस प्रशासन द्वारा दंडाध्किारियों समेत प्रर्याप्त संख्या में पुलिस बल को तैनात किया गया था। नगर कीर्तन मंे शामिल लोग वाहे गुरूजी की खालसा, वाहे गुरूजी की पफतेह का नारा लगा रहे थे। कुल मिलाकर श्री गुरू गोविंद सिंहजी का प्रकाशोत्सव बड़े ही ध्ूमधम से संपन्न होने पर जिला प्रशासन एवं पुलिस प्रशासन ने राहत की सांस ली है। सीजीपीसी के प्रधन इंद्रजीत सिंह, हर हर महादेव सेवा संघ के संस्थापक अध्यक्ष अमरप्रीत सिंह काले एवं झारखंड प्रदेश गुरूद्वारा प्रबंध्क कमिटी के प्रधन सरदार शैलेन्द्र सिंह ने शहरवासियों को श्री गुरू गोविंद सिंहजी जयंती ध्ूमधम से संपन्न होने पर लख-लख बधई दी है।

 

 

Comments are closed.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More