जमशेदपुर-’’कॉफी विद कलेक्टर’’: पूर्वी सिंहभूम में एक अभिनव शुरूआत

20

 

 

विभिन्न वर्गों के प्रतिनिधियों के साथ हर सप्ताह एक घंटे बैठेगें उपायुक्त

 

जमशेदपुर।

पूर्वी सिंहभूम जमशेदपुर में उपायुक्त  अमित कुमार ने प्रशासनिक व्यवस्था में जन सहभागिता बढ़ाने के उद्देश्य से एक अभिनव शुरूआत की है। ’’कॉफी विद कलेक्टर’’ नाम के इस साप्ताहिक कार्यक्रम में उपायुक्त हर सप्ताह विभिन्न वर्गों के प्रतिनिधियों के साथ अपने कार्यालय कक्ष में आमने सामने एक घंटे वार्ता करेंगे। उसी क्रम में आज पूर्वी सिंहभूम जिले के सभी प्रखण्डों के पंचायत समिति प्रमुखों के साथ उपायुक्त का काॅफी कार्यक्रम रखा गया। उपायुक्त ने आगत सभी पंचायत प्रतिनिधियांे से विभिन्न मुद्दों पर विचार विमर्श करते हुए कहा कि वे लोग सरकारी नीतियों एवं कार्यक्रमों  को जमीन स्तर पर क्रियान्वित कराने में प्रशासन के साथ कंधा से कंधा मिलाकर सहयोग करें। कुछ प्रखण्डों के प्रमुखों ने पेंशन, राशन कार्ड, बैंक खाता, मनरेगा आदि से जुड़ी समस्याओं को उपायुक्त के समक्ष रखा। साथ ही सभी ने  अमित कुमार की इस पहल का स्वागत किया। उपायुक्त श्री कुमार ने सभी पंचायत प्रमुखों से आग्रह किया कि वे अपने अपने क्षेत्रों में क्षेत्र भ्रमण कर सुनिश्चित कराएं कि कोई बेसहारा, विकलांग, विधवा या आदिम जन जाति वर्ग का व्यक्ति सरकार की किसी कल्याणकारी योजना से वंचित न रह जाए। अगर धरातल स्तर पर किसी योजना के क्रियान्वयन से सम्बंधित कोई शिकायत या सुझाव हो तो भी सीधे जिला प्रशासन को अवगत कराएं। उनकी शिकायतों व सुझावों पर गंभीरता से अमल किया जाएगा।

आज के इस ’’कॉफी विद कलेक्टर’’ कार्यक्रम में उप विकास आयुक्त  विनोद कुमार, अनुमण्डल पदाधिकारी  सूरज कुमार, जिला जन सम्पर्क पदाधिकारी संजय कुमार व पंचायत राज अधिकारी विपिन कुमार सिंह ने भी सभी आमंत्रित जन प्रतिनिधियों के साथ सरकारी योजनाओं के प्रचार-प्रसार व क्रियान्वयन मसले पर वात्र्तालाप की।

आमंत्रित प्रखण्ड प्रमुखों में श्री शास्त्री हेम्ब्रम (बहरागोड़ा), श्रीमती मेनका किस्कू (बोड़ाम प्रखण्ड), श्रीमती पूर्णिमा पावरी (पटमदा), श्रीमती बसंती मुर्मू (डुमरिया), श्रीमती हीरा मनी मुर्मू (घाटशिला), श्रीमती सुकुरमनी टुडू (पोटका), श्रीमती जोबती मुंडा (गुड़ाबांधा), श्रीमती पानमनी मुर्मू (मुसाबनी), श्री जतेन्द्र सिंह (धालभूमगढ़), श्री रविन्द्र नाथ सिंह (जमशेदपुर) सम्मिलित हुए।

Comments are closed.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More