सहरसा-डेंगराही अनशन के समर्थन में फरकिया में बना मानव श्रृंखला

101

डेंगराही घाट पर बारहवां दिन भी अनशन रहा जारी
फरकिया में दौड़ गई जनक्रांति की लहर
फरकिया वासियों ने 15 किमी मानव श्रृंखला बना रच दिया इतिहास
कोशी की कछार से लौटकर ब्रजेश भारती की रिपोर्ट :-
अनुमंडल के सलखुआ प्रखण्ड स्थित चानन पंचायत के डेंगराही घाट में अनशन के बारहवां दिन फरकिया बासियों ने 15 किलोमीटर तक हजारों लोगों ने मानव श्रृंखला बना अपना समर्थन पुल की मांग को दिया। वही बुधवार की रात फरकिया की महिलाओं व बच्चें ने थाली बजा कर अनसन का समर्थन किया और सरकार से अपनी मांग रखा।
गुरुवार को बारहवे दिन के करीब बारह बजे से दो बजे तक बूढ़े,बच्चे,महिला,पुरुष हाथ में हाथ मिला डेंगराही अनशन स्थल से खगड़िया जिला के समीवर्ती ईलाका सुगर कौल तक सड़क के दोनों ओर खड़ा हो कर फरकिया के इतिहास में एक नया अध्याय जोड़ने का काम किया।
वही गुरूवार को अनसनकारियों का हालात खराब देख कर डॉक्टर की टीम ने सभी अनसनकारियों को स्लाईन चढ़ाने का काम जारी रखा। पूर्व जिप उपाध्यक्ष रीतेश रंजन ने कहा जब तक सरकार के तरफ से कोई ठोस पहल नहीं मिलता डेंगराही घाट पर शिलान्यास नहीं किया जाता तब तक हमलोग अनसन से उठने वाले नहीं है।बाबूलाल शौर्य के साथ पूर्व जिप उपाध्यक्ष रीतेश रंजन,पूर्व जिप सदस्य प्रवीण आनंद के साथ52 महिला पुरुष अनसन पर बैठी हुई हैं।
बिहार राज्य पुल निर्माण निगम के कनीय अभियंता मोहित कुमार गुप्ता,उमेश यादव,संजय पासवान के अलावे पथ निर्माण निगम के सुनील कुमार मांझी के साथ जिला परिवहन पदाधिकारी राजीव कुमार एवं जिला योजना पदाधिकारी जन्मजेय की एक टीम जिलाधिकारी के निर्देश पर पुल व सड़क निर्माण की दिशा में सर्वे करने पहुंची। टीम के सदस्यों ने अनशनकारीयों से वार्ता करने की भी कोशिश की गई लेकिन अनशन पर बैठे लोगों ने कहा कि एक मांग पुल निर्माण से नीचे कुछ कम बात से काम नही चलेगा जबतक पुल व सड़क निर्माण की दिशा में ठोस पहल नही होगी ये अनशन इसी तरह अनवरत जारी रहेंगी। वही टीम के सदस्यों ने बताया कि हमलोगों ने पुल व सड़क का सर्वे किया है यहां पर कम से कम एक किलोमीटर लम्बाई की पुल बनाने की आवश्यकता है इसमें करीब एक सौ से ढ़ेड सौ करोड़ का बजट आने की संभावना बनती दिख रही है।
वही धरना स्थल पर भजपा नेता पूर्व विधायक आलोक रंजन,सिमरी नगर अध्यक्ष संजीव भगत,पहुँच कर अनसनकारियों से मिले और यहाँ की समस्या से रूबरू हुए।मौके पर रामभरोश महतों, कविता देवी,प्रमिला देवी,रंजेश महतों,विकास कुमार सिंह, कैलाश पासवान,सुभाष चंद्र जोसी,मुरारी कुमार,कपिलदेव सिंह,जोगेंद्र सिंह,कैलाश पासवान,उपेन्द्र महतों,रामविलाश महतों,दीनानाथ पटेल,अशोक दास, विद्यानन्द यादव,कुशेश्वर यादव,युगेश्वर यादव,सुदिन यादव,प्रमोद महतों,पांडव यादव,सुनील यादव,रूदल महतों,रंजेश महतों,अरबिन्द महतों,आनंदी महतों रामनंदन सिंह,सुरेश यादव, इत्यादि हजारों फरकिया वासी धरना स्थल पर मौजूद रहें।

Comments are closed.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More