शेखपुरा-गर्मी की शुरुआत होते ही मुख्यमंत्री नीतीश की हर घर नल ,जल योजना का हाल हुआ बुरा,पेयजल की संकट लगा गहराने

59

 


ललन कुमार।
शेखपुरा।

गर्मी की शुरुआत होते ही बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के हर घर नल,जल योजना का हाल बुरा होने लगा है। चाहे वह शहरी क्षेत्र हो या ग्रामीण क्षेत्र पेयजल संकट गहराने लगा है।यह पेयजल संकट खासकर ऑपरेटरों की मनमानी के चलते और अधिकारियों की लापरवाही के चलते शुरू हो गयी  है । कहीं कहीं भू-जलस्तर  गिरने से सरकारी चापाकल भी कम पानी उगलने लगे है ।कई चापाकल तो मरम्मती के अभाव में यों ही खराब पड़े हैं। वह भी मरम्मती किये जाने का राह देख रहा है ।शहरी क्षेत्र में तो दिन में एकाध बार ही नल से जलापूर्ति की जाती है।वह भी मुश्किल से बिना निर्धारित टाइम के 25 -30 मिनट ही आपूर्ति की जाती है। कम समय तक सरकारी नल स्टैंडों में और दिन में एक ही टाइम  पेयजल  आने  से लोगों में आक्रोश भी भड़कने लगा है ।लोगों का यह आक्रोश कब विस्फोटक रूप ले लेगा यह भी कहना मुश्किल है। खासकर नगर परिषद क्षेत्र के वार्ड नं 14,15 और 16 में सरकारी नल स्टैंडों में अनियमित जलापूर्ति से लोग हलकान हो रहे हैं।वार्ड नं 16 की संगीता देवी,बुलबुल कुमारी , वार्ड नं 15 की सगमा खातून ,मनोज कुमार समेत अन्य लोगों ने कहा कि सरकारी नल स्टैंडों में दिन में एकही बार कम समय के लिए पानी दिया जाता है जिससे उनलोंगो को काफी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। उन्होंने कहा कि सोंच लीजिए कि पीने से लेकर साफ-सफाई का काम पानी ही से होता है ।पानी नही मिलने से लोगों में आक्रोश तो बढ़ेगा ही ।ऐसे में मुख्यमंत्री नीतीश के हर घर नल जल योजना पर ग्रहण लगता दिख रहा है।आपको बताते चले कि तत्कालीन सांसद राजीव रंजन सिंह उर्फ ललन सिंह की सांसद मद से शहरी जलापूर्ति योजना के तहत 28 करोड़ की सरकारी राशि से नगर परिषद क्षेत्र में 66 किमी जलापूर्ति पाइप बिछायी गयी है और 6 ऊँचे ऊँचे जल मीनार शहर को 24 घंटे जलापूर्ति होते रहने के लिये बनायी गयी है। फिर भी शहर वासियों को नल स्टैंडों का पानी बड़ी मुश्किल से मिल पाता है।यदि सभी जल मीनारों को जल से पूरा भर कर जलापूर्ति शहर को की जाय तो यह समस्या नहीं रह सकती है।लेकिन जलमिनारो से जलापूर्ति नहीं किये जाने से और सीधे पम्प हाउस से जलापूर्ति किये जाने से घरों में एक टाइम भी पानी नहीं चढ़ पाता है।जिससे समस्या और भी गंभीर बन जाती है ।वहीं सामाजिक कार्यकर्ता दिनेश प्रसाद ने कहा कि ऑपरेटरों की मनमानी और अधिकारियों की लापरवाही के चलते ही मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के हर घर नल योजना फ़्लॉप हो रही है।

Comments are closed.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More