सहरसा-जब शव को सड़क पर रख भागा एम्बूलेंस तो मामला तुल पकड़ा

मानवता को शर्मसार किया एम्बूलेंस ड्राईवर ने
सिमरी बख्तियारपुर(सहरसा) ब्रजेश भारती ।
सिमरी बख्तियारपुर-सहरसा मार्ग के सबैठा गांव के समीप मोटरसाईकिल व साईकिल के बीच सीधी भीड़ंत में हुई साईकिल सवार की मौत के मामले में उस समय मानवता शर्मसार हुआ जब अस्पताल से जख्मी मोटरसाईकिल सवार व मृतक को सहरसा ले जाने के क्रम में अस्पताल एम्बूलेंस ड्राईवर ने शव को अस्पताल से चंद कदमों की दुरी पर एनएच 107 पर शव को सड़क किनारे उतार सहरसा चलते बना।जैसे ही लोगों को इस बात की जानकारी मिली वे सब एनएच पर पहुंच शव को सड़क पर रख जाम कर रोषपूर्ण प्रदर्शन करने लगा।इसी क्रम में स्थानिय थाना जामस्थल पर पहुंचा तो प्रदर्शनकारी ने उनपर भी पथराव करते करते रूका।जाम की जानकारी मिलने पर सीओ धमेन्द्र पंडित प्रदर्शनकारी को समझाने का प्रयास किया लेकिन असफल रहा।वही जाम कर रहें प्रदर्शनकारी ने वहा से शव को लेकर पुरानी बाजार मंदिर चौक पर रख टायर जला प्रदर्शन करने लगे। मामले को उग्र होते देख प्रसासन ने स्थानिय नेताओं का सहारा लिया। वही एसडीओ सुमन प्रसाद साह,डीएसपी स्वंय प्रदर्शनकारीयों से वार्ता कर उचित मुआवजा देने का आश्वाशन दिया जिसके बाद शव को पुलिस वहां से उठा पोस्टमार्टम के लिये ले जाया गया।
परिजनों में मचा कौहराम-
शनिवार दोपहर रायपुरा पंचायत के सबैठा के पास हुई सड़क दुर्घटना में अकाल मृत्यु को प्राप्त संजीत कुमार के बाद मृतक के परिजनों का रो-रो कर बुरा हाल है.घटना के बाद मृतक संजीत की माँ संभा देवी ने बताया कि हो बाबू, कैना जिबै हो.माँ ने क्रंदन करते हुए कहा कि लायक बेटा चल गईले हो.इधर, घटना के बाद मृतक के बीमार पिता सीवन शर्मा का भी रो-रो कर बुरा हाल है.पिता कहते है कि राम के समान बेटा था और भगवान ने उसे छीन लिया।
तीन घंटो तक रहा एनएच जाम-
लगभग तीन घंटो तक मृतक के शव को रख आक्रोशित लोगो ने जाम किया,पहले जाम जहां शव को छोड़ एम्बूलेंस ड्राईवर भागा वहां किया गया फिर पुरानी बाजार मंदिर चौक पर शव को रख जाम किया ईतना ही नही आक्रोशित लोगो ने राहगीर को भी नही बक्सा एक राहगीर मोटरसाईकिल सवार को सर पर मार जख्मी कर दिया जिसके बाद स्थानिय प्रशासन ने थोरी सक्ति दिखाते हुये स्थानिय नेताओं का सहारा ले मामले को निपटाया।

Comments are closed.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More